लाइव टीवी

अगले हफ्ते से सस्ती हो सकती है प्याज! इस वजह से आएगी कीमतों में बड़ी गिरावट

News18Hindi
Updated: December 18, 2019, 6:15 PM IST

CNBC आवाज़ को सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, विदेशों से खरीदी गई प्याज (Onion Price) की पहली खेप यानी 1,000 टन प्याज मुंबई पोर्ट पर पहुंच गई है. देश के बाजारों में इसकी सप्लाई अगले हफ्ते तक इसकी शुरू हो जाएगी. साथ ही, खरीफ फसल भी बाजार में आने वाली है. इसीलिए कीमतों में बड़ी गिरावट देखने को मिल सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 18, 2019, 6:15 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. प्याज की कीमतों में जारी तेजी अब थम सकती है. CNBC आवाज़ को सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, विदेशों से खरीदी गई प्याज (Onion Price) की पहली खेप यानी 1,000 टन प्याज मुंबई पोर्ट पर पहुंच गई  है. देश के बाजारों में इसकी सप्लाई अगले हफ्ते तक इसकी शुरू हो जाएगी. साथ ही, खरीफ फसल भी बाजार में आने वाली है. इसीलिए कीमतों में बड़ी गिरावट देखने को मिल सकती है. आपको बता दें कि दिल्ली समेत एनसीआर में प्याज (Onion Price Delhi) के दाम 150 रुपये प्रति किलोग्राम तक पहुंच गए हैं. आजादपुर मंडी के कारोबारियों ने बताया है कि बारिश के बाद जमीन में नमी होने के कारण किसान प्याज की फसल खेतों से नहीं निकाल रहे हैं, यही वजह है कि देशभर में प्याज की आवक प्रभावित हुई है. इसके अलावा नागरिकता संशोधन कानून को लेकर देश में जगह-जगह हो रहे विरोध प्रदर्शन से भी प्याज की आवक प्रभावित हुई है. इसलिए कीमतों में और तेजी आई है.

सरकार फिर बनाएगी बफर स्टॉक- आयातित प्याज का पहला कंसाइमेंट मुंबई पहुंच गया है. करीब 1,000 टन प्याज मुंबई पोर्ट पर पहुंचा है. सरकार ने 30,000 टन प्याज का आर्डर दिया है. नेफेड अब फिर से मार्च में प्याज का बफर स्टॉक बनाएगी.

रबी की फसल बाजार में आने के बाद बफर स्टॉक बनेगा. इस स्टॉक के लिए पहले 20,000 टन प्याज खरीदी जाएगी.

आपको बता दें कि आजादपुर मंडी में मंगलवार को प्याज की कुल आवक 566.5 टन थी, जिसमें विदेशी प्याज 279.1 टन था. एपीएमसी की कीमत सूची के अनुसार, दिल्ली में प्याज का थोक भाव मंगलवार को 70-112.50 रुपये प्रति किलो था.

ये भी पढ़ें-अब नहीं पड़ेगी बैंक ब्रांच जाने की जरूरत, SBI ATM के जरिए देता है ये 14 सर्विस

प्याज सस्ती करने के लिए सरकार ने उठाए कई बड़े कदम-  सरकार ने देश में प्याज की उपलब्धता बढ़ाने के लिए 1.2 लाख टन प्याज का आयात करने का फैसला किया है.

>> सरकार ने इसके अलावा थोक एवं खुदरा कारोबारियों के लिए प्याज के भंडारण की सीमा तय कर दी है, ताकि कोई प्याज की जमाखोरी न कर पाए और कीमतों में हो रही वृद्धि पर लगाम लगाई जा सके.>> थोक कारोबारियों के लिए प्याज भंडारण की तय सीमा 25 टन, जबकि खुदरा कारोबारियों के लिए दो टन है.

(असीम मनचंदा, संवाददाता, CNBC आवाज़)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 18, 2019, 5:18 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर