अब मेडिक्लेम सेटलमेंट होगा फटाफट, क्लेम में देरी पर कंपनियों को ब्याज के साथ देना होगा पैसा

अब देर होने पर बिना ब्याज मेडिक्लेम को फुल एंड फाइनल सटेलमेंट नहीं माना जाएगा.

News18Hindi
Updated: January 6, 2019, 11:12 AM IST
News18Hindi
Updated: January 6, 2019, 11:12 AM IST
अब मेडिक्लेम सेटलमेंट फटाफट होगा क्योंकि महाराष्ट्र स्टेट कमीशन का कहना है कि अगर क्लेम देने में देरी हुई तो कंपनियों को उपभोक्ता को ब्याज के साथ पैसा देना ही पड़ेगा. अब देर होने पर बिना इंट्रेस्ट मेडिक्लेम को फुल एंड फाइनल सटेलमेंट नहीं माना जाएगा. दरअसल स्टेट कंज्यूमर कमिशन ने एक केस पर फैसला सुनाते हुए ऐसा करने पर इंश्योरेंस कंपनी को फटकार लगाई है.

ये भी पढ़ें: LIC ने बंद की ये पॉलिसी, अगर आपके पास है तो जानिए अब क्या करें?

इस केस में काफी मशक्कत के बाद क्लेम तो मिला. लेकिन कंपनी ने नियम के हिसाब से ब्याज नहीं दिया था. जिसके बाद केस करने पर उपभोक्ता फोरम ने पॉलिसी धारक के पक्ष में फैसला सुनाया. दरअसल क्लेम में देरी पर ब्याज का प्रावधान कानून में पहले से ही है. लेकिन आईआरडीए की गाइडलाइन होने के बाद भी पॉलिसी धारकों की जानकारी में कमी का फायदा उठाकर कंपनियां ब्याज देने में आनाकानी करती हैं. फुल एंड फाइनल सेटलमेंट के साथ ब्याज आपका हक है और बीमा कंपनियां अगर आपको ब्याज नहीं देती हैं, तो आप उनके खिलाफ कंज्यूमर कोर्ट का दरवाजा खटखटा सकते हैं.

ये भी पढ़ें: सोमवार को निपटा लें बैंक से जुड़े सभी काम, इसलिए लगातार दो दिन बंद रहेंगे बैंक

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 6, 2019, 10:30 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...