अमेजन, पेटीएम से लेकर टाटा RBI के इस लाइसेंस को पाने की होड़ में, जानिए क्या है वजह

कंपनियां आरबीआई से एनयूई Licence हासिल करना चाहती हैं.

कंपनियां आरबीआई से एनयूई Licence हासिल करना चाहती हैं.

रिजर्व बैंक देश में एनपीसीआई के विकल्प के रूप में एक अलग डिजिटल पेमेंट प्लेटफॉम तैयार करना चाहता है. इससे आने वाले समय में डिजिटल पेंमेंट की बढ़ती संख्या के हिसाब से सुविधाएं बढ़ाई जा सकें. प्लेटफार्म के लिए निजी कंपनियों में लाइसेंस पाने की होड़ है.

  • Share this:
नई दिल्ली. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) देश में बढ़ते डिजिटल पेमेंट को देखते हुए नेशनल पेमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) के विकल्प के रूप में एक अलग डिजिटल पेमेंट प्लेटफॉम तैयार करना चाहता है. इस तरह के प्लेटफार्म निजी कंपनियां तैयार करेंगी. लिहाजा, प्लेटफार्म तैयार करने की होड में  टाटा संस (Tata Sons), पेटीएम (Paytm) और अमेजन (Amazon) आदि के कंसोर्टियम शामिल हैं.
यह सभी कंपनियां प्लेटफार्म के लिए आरबीआई से न्यू अंब्रेला एंटिटी (NUE) Licence हासिल करना चाहती हैं. इस लाइसेंस के जरिए वे देश में एनपीसीआई (NPCI) के विकल्प के रूप में एक अलग डिजिटल पेमेंट प्लेटफॉम तैयार कर सकेंगी. RBI ने एनयूई (NUE) के लिए आवेदन भरने की अंतिम तारीख को बढ़ाकर 31 मार्च 2021 तक कर दिया है. इससे पहले आवेदन की अंतिम तारीख 26 फरवरी 2021 थी.

ये भी पढ़ें : आप भी इस कंपनी के हैं यूजर्स तो सतर्क रहें, चीन कर सकता है साइबर अटैक

इसलिए है जरूरत
अभी जिस तरह एनपीसीआई देश में UPI, IMPS, NEFT जैसे अन्य पेमेंट सिस्टम को कंट्रोल कर रहा है, वैसे ही न्यू अंब्रेला एंटिटी भी अपना नया पेमेंट सिस्टम तैयार करेगा. सरकार और RBI का मानना है कि आने वाले समय में डिजिटल पेंमेंट की बढ़ती संख्या को अकेले NPCI कंट्रोल नहीं कर पाएगा। NUE का मुकाबला NPCI से होगा. वहीं, न्यू अंब्रेला एंटिटी के जरिए RBI चाहता है कि कैश लेनदेने खत्म हो और डिजिटल पेमेंट सिस्टम में नए प्लेयर्स की एंट्री हो. इससे डिजिटल पेमेंट पूरी तरह से पारदर्शी होगी और इसके जरिए सभी तरह के पेमेंट होने से टैक्स चोरी पर भी नजर रखी जा सकेगी.



ये भी पढ़ें : इस स्टार्टअप्स से बाहर निकल रहे हैं रतन टाटा, यह मिलेगा फायदा

कंपनियां कंसोर्टियम के जरिए उतरी मैदान में

  • टाटा संस (Tata Sons) ने एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank), कोटक महिंद्रा बैंक, मास्टकार्ड, भारती और पे यू (PayU) के साथ मिलकर आवेदन किया है.

  • अमेजन (Amazon) ने आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank), एक्सिस बैंक, पाइन लैब्स, बिलडेस्क और वीजा कार्ड (Visa Card) के साथ कंसोर्टियम बनाकर इसके लिए आवेदन किया है.

  • पेटीएम (Paytm), इंडसइंड बैंक (IndusInd Bank), ओला फाइनेंशियल (Ola Financials) ने कुछ अन्य कंपनियों के साथ मिलकर आवेदन किया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज