लाइव टीवी

शेयर बाजार में पैसा लगाने वालों के लिए जरूरी खबर! NSE ने इस ब्रोकर का लाइसेंस किया सस्पेंड

News18Hindi
Updated: December 2, 2019, 12:28 PM IST
शेयर बाजार में पैसा लगाने वालों के लिए जरूरी खबर! NSE ने इस ब्रोकर का लाइसेंस किया सस्पेंड
NSE ने कार्वी स्टॉक ब्रोकिंग का लाइसेंस सस्पेंड किया

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) ने ब्रोकरेज फर्म कार्वी स्टॉक ब्रोकिंग (Karvy Stock Broking) का लाइसेंस सस्पेंड कर दिया है. कार्वी के नियामक के नियमों का उल्लंघन करने पर एक्सचेंज ने यह फैसला लिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 2, 2019, 12:28 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अगर आप शेयर बाजार (Stock Market) में निवेश करते हैं तो ये खबर आपके लिए महत्वपूर्ण है. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) ने ब्रोकरेज फर्म कार्वी स्टॉक ब्रोकिंग (Karvy Stock Broking) का लाइसेंस सस्पेंड कर दिया है. नियामक के नियमों का उल्लंघन किए जाने पर एक्सचेंज ने कार्वी के खिलाफ यह फैसला लिया है.

NSE India ने नॉन कम्पलाइंस के चलते Karvy Stock Broking का लाइसेंस सस्पेंड किया है. NSE India ने Karvy Stock के कमोडिटी डेरिवेटिव, कैपिटल मार्केट, म्यूचुअल फंड और F&O के भी लाइसेंस रद्द कर दिए हैं. इस निलंबन के बाद यह ब्रोकरेज फर्म पूंजी बाजार, डेरिवेटिव बाजार करेंसी डेरिवेटिव, डेट, कमोडिटी डेरिवेटिव और MFSS सेगमेंट में कारोबार नहीं कर पाएगी. इस ब्रोकरेज फर्म के ग्राहक अन्य ब्रोकर फर्मों के पास जा सकेंगे.  ये भी पढ़ें: पैसा कमाने का एक और मौका, खुला गया उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक का IPO



नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE - National Stock Exchange) ने अपनी एक जांच में पाया था कि कथित रूप से कार्वी ने अपने ग्राहक का शेयर किसी संबंधित ईकाई को बेच दिया था. ​बाजार नियामक ने डिपॉजिटरीज को निर्देश दिया है कि वो कार्वी स्टॉक ब्रोकिंग के किसी निर्देश पर ध्यान न दें.
Loading...

2000 करोड़ रुपये के घोटाले का आरोप
इस ब्रोकिंग फर्म पर 2000 करोड़ रुपए के घोटाले के आरोप सामने आए हैं. ये देश में अब तक का सबसे बड़ा इक्विटी ब्रोकर डिफॉल्ट है. सेबी ने कार्वी पर नए क्लाइंट्स जोड़ने से रोक लगा दी है। साथ ही, मौजूदा क्लाइंट्स के लिए ट्रेड्स करने पर पर भी पाबंदी लगाई है. कार्वी पर क्लाइंट्स के शेयरों का दुरुपयोग करने के आरोप हैं.

ये भी पढ़ें: UIDAI ने शुरू की नई सुविधा, अब बिना Documents के बन जाएगा Aadhaar कार्ड, ये है पूरा प्रोसेस

सेबी के मुताबिक कार्वी ने क्लाइंट्स के अकाउंट में रखे शेयर बेचकर पैसे अपनी ग्रुप कंपनी Karvy Realty में ट्रांसफर किए हैं. Karvy Realty को अप्रैल 2016 से दिसंबर 2019 के बीच 1,096 करोड़ रुपये ट्रांसफर किए गए हैं. KSBL पर off-market ट्रांसफर में clients के गिरवी शेयर बेचने के भी आरोप सामने आए हैं. मार्केट रेगुलेटर ने NSDL, CDSL, BSE, NSE और MCX सभी को भी निर्देश दिए हैं कि वे कार्वी के कोई भी निर्देश न मानें और उसके खिलाफ उचित कार्रवाई करें.

क्या करें ग्राहक?
एक्सपर्ट्स का कहना है कि अगर किसी का ब्रोकिंग खाता कार्वी में है तो उसे तुरंत बदल लेना चाहिए. यानी शेयर दूसरे ब्रोकिंग अकाउंट में शिफ्ट कर लेना ही सही होगी.

ये भी पढ़ें: मोदी सरकार दे रही है ये खास बिज़नेस शुरू करने मौका, केवल 50 हजार रुपए लगाकर होगी मोटी कमाई

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 2, 2019, 11:57 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...