बड़ा फैसला! प्राइवेट बैंकों को मिली सरकारी कारोबार करने की छूट, जानें क्या होगा फायदा

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

वित्तमंत्री सीतारमण ने प्राइवेट बैंकों के लिए बड़ा ऐलान किया है. सरकार ने निजी बैंकों को सरकारी बैंकिंग कारोबार करने की छूट दी है यानी अब से प्राइवेट बैंक भी सरकारी बिजनेस के लिए आवेदन कर सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 24, 2021, 6:20 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: वित्तमंत्री सीतारमण ने प्राइवेट बैंकों के लिए बड़ा ऐलान किया है. सरकार ने निजी बैंकों को सरकारी बैंकिंग कारोबार करने की छूट दी है यानी अब से प्राइवेट बैंक भी सरकारी बिजनेस के लिए आवेदन कर सकते हैं. सीतारमण ने ट्वीट करके इस बारे में जानकारी दी है. आपको बता दें अब से टैक्स, पेंशन, भुगतान आदि सरकारी लेन देन में प्राइवेट बैंक भी शामिल हो सकेंगे. इससे निजी बैंकों की साख और कारोबार दोनों में बढ़ोतरी होगी.

FM सीतारमण ने किया ट्वीट

वित्तमंत्री ने अपने ट्वीट में लिखा है कि सरकारी बिजनेस प्राइवेट सेक्टर के बैंकों को मंजूर किए जाने पर से प्रतिबंध हटा लिया है. अब सभी बैंक सरकारी बिजनेस की प्राप्ति के लिए पार्टिसिपेट कर सकेंगें.


यह भी पढ़ें: Indian Railways: रेलवे ने इन सभी ट्रेनों का किया रूट डायवर्जन, सफर से पहले चेक कर लें ये लिस्ट!

पहले कुछ बैंकों को थी यह सुविधा

आपको बता दें पहले प्राइवेट सेक्टर के कुछ बैंकों की ही यह सुविधा थी, लेकिन अब से सभी बैंक इस सुविधा का फायदा ले सकते हैं. इससे प्राइवेट बैंकों का कारोबार काफी बढ़ जाएगा. इसके अलावा ग्राहकों को बेहतर सुविधाएं मिलेंगी.



DFS की ओर से जारी की गई प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि पहले कुछ प्राइवेट बैंकों को ही सरकार ने इसकी परमिशन दी थी. अब सरकारी व्यवसाय में प्राइवेट बैंकों को हिस्सा लेने की अनुमति देने के बाद उम्मीद की जा रही है कि ग्राहकों को बेहतर सुविधाएं मिलेंगी, प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी और कस्टमर सर्विसेज के मानक और बेहतर होंगे.

यह भी पढ़ें: Pm Kisan योजना के दो साल पूरे होने पर प्रधानमंत्री ने कही ये बात, किसानों को होगा बड़ा फायदा

सरकारी योजनाओं का होगा विस्तार

सरकार के इस फैसले से सामाजिक कल्याण की योजनाओं का भी विस्तार होगा. इसके अलावा इससे टैक्स इकट्ठा करने, राजस्व से जुड़े लेनदेन, पेंशन भुगतान (Pension Payments) और किसान बचत पत्र जैसी लघु बचत योजनाओं (Small Savings Schemes) में भी प्राइवेट बैंकों के जरिये निवेश किया जा सकेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज