2014 से अब तक इन दो सरकारी बैंकों में 6 गुना तक बढ़ी फंसे कर्ज की रकम, लेकिन ऐसे कर रहे कमाई

2014 से अब तक इन दो सरकारी बैंकों में 6 गुना तक बढ़ी फंसे कर्ज की रकम, लेकिन ऐसे कर रहे कमाई
2 सरकारी बैंकों के एनपीए में 6 गुना तक इजाफा

एक RTI रिप्लाई से पता चला है कि पिछले 6 साल में दो प्रमुख सरकारी बैंकों के एनपीए में 4 से 6 गुना का इजाफा हुआ है. इन बैंकों एनपीए अकाउंट की संख्या भी बढ़ी है. हालांकि, विभिन्न कस्टमर चार्जेज के जरिए इन बैंकों की कमाई हो रही है.

  • Share this:
नई दिल्ली. देश के क​ई प्रमुख बैंकों में गैर-निष्पादित संपत्तियों (NPA) में भारी इजाफा हो रहा है. बीते 6 साल में यह और भी चिंताजनक स्तर पर पहुंच चुका है. बैंक ऑफ बड़ौदा (Bank of Baroda) का एनपीए ​6 गुना बढ़कर 73,140 करोड़ रुपये हो गया है. जबकि एक अन्य सरकारी बैंक इंडियन बैंक (Indian Bank) का एनपीए 4 गुना बढ़कर 32,561.26 करोड़ रुपये हो गया है. यह बढ़ोतरी पिछले 6 साल के अंदर हुई है. सूचना के अधिकारी के तहत मिली जानकारी में यह बात सामने आई है.

मार्च 2014 में बैंक ऑफ बड़ौदा का कुल NPA 11,876 करोड़ रुपये था जोकि अब दिसंबर 2019 तक 73,140 करोड़ हो गया है. इस दौरान NPA अकाउंट की संख्या 2,08,035 से बढ़कर 6,17,306 हो गई है.

NPA खातों की संख्या में भी इजाफा
इंडियन बैंक का NPA 31 मार्च 2014 तक 8,068.05 करोड़ रुपये था जोकि 31 मार्च 2020 तक बढ़कर 32,561.26 करोड़ रुपये हो गया है. इस बैंक में 31 मार्च 2014 तक 2,48,921 NPA खाते थे, लेकिन 6 साल बाद यह बढ़कर 5,64,816 हो गया है. राजस्थान के कोटा में रहने वाले एक्टिविस्ट सुजीत स्वामी ने सूचना का अधिकारी (Right To Information) के जरिए यह जानकारी हासिल की है.
यह भी पढ़ें: लॉकडाउन- नौकरी जाने की टेंशन जाएं भूल!घर बैठे इस बिजनेस से करें लाखों में कमाई



कस्टमर सर्विस चार्जेज से हो रही बैंकों की कमाई
RTI के तहत मिली जानकारी से पता चलता है कि सरकारी बैंकों को SNS अलर्ट सर्विस फीस, मिनिमम बैलेंस चार्ज, लॉकर चार्ज, डेबिट-क्रेडिट कार्ड सर्विस चार्ज से सबसे अधिक कमाई हुई है.

इस रिप्लाई के अुनसार , बैंक ऑफ बड़ौदा को 1 अप्रैल 2018 से लेकर 29 फरवरी 2020 के बीच एसएमएस अलर्ट से 107.7 करोड़ रुपये की कमाई हुई है. जबकि, इंडियन बैंक को एसएमएस सर्विस के जरिए इस अवधि में 21 करोड़ रुपये की कमाई हुई है.

यह भी पढ़ें: किसानों के लिए सरकार बना रही नई स्कीम! अब ​PM-किसान योजना में मिलेगा ये फायदा

सरकारी बैंकों का NPA 7.27 लाख करोड़ रुपये के पार
उल्लेखनीय है कि इसी साल 3 फरवरी को केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर (Anurag Singh Thakur) ने लोकसभा में जानकारी दी थी की पब्लिक सेक्टर बैंकों (PSB's) का कुल NPA 30 सिंतबर 2019 तक 7.27 लाख करोड़ रुपये है. इसी दौरान उन्होंने बताया था कि पिछले वित्त वर्ष की पहली तिमाही में कॉमर्शियल बैंक और चुनिंदा वित्तीय संस्थानों में 1,13,374 करोड़ रुपये के फ्रॉड के मामले सामने आए थे.

यह भी पढ़ें:  ...तो क्या अब लॉकडाउन में शराब की होगी ऑनलाइन डिलीवरी?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज