67 लाख पेंशनर्स के लिए जरूरी खबर, अब घर बैठे इन तरीकों से जमा करें अपना लाइफ सर्टिफिकेट

अपने घर के नजदीकी पोस्ट ऑफिस और बैंक में भी DLC जमा करा सकते हैं.
अपने घर के नजदीकी पोस्ट ऑफिस और बैंक में भी DLC जमा करा सकते हैं.

केंद्र सरकार ने कोरोना महामारी को देखते हुए 67 लाख पेंशनर्स के लिए लाइफ सर्टिफिकेट जमा करने के लिए कई तरह के ऑप्शन दिए हैं. अब आप अपने घर के नजदीकी पोस्ट ऑफिस और बैंक में भी DLC जमा करा सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 17, 2020, 8:18 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: अगर आप पेंशनर हैं और आपका लाइफ सर्टिफिकेट जमा नहीं हुआ है...तो आपके लिए राहत की खबर है. केंद्र सरकार ने कोरोना महामारी को देखते हुए 67 लाख पेंशनर्स के लिए लाइफ सर्टिफिकेट जमा करने के लिए कई तरह के ऑप्शन दिए हैं. अब आप अपने घर के नजदीकी पोस्ट ऑफिस और बैंक में भी DLC जमा करा सकते हैं. आइए आपको DLC जमा कराने के तरीकों के बारे में बताते हैं कि आप किस-किस तरह से इस सर्टिफिकेट को समय पर जमा कर सकते हैं-

कर्मचारी पेंशन योजना 1995 (EPS 95) के सभी पेंशनधारकों को पेंशन पाने के लिए हर साल नवंबर में अपना लाइफ सर्टिफिकेट यानी अपने जिंदा होने का प्रमाणपत्र (Life Certificate) जमा करना पड़ता है. हालांकि सरकार ने इस बार इसकी तारीख को बढ़ाकर 31 दिसंबर कर दिया है. लाइफ सर्टिफिकेट पेंशनर के जीवित होने का सबूत होता है. ऐसा नहीं करने पर पेंशन मिलना बंद हो सकता है.

बैंक और पोस्ट ऑफिस में जमा करें DLC
ईपीएफओ के 135 क्षेत्रीय कार्यालयों और 117 जिला कार्यालयों के अलावा, EPS पेंशनधारक अब उन बैंक शाखाओं और निकटतम डाकघरों में डीएलसी जमा कर सकते हैं, जहां से वे पेंशन प्राप्त करते हैं.
यह भी पढ़ें: एसबीआई दे रहा सबसे सस्ता होम लोन! प्रोसेसिंग फीस पर भी 100 फीसदी की छूट



CSC में कर सकते हैं सब्मिट
इसके अलावा सामान्य सेवा केंद्र (CSC) के 3.65 लाख से अधिक राष्ट्रव्यापी नेटवर्क पर भी डीएलसी को जमा किया जा सकता है. इसके अलावा, ईपीएस पेंशनधारक ‘उमंग’ ऐप का उपयोग करके भी DLC जमा कर सकते हैं.

घर बैठे भी हो जाएगा जमा
आपको बता दें हाल ही में, इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (IPPB) ने पेंशनधारकों के लिए घर से ही डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट (DLC) जमा करने की सुविधा शुरू की है. ईपीएस पेंशनधारक अब मामूली फीस देकर घर बैठे ही अपना लाइफ सर्टिफिकेट जमा कराने के लिए आवेदन कर सकते हैं. आपके निकटतम डाकघर से एक डाकिया पेंशनधारक के घर जाकर डीएलसी तैयार करने की प्रक्रिया पूरी करेगा.

साल में किसी भी समय जमा कराएं DLC
नए दिशा-निर्देशों के मुताबिक, ईपीएस पेंशनधारक अब अपनी सुविधा के अनुसार साल में किसी भी समय डीएलसी जमा कर सकते हैं. डीएलसी जमा करने की तारीख से एक वर्ष तक जीवन प्रमाणपत्र मान्य रहेगा, जिन पेंशनधारकों को 2020 में पेंशन पेमेंट ऑर्डर (PPO) जारी किया जा चुका है. उन्हें एक वर्ष पूरा होने तक जेपीपी अपलोड करने की जरूरत नहीं है.

वहीं, इससे पहले सभी ईपीएस पेंशनधारकों को नवंबर महीने में डीएलसी जमा करना जरूरी होता था. इस कारण डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र जमा करने के लिए पेंशनधारकों को लंबी कतारों और भीड़ जैसी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता था. ईपीएस ने पेंशनधारकों के हित में यह कदम उठाया है.

Umang App पर ऐसे बनाएं लाइफ सर्टिफिकेट-
>> गूगल प्लेस्टोर से उमंग ऐप (Umang App) डाउनलोड करें. ऐप खुलने पर इसमें जीवन प्रमाण सर्व‍िस सर्च करें. इसके बाद अपने मोबाइल से biometric device कनेक्ट करें.
>> जीवन प्रमाण सर्विस के अंदर दिए गए General Life Certificate के टैब पर क्लिक करें.
>> यहां पर पेंशन प्रमाणीकरण टैब में आपका आधार नंबर और मोबाइल नंबर दिखेगा. दोनों चीजें सही हैं तो जेनरेट ओटीपी के बटन पर क्लिक करें.
>> अपने मोबाइल पर आए ओटीपी नंबर को निर्धारित जगह पर भरें और सबमिट करें. इसके बाद अपने बायोमेट्रिक डिवाइस की मदद से अपना फिंगरप्रिंट स्कैन करें.
>> फिंगरप्रिंट मिलने के साथ ही ड‍िज‍िटल लाइफ सर्टिफिकेट तैयार हो जाएगा.
>> सर्टिफिकेट देखने के लिए व्‍यू सर्टिफिकेट पर क्लिक करें.
>> आधार नंबर की मदद से इसे देखा जा सकता है.

यह भी पढ़ें: जरूरी है रिटायरमेंट प्लानिंग, न करें इसे नजरअंदाज, जानें यह क्यों है जरूरी?

67 लाख पेंशधारकों को मिलेगा फायदा
आपको बता दें देशभर में फैले कोरोना वायरस से वरिष्ठ नागरिकों को बचाने के लिए सरकार ने यह कदम उठाएं हैं. कोविड -19 महामारी के इस कठिन समय में, पेंशन राशि समय पर जारी करने और उनके घर पर ही सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए ईपीएफओ अपने पेंशनधारकों के साथ खड़ा है. इन पहलों से लगभग 67 लाख ईपीएस पेंशनधारक को लाभ मिलेगा, जिनमें से लगभग 21 लाख विधवा/विधुर, बच्चे और अनाथ पेंशनधारक हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज