होम /न्यूज /व्यवसाय /ओएनजीसी का नॉर्वे की कंपनी के साथ तेल एवं गैस खोज, स्वच्छ ऊर्जा के लिए करार, क्या है डील की डिटेल

ओएनजीसी का नॉर्वे की कंपनी के साथ तेल एवं गैस खोज, स्वच्छ ऊर्जा के लिए करार, क्या है डील की डिटेल

नॉर्वे की प्रमुख कंपनी इक्विनॉर की मौजूदगी करीब 30 देशों में है.

नॉर्वे की प्रमुख कंपनी इक्विनॉर की मौजूदगी करीब 30 देशों में है.

ओएनजीसी ने तेल एवं गैस खोज के साथ स्वच्छ ऊर्जा परियोजनाओं के लिए नॉर्वे की ऊर्जा क्षेत्र की दिग्गज कंपनी इक्विनॉर एएसए ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली . सार्वजनिक क्षेत्र की ऑयल एंड नैचुरल गैस कॉरपोरेशन (ओएनजीसी) ने बड़ा करार किया है. ओएनजीसी ने तेल एवं गैस खोज के साथ स्वच्छ ऊर्जा परियोजनाओं के लिए नॉर्वे की ऊर्जा क्षेत्र की दिग्गज कंपनी इक्विनॉर एएसए से करार किया है. कंपनी ने बुधवार को बयान में कहा कि इस एमओयू पर 26 अप्रैल को हस्ताक्षर किए गए.

बयान में कहा गया है कि यह डील खोज एवं उत्पादन, तेल एवं गैस के परिवहन और प्रसंस्करण एवं डिस्ट्रीब्यूशन में सहयोग एवं भागीदारी के लिए है. इसके अलावा दोनों कंपनियां स्वच्छ ऊर्जा विकल्पों पर भी मिलकर काम करेंगी.

यह भी पढ़ें- घरेलू एयरलाइन इंडस्ट्री में छाने को बेताब टाटा समूह, अब इस एयरलाइन की 100 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने की तैयारी

इक्विनॉर का 30 देशों में बिजनेस
नॉर्वे की प्रमुख कंपनी इक्विनॉर की मौजूदगी करीब 30 देशों में है. नॉर्वे के एक उच्चस्तरीय प्रतिनिधिमंडल की भारत यात्रा के दौरान इस एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए थे. इस मौके पर पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री हरदीप सिंह पुरी, नॉर्वे की विदेश मंत्री एन्निकेन ह्यूटफेल्ट और ओएनजीसी की चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक अल्का मित्तल मौजूद थीं.

दो नई परियोजनाएं शुरू 
ओएनजीसी ने कुछ दिन पहले ही तेल क्षेत्र ‘मुंबई हाई फील्ड्स’ से अतिरिक्त 75 लाख टन तेल उत्पादन और एक अरब घन मीटर (बीसीएम) गैस उत्पादन के लिए 6,000 करोड़ रुपये की लागत से दो परियोजनाएं शुरू की हैं. ओएनजीसी ने एक बयान में कहा था कि मुंबई हाई साउथ रिडेवलपमेंट फेज-4 के हिस्से के रूप में 3,740 करोड़ रुपये की लागत से अत्याधुनिक ‘8- लेग्ड वॉटर इंजेक्शन कम लिविंग क्वार्टर’ मंच बनाया गया है. साथ ही, 2,292.46 करोड़ रुपये की लागत से मुंबई हाई में ‘क्लस्टर-8 मार्जिनल फील्ड डेवलपमेंट’ परियोजना पूरी की गई.

यह भी पढ़ें- रिलायंस इंडस्ट्रीज अब इस मामले में भारत की पहली कंपनी बनी, एक्सपर्ट से समझिए आगे कैसा रहेगा प्रदर्शन ?

इस बयान के मुताबिक, ‘‘इन दोनों परियोजनाओं से 75 लाख टन तेल और एक अरब घन मीटर गैस का अतिरिक्त उत्पादन होगा.’’ पेट्रोलियम मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने शनिवार को पश्चिमी तट पर स्थित इन परियोजनाओं को देश को समर्पित किया. बयान के मुताबिक, इन दोनों परियोजनाओं के सफल क्रियान्वयन के लिए पुरी ने ओएनजीसी दल की सराहना की है.

Tags: Business news in hindi, Deals of the Day, Gas Sector, Oil, ONGC

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें