अब पैन कार्ड नहीं बना पाएगी ये कंपनी, NSDL ई-गवर्नेंस ने खत्म की साझेदारी

अब पैन कार्ड नहीं बना पाएगी ये कंपनी, NSDL ई-गवर्नेंस ने खत्म की साझेदारी
NSDL ने PAN कार्ड बनाने के लिए अलंकित के साथ साझेदारी खत्म की

अलंकित अब से एनएसडीएल (NSDL) की सेवाएं नहीं दे पाएगी. अलंकित, NSDL की सेवाओं के सुविधा केंद्र के तौर पर काम करने वाली कंपनी है. इसके तहत वह पैन कार्ड बनाने, TDS)और TCS के ई-विवरण (e-statement) इत्यादि देने का काम करती है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. एनएसडीएल ई-गवर्नेंस इंफ्रास्ट्रक्चर (NSDL e-Governance Infrastructure Ltd- NSDL e-Gov) ने अलंकित लिमिटेड (Alankit Ltd) के साथ अपनी साझेदारी खत्म कर दी है. अलंकित अब से एनएसडीएल (NSDL) की सेवाएं नहीं दे पाएगी. अलंकित, NSDL की सेवाओं के सुविधा केंद्र के तौर पर काम करने वाली कंपनी है. इसके तहत वह पैन कार्ड (PAN Card) बनाने, स्रोत पर कर कटौती (TDS) और कर संग्रह (TCS) के ई-विवरण (e-statement) इत्यादि देने का काम करती है.

NSDL ने एक बयान में कहा कि अलंकित के साथ साझेदारी PAN आवेदन शुल्क को उसे नहीं भेजने के चलते समाप्त कर रही है. हालांकि, अलंकित लिमिटेड के प्रबंध निदेशक अंकित अग्रवाल ने कहा कि अलंकित ने एनएसडीएल के खिलाफ मध्यस्थता मामला शुरू किया था. इस संबंध में उसने बंबई उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था. अब यह मामला मध्यस्थता अदालत में है और अलंकित को एनएसडीएल के पास लंबे समय से पड़े बकाया का भुगतान चाहिए.

ये भी पढ़ें- कोरोना काल में सस्ता सोना खरीदने का मौका, कल से खुलेगी मोदी सरकार की ये स्कीम



घर बैठे 10 मिनट में बन जाएगा PAN कार्ड



इनकम टैक्स डिपार्टमेंट (Income Tax Department) से पैन कार्ड की प्रक्रिया को बेहद आसान कर दिया है. अब आप इनकम टैक्स विभाग की वेबसाइट पर जा कर मिनटों में PAN Card बनवा सकते हैं. जिस किसी के पास आधार कार्ड (Aadhaar Card) है उन्हें आसानी से e-PAN मिल सकता है. e-PAN का मतलब ऑनलाइन द्वारा जनरेटेड पैन कार्ड है. खास ये बात है कि ​अब महज 10 मिनट में कोई भी अपना पैन कार्ड बनवा सकता है.

पैन कार्ड नहीं होने पर आपके कई काम रुक सकते हैं और इस वजह से आप पर हजारों का जुर्माना भी लग सकता है. e-PAN हर मायने में लेमिनेटेड पैन कार्ड की तरह ही है. इसका इस्तेमाल भी आप इनकम टैक्स रिटर्न ​फाइलिंग, बैंक अकाउंट खोलने, डिमैट अकाउंट खोलने या अन्य किसी भी जरूरत के लिए कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें- 30 जून से पहले जरूर निपटा लें अपने पैसे से जुड़े ये 7 अहम काम, नहीं तो उठाना पड़ेगा नुकसान!

आइये आपको बताते हैं E-Pan बनवाने का प्रोसेस:

1. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट द्वारा पैन कार्ड प्राप्त करने के लिए आपको ई-फाइलिंग पोर्टल पर जाकर 'Instant PAN through Aadhaar' पर क्लिक करना होगा और फिर 'Get New PAN' को चुनना होगा. आपसे आधार नंबर पूछा जाएगा और रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक OTP भेजा जायेगा. OTP वैलिडेशन के बाद आपको e-PAN जारी कर दिया जायेगा.

2. इसमें आवेदनकर्ता को pdf फॉर्मेट में पैन कार्ड की एक कॉपी मिलती है, जिसपर QR Code होता है. इस क्यूआर कोड में आवेदक का डेमोग्राफिक डिटेल व फोटो होता है. आवेदन करते समय में रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर 15 डिजिट का एक नंबर भेजा जाता है. इसी नंबर की मदद से e-PAN डाउनलोड किया जा सकता है. इसकी एक कॉपी आवेदन की ई-मेल आईडी पर भी भेजी जाती है. लेकिन, आधार से ई-मेल आईडी रजिस्टर्ड होना अनिवार्य है. हाल ही में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने e-PAN से जुड़े नियमों में बदलाव कर इसे सरल बनाया है.

ये भी पढ़ें- भूल जाएं FD, यहां पैसा लगाने वालों को एक महीने में मिला 10% मुनाफा

3. NSDL और UTITSL के जरिये भी पैन कार्ड जारी किया जाता है. लेकिन, इन दोनों ईकाईयों से पैन कार्ड बनवाने के लिए आपको एक तय चार्ज देना होता है. इसके उलट इनकम टैक्स डिपार्टमेंट (Income Tax Department) की वेबसाइट से बिल्कुल फ्री में पैन कार्ड मिलता है.

4. इंस्टैंट पैन फैसिलिटी (Instant PAN Facility) के तहत आपको कोई विस्तृत फॉर्म नहीं भरना होता है. जरूरी जानकारी आपके आधार से ही जुटा ली जाती है. इसके साथ ही, पैन कार्ड और आधार कार्ड स्वत: ही लिंक हो जाते हैं. लिकिंग के लिए आपको अगल से कुछ नहीं करना होता है.

5. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने बताया कि इंस्टैंट पैन के लिए करीब 10 मिनट ही लगते हैं. अब तक कुल 6.7 लाख लोगों का इंस्टैंट पैन जेनरेट किया जा चुका है.

ये भी पढ़ें- कोरोना वायरस संकट के बीच मालामाल हुए ये लोग, 43 लाख करोड़ रुपये बढ़ी संपत्ति
First published: June 7, 2020, 10:32 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading