लाइव टीवी

प्याज की कीमतों को लेकर सरकार ने अब कारोबारियों पर लगाई ये बड़ी रोक! दिए ये निर्देश

News18Hindi
Updated: December 10, 2019, 8:01 AM IST
प्याज की कीमतों को लेकर सरकार ने अब कारोबारियों पर लगाई ये बड़ी रोक! दिए ये निर्देश
दिसंबर माह में केंद्र सरकार (Central Government) ने लगातार दूसरी बार रिटेलर्स द्वारा प्याज की स्टॉक लिमिट (Onion Stock Limit) घटाने का फैसला लिया है. इसके पहले होलसेलर्स (Wholesale) के लिए भी स्टॉक लिमिट को घटाया गया था.

दिसंबर माह में केंद्र सरकार (Central Government) ने लगातार दूसरी बार रिटेलर्स द्वारा प्याज की स्टॉक लिमिट (Onion Stock Limit) घटाने का फैसला लिया है. इसके पहले होलसेलर्स (Wholesale) के लिए भी स्टॉक लिमिट को घटाया गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 10, 2019, 8:01 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्र सरकार (Central Government) ने खुदरा विक्रेताओं के लिए प्याज के स्टॉक की लिमिट (Onion Stock Limit) को 5 टन से घटाकर 2 टन कर दिया है. केंद्र सरकार ने राज्यों को यह भी निर्देश दिया है कि प्याज की कीमतों को कुछ हद तक काबू में रखने के लिए जमाखोरी से निपटने के लिए जरूरी कदम उठाएं. आपको बता दें कि ​इसी माह के शुरुआत में केंद्र सरकार ने खुदरा प्याज विक्रेताओं के लिए स्टॉकहोल्डिंग लिमिट को 10 टन से घटाकर 5 टन किया था. इस दौरान होलसेल विक्रेताओं के लिए प्याज की स्टॉक करने की लिमिट को 50 टन से घटाकर 25 टन कर दिया था. बिजनेस स्टैंडर्ड ने अपनी एक रिपोर्ट में इस बारे में जानकारी दी थी.

ये भी पढ़ें: जानिए क्या हैं टैक्स बचाने के लिए सबसे बेहतर विकल्प

इन दो देशों से प्याज का आयात कर रही है सरकार
बता दें कि प्याज की कीमतों में लगातार हो रहे इजाफे से निपटने के​ लिए सरकार ने 36,090 टन प्याज के आयात को मंजूरी दी है. इसमें से 21,090 टन प्याज का कॉन्ट्रैक्ट प्रक्रिया भी पूरा कर लिया गया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इसमें से 6,090 टन प्याज मिस्त्र से और 15 हजार टन प्याज तुर्की से आयात किया जाएगा.



भारत के बैन के बाद पूरे एशिया में महंगा हुआ प्याज
बीते सितंबर माह में भी सरकार ने घरेलू सप्लाई को मेंटेन रखने के उद्देश्य से प्याज के निर्यात पर बैन लगा दिया था. हालांकि, भारत सरकार द्वारा प्याज के निर्यात पर बैन लगाने के बाद ​एशियाई क्षेत्र में भी प्याज की कीमतों में इजाफा देखने को मिल रहा है. कुछ रिपोर्ट में इस बात का भी दावा किया गया है कि सरकार प्याज के निर्यात पर यह बैन अगले साल फरवरी 2020 तक जारी बढ़ा सकती है.ये भी पढ़ें: केंद्रीय कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर, इंक्रीमेंट को लेकर सरकार ने जारी की सफाई

8 गुना तक बढ़ा प्याज का भाव
गौरतलब है कि बीते कुछ महीनों से प्याज की कीमतों में लगातार तेजी देखने को मिल रही है. इसका सबसे बड़ा कारण खरीफ फसलों के उत्पादन घटने और अत्यधिक बारिश और बाढ़ की वजह से है. खासतौर पर प्याज के प्रमुख उत्पादक राज्यों इसका बुरा असर पड़ा है. यही कारण है कि 25 रुपये प्रति किलोग्राम के भाव से बिकने वाला प्याज अब 200 रुपये प्रति किलोग्राम के स्तर को पार कर चुका है.

बीते 6 दिसंबर को मुंबई, चेन्नई और कोलकाता में प्याज की कीमतेमं 120 रुपये प्रति किलो रहा. वहीं, राजधानी दिल्ली में प्याज का भाव करीब 100 रुपये प्रति किलो के स्तर पर था.

ये भी पढ़ें: खुशखबरी! लगातार तीसरे दिन सस्ता हुआ सोना, फटाफट जानें नए रेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 9, 2019, 10:38 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर