अशोक लीलैंड के मानद चेयरमैन आरजे साहनी का निधन, लंबे समय से थे बीमार

अशोक लीलैंड के मानद चेयरमैन आरजे साहनी का निधन, लंबे समय से थे बीमार
अशोक लीलैंड के मानद चेयरमैन आरजे साहनी का लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया.

आरजे साहनी (RJ Shahaney) हिंदुजा समूह की कंपनी अशोक लीलैंड (Ashok Leyland) के पहले भारतीय प्रबंध निदेशक (MD) थे. वह 1978-98 तक इस पर रहने के बाद 2010 तक कंपनी के चेयरमैन (Chairman) भी रहे. वह व्‍हीकल मैन्‍यूफैक्‍चरिंग कंपनियों के संगठन सियाम (SIAM) के अध्‍यक्ष भी रहे थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 8, 2020, 11:33 PM IST
  • Share this:
चेन्‍नई. हिंदुजा समूह (Hinduja Group) की प्रमुख कंपनी अशोक लीलैंड (Ashok Leyland) के मानद चेयरमैन आरजे साहनी (RJ Shahaney) का मंगलवार को 89 वर्ष की आयु में निधन (Demise) हो गया. साहनी काफी समय से बीमार चल रहे थे. वह कंपनी के पहले भारतीय प्रबंध निदेशक (Indian MD) रहे थे. इस पद पर वह 1978 से 1998 तक रहे. इसके बाद वह 2010 तक कंपनी के चेयरमैन (Chairman) भी रहे. अशोक लीलैंड ने एक बयान में उन्हें भविष्यद्रष्टा बताया था. उन्होंने कंपनी को मैन्‍युफैक्‍चरिंग, इंजीनियरिंग और टेक्‍नोलॉजी की मजबूत बुनियाद दी.

साहनी की योजना से कई गुना बढ़ा अशोक लीलैंड का कारोबार
भारी और कमर्शियल व्‍हीकल (Heavy & Commercial Vehicles) बनाने वाली अशोक लीलैंड ने कहा कि एक समय ऐसा था, जब उसे विदेशी कंपनी के तौर पर देखा जाता था. इससे कंपनी को भारत में अपना कारोबार बढ़ाने में दिक्कतें पेश आती थीं. साहनी ने ऐसे समय में ही कंपनी के विस्तार की योजना बनाने का साहस दिखाया. उनकी योजना इतनी सफल रही कि कंपनी का कारोबार कई गुना बढ़ गया. साहनी वह व्‍हीकल मैन्‍यूफैक्‍चरिंग कंपनियों के संगठन सोसायटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चर्स (SIAM) के अध्यक्ष भी रहे.

ये भी पढ़ें- कैबिनेट ने डिफेंस सेक्टर में FDI में बदलाव को दी मंजूरी, IBC संशोधन बिल को संसद में किया जाएगा पेश
धीरज हिंदुजा ने कंपनी की सफलता का श्रेय साहनी को दिया


साहनी ने कंपनी के होसर, अलवर और भंडारा संयंत्र को स्थापित किया. कंपनी के चेयरमैन धीरज हिंदुजा (Dheeraj Hinduja) ने साहनी के निधन पर कहा कि हमने एक शानदार लीडर, साथी और दोस्‍त को खो दिया है. साहनी अशोक लीलैंड और हिंदुजा समूह के साथ तीन दशक से भी ज्‍यादा समय तक जुड़े रहे. धीरज हिंदुजा ने कहा कि उन्‍हीं की वजह से आज कंपनी इस मुकाम पर पहुंच पाई है. उनके नेतृत्‍व में कंपनी ने हर तरह से विस्‍तार किया. कंपनी के पूर्व नॉन-एग्‍जीक्‍यूटिव वाइस-चेयरमैन आर. सेशय्या ने कहा कि उनसे हर दिन कुछ नया सीखने को मिलता था. उन्‍होंने अशोक लीलैंड की सफलता की कहानी अपने हाथों से लिखी थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading