लाइव टीवी

NPCI की अपील- डिजिटल पेमेंट का करें इस्तेमाल, सोशल कॉन्टैक्ट से बचें

News18Hindi
Updated: March 26, 2020, 4:50 PM IST
NPCI की अपील- डिजिटल पेमेंट का करें इस्तेमाल, सोशल कॉन्टैक्ट से बचें
डिजिटल पेमेंट का करें इस्तेमाल, सोशल कॉन्टैक्ट से बचें

NPCI ने बयान में कहा है कि वह बैंकों और इकोसिस्टम पार्टनर्स के साथ मौजूदा लॉकडाउन की स्थिति में अपने इंफ्रास्ट्रक्चर के साथ हर नागरिक की मदद करने के लिए प्रतिबद्ध है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 26, 2020, 4:50 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने भारतीय नागरिकों से आग्रह किया है कि वे सोशल कॉन्टैक्ट कम करने के लिए डिजिटल पेमेंट्स का इस्तेमाल करें. ऐसा करने से कोरोना वायरस के फैलने के खतरे को कम करने में मदद करेंगे. NPCI ने बयान में कहा है कि वह बैंकों और इकोसिस्टम पार्टनर्स के साथ मौजूदा लॉकडाउन की स्थिति में अपने इंफ्रास्ट्रक्चर के साथ हर नागरिक की मदद करने के लिए प्रतिबद्ध है.

NPCI के MD और CEO दिलीप आस्बे ने कहा है कि मौजूदा लॉक डाउन की स्थिति में हम नागरिकों से घर पर ही रहने की अपील करते हैं. हम जरूरी सेवाओं के सभी सर्विस प्रोवाइडर्स और कंज्यूमर्स से सुरक्षित रहने के लिए डिजिटल पेमेंट अपनाने की भी अपील करते हैं.

आगे कहा कि हमने अपने बिजनेस कंटीन्युइटी प्लान को बेहतर किया है ताकि कोविड-19 के दौर में हमारे सभी पेमेंट सिस्टम्स में चुनौतीपूर्ण जरूरतों को पूरा किया जा सके. विशेषकर इंफ्रास्ट्रक्चर UPI प्लेटफॉर्म पर अतिरिक्त लोड और चुनौतियों को सहयोग दे सके.

ज्यादातर वेंडर हों डिजिटल, किया जा रहा सुनिश्चित



NPCI और राज्य सरकारें यह सुनिश्चित कर रही हैं कि जरूरी सेवाओं के ज्यादा से ज्यादा वेंडर्स डिजिटल प्लेटफॉर्म पर हों.

आस्बे ने कहा कि वेंडर्स व मर्चेंट्स के लिए हमने UPI या UPI QR पर ऑनबोर्डिंग सिस्टम को फास्ट ट्रैक किया है ताकि इसे पूरी तरह कॉन्टैक्टलेस और फुली ऑनलाइन बनाया जा सके.

वेंडर्स को सेल्फ आइसोलेशन दिशानिर्देशों से समझौता नहीं करना पड़ेगा. फिजिकल कॉन्टैक्ट के बिना ग्राहक यूपीआई से जरूरी सेवाओं के लिए भुगतान कर सकते हैं और डिजिटल मनी ट्रांसफर कर सकते हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 26, 2020, 4:50 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

भारत

  • एक्टिव केस

    5,218

     
  • कुल केस

    5,865

     
  • ठीक हुए

    477

     
  • मृत्यु

    169

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 09 (05:00 PM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,151,000

     
  • कुल केस

    1,603,115

    +42
  • ठीक हुए

    356,422

     
  • मृत्यु

    95,693

    +1
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर