आप घर बैठे ऐसे मंगा सकते हैं सबरीमाला का 'स्वामी प्रसादम', अब तक आ चुके हैं 9 हज़ार ऑर्डर

स्वामी प्रसादम

अब केरल के सबरीमाला मंदिर का 'स्वामी प्रसादम’ घर पर मंगाया जा सकता है. 6 नवंबर को शुरू हुई इस सर्विस के जरिए अब तक करीब 9 हज़ार भक्त स्वामी प्रसादम का ऑर्डर कर चुके हैं. इसके लिए शर्त ये है कि एक बार में एक ही पैकेट मंगाया जा सकता है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. अब “स्वामी प्रसादम” खाने के लिए सबरीमाला (sabarimala) मंदिर, केरल (Kerala) तक जाने की जरूरत नहीं होगी. अगर आप चाहेंगे तो घर बैठे ही आपको स्वामी प्रसादम मिल जाएगा. जरूरत है तो बस इंडियन पोस्टल सर्विस ( Indian postal service) की बेवसाइड पर जाकर ऑर्डर करने की. लेकिन शर्त यह है कि एक बार में एक ही पैकेट मंगा सकते हैं. वहीं अभी तक करीब 9 हज़ार भक्त स्वामी प्रसादम का ऑर्डर कर चुके हैं. गौरतलब रहे कि इससे पहले डाक विभाग देश के और दूसरे हिस्सों से भी प्रसाद की डोर टू डोर सर्विस शुरु कर चुका है.

    प्रसादम के एक पैकेट में होंगी यह 6 चीजें
    केरल पोस्टल सर्किल ने स्वामी प्रसादम को घर-घर पहुंचाने की सेवा शुरु की है. प्रसादम के एक पैकेट के लिए भक्तों को 450 रुपये देने होंगे. वहीं प्रसादम के एक पैकेट में 6 चीजें अरावना, आदियाशिष्ठम ने (घी), विभूति, कुमकुम, हल्दी और अर्चनाप्रसादम दिए जा रहे हैं. जैसे ही प्रसादम को स्पीड पोस्ट सेवा के माध्यम से बुक किया जाता है, तभी स्पीड पोस्ट नंबर के साथ एक संदेश तैयार होगा और एसएमएस के ज़रिये से भक्त को सूचित किया जाएगा. भक्त इंडिया पोस्ट की वेबसाइट पर लॉग इन करके प्रसादम के आगमन की स्थिति को ट्रैक कर सकते हैं.

    CAA-NRC: आज ही के दिन पहली बार जामिया यूनिवर्सिटी से ऐसे शुरू हुआ था विरोध, सबसे पहले सामने आई थी यह तस्वीर 

    6 नवंबर से शुरु हुई थी प्रसादम भेजने की सुविधा
    पोस्टल सर्विस विभाग के अनुसार प्रसादम की सेवा 6 नवंबर 2020 से पूरे भारत में शुरू की गई थी. इस विशेष सेवा के लिए सकारात्मक प्रतिक्रिया मिल रही है. पूरे भारत में अब तक लगभग 9000 ऑर्डर बुक किए जा चुके हैं और यह संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है. गौरतलब रहे सबरीमाला मंदिर को इस वर्ष के "मंडलम सीजन तीर्थयात्रा" के लिए 16 नवंबर 2020 से भक्तों के लिए खोला गया है. मौजूदा कोविड-19 महामारी की स्थिति के कारण तीर्थयात्रियों को इस धर्मस्थल पर आने के लिए सख्त प्रोटोकॉल का पालन करना पड़ रहा है. इस सीजन में प्रतिदिन केवल सीमित संख्या में भक्तों को दर्शन का मौका दिया जा रहा है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.