75 साल तक भर सकते हैं होम लोन की EMI, ये कंपनी दे रही है खास ऑफर

LIC हाउसिंग फाइनेंस इंडिया मॉर्गेज गारंटी (IMGC) के साथ मिलकर एक खास होम लोन दे रही है, जिसमें 75 साल तक लोन चुकाया जा सकता है.

News18Hindi
Updated: May 15, 2019, 6:57 PM IST
75 साल तक भर सकते हैं होम लोन की EMI, ये कंपनी दे रही है खास ऑफर
LIC हाउसिंग फाइनेंस इंडिया मॉर्गेज गारंटी (IMGC) के साथ मिलकर एक खास होम लोन दे रही है, जिसमें 75 साल तक लोन चुकाया जा सकता है.
News18Hindi
Updated: May 15, 2019, 6:57 PM IST
भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) की सहयोगी कंपनी LIC हाउसिंग फाइनेंस (LIC Housing Finance) ने इंडिया मॉर्गेज गारंटी (IMGC) के साथ मिलकर एक खास होम लोन दे रही है, जिसमें 75 साल तक लोन चुकाया जा सकता है. इस स्कीम का सबसे बड़ा फायदा होगा कि लोगों के सिर से कर्ज का बोझ हल्का होगा. साथ ही हर महीने जाने वाली EMI की रकम भी कम होगी. इस स्कीम के तहत ऐसे लोगों को फायदा मिलेगा जिन्हें नियमित सैलरी नहीं मिलती है. एलआईसी हाउसिंग फाइनेंस गैर-वेतनभोगियों को भी होम लोन देगी. कंपनी उन लोगों को भी होम लोन देगी जिनकी कोई क्रेडिट हिस्ट्री नहीं है. (ये भी पढ़ें: रेल यात्री ध्यान दें! ट्रेन के स्टेशन पर पहुंचने से पहले रेलवे करेगा SMS, आएगा फोन)

बिना क्रेडिट हिस्ट्री वालों को भी मिलेगा होम लोन


इस नई पार्टनरशिप के तहत IMGC ग्राहकों को कुछ गिरवी रखने के बदले में कर्ज देगा. ये ऐसे लोगों को भी लोन देगा जिनकी क्रेडिट हिस्ट्री अच्छी नहीं है या फिर उनकी वर्क प्रोफाइल ज्यादा खास नहीं है. साथ ही ये उनका रिपेमेंट पीरियड में बढ़ोतरी और एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया में भी सुधार करेगा.



क्या है LICHFL और IMGC
LIC Housing Finance Ltd भारत की सबसे बड़ी हाउसिंग फाइनेंस कंपनियों में से एक है, जिसके पूरे देश में ऑफिस हैं और दुबई और कुवैत में रेप्रेसेंटेटिव ऑफिस है. इंडिया मॉर्गेज गारंटी कॉरपोरेशन (IMGC), नेशनल हाउसिंग बैंक, जेनवर्थ इंक, इंटरनेशनल फाइनेंस कॉर्पोरेशन और एशियन डेवलपमेंट बैंक के बीच एक ज्वॉइंट वेंचर है. IMGC भारत में कर्ज देने वाली संस्थाओं को मॉर्गेज डिफॉल्ट गारंटी मुहैया कराता है.

ये भी पढ़ें: एक करोड़ लोगों को नौकरी देने के लिए नई स्कीम तैयार!बकाए लोन की 20 फीसदी रकम की गारंटी देगा IMGC
थोड़ा सा प्रीमियम देने पर आईएमजीसी बकाए लोन की 20 फीसदी रकम की गारंटी देगा. इसके जरिए 6 ईएमआई कवर होंगी. एक बार का प्रीमियम लोन की रकम का 0.9 फीसदी से 1.5 फीसदी तक हो सकता है. इस प्रीमियम का खर्च कर्ज लेने वाले को ही उठाना होगा. इसको उसकी ईएमआई में जोड़ दिया जाएगा. इसके जरिए कंपनी को भी अधिक ग्राहकों तक पहुंचने का मौका मिलेगा. कंपनी इसके जरिए छोटे कारोबारी और खुद का काम करने वालों लोगों का टारगेट करेगी.

ये भी पढ़ें- सरकार की नई योजना, किडनी मरीजों का घर पर होगा मुफ्त इलाज
एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

News18 चुनाव टूलबार

चुनाव टूलबार