अब सड़क पर चलते-फिरते वाहनों से भरवा सकेंगे CNG! पंप तक जाने की नहीं होगी जरूरत

अब सीण्‍नजी भरवाने के लिए पंप पर लंबी लाइनों में घंटों खड़े रहने के झंझट से निजात मिलेगी.

अब सीण्‍नजी भरवाने के लिए पंप पर लंबी लाइनों में घंटों खड़े रहने के झंझट से निजात मिलेगी.

केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan) ने 8 जून 2021 को 201 सीएनजी स्टेशन (CNG Stations) भी राष्ट्र को समर्पित किए. साथ ही उत्तर प्रदेश के झांसी में पाइप के जरिये प्राकृतिक गैस की आपूर्ति (Natural Gas Supply) सुविधा की भी शुरुआत की. शुरू किए गए नए 201 सीएनजी स्टेशनों में 54 इंद्रप्रस्थ गैस (IGL) ने लगाए हैं.

  • Share this:

नई दिल्ली. दिल्‍ली-एनसीआर में सीएनजी पंपों (CNG Pumps) पर रोज ईंधन भरवाने के लिए लंबी-लंबी लाइनें लगना आम बात है. इससे लोगों का काफी वक्‍त खराब होता है. अब आम लोगों को इन लंबी लाइनों में घंटों लगने के झंझट से निजात दिलाने के लिए नई व्‍यवस्‍था शुरू की जा रही है. इसके तहत लोगों को सड़क पर चलते-फिरते वाहनों के जरिये सीएनजी उपलब्‍ध कराई जाएगी. इससे पहले ये व्‍यवस्‍था डीजल वाहनों के लिए शुरू की जा चुकी है. पेट्रोलियम व प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan) ने सीएनजी की चलती-फिरती ईंधन आपूर्ति सुविधा उपलब्‍ध कराने वाली यूनिट की शुरुआत कर दी है. ये पहली यूनिट इंद्रप्रस्थ गैस लिमिटेड (IGL) ने दक्षिणी दिल्ली में शुरू की है.

चलते-फिरते वाहन में रखी जा सकती है 1500 किलो सीएनजी

आईजीएल दिल्ली के साथ ही राष्‍ट्रीय राजधानी क्षेत्र में भी सीएनजी की खुदरा बिक्री करती है. ऐसी ही एक यूनिट महानगर गैस लिमिटेड ने महाराष्ट्र के रायगढ़ में शुरू की है. इस तरह की सुविधा देने वाले वाहन में 1,500 किलो तक सीएनजी रखी जा सकती है. इसके जरिये हर दिन करीब 200 वाहनों को ईंधन उपलब्ध कराया जा सकता है. केंद्रीय मंत्री प्रधान ने 8 जून 2021 को 201 सीएनजी स्टेशन भी राष्ट्र को समर्पित किए. साथ ही उत्तर प्रदेश के झांसी में पाइप के जरिये प्राकृतिक गैस की आपूर्ति सुविधा की भी शुरुआत की. शुरू किए गए नए 201 सीएनजी स्टेशनों में 54 इंद्रप्रस्थ गैस ने लगाए हैं. इनमें 21 दिल्ली, 16 हरियाणा, 15 उत्तर प्रदेश और दो राजस्थान में लगाए गए हैं.

ये भी पढ़ें- अगर आपके पास है पुराना 10 रुपये का नोट तो घर बैठे होगी 25,000 रुपये तक की कमाई, जानें कैसे
'अब छोटे शहरों-कस्‍बों तक पाइप से पहुंच रही नेचुरल गैस'

प्रधान ने कहा कि अब तक सीएनजी स्टेशन और पाइप के जरिये प्राकृतिक गैस की आपूर्ति केवल महानगरों में ही होती थी. अब छोटे शहरों और कस्बों तक भी सीएनजी स्‍टेशन और पाइप के जरिये प्राकृतिक गैस पहुंचने लगी है. उन्होंने कहा कि स्वच्छ ईंधन को हर शहर और कस्बे तक पहुंचाना केंद्र सरकार की उस योजना का हिस्सा है, जिसमें 2030 तक देश की ऊर्जा खपत में प्राकृतिक गैस का हिस्सा मौजूदा 6.2 फीसदी से बढ़ाकर 15 फीसदी तक करना है. प्रधान ने कहा कि उनका मंत्रालय हाइड्रोजन, बायोगैस, एथनॉल मिश्रित पेट्रोल और एलएनजी जैसे स्वच्छ और हरित ईंधन को अपनाने पर जोर दे रहा है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज