जल्द आएगा UnfoldU का आईसीओ, जानिए कैसे कमा सकते हैं आप लाभ

UnfoldU के सीईओ और को-फाउंडर अभिषेक बजाज

UnfoldU के सीईओ और को-फाउंडर अभिषेक बजाज

UnfoldU Group जल्द अपना इनीशियल क्वाइन ऑफरिंग यानी आईसीओ (ICO) लाएगी.

  • Share this:

नई दिल्ली. भारत की जानी-मानी ऑनलाइन एजुकेशन कंपनी UnfoldU Group जल्द अपना इनीशियल क्वाइन ऑफरिंग यानी आईसीओ (Initial Coin Offering) लाएगी. यह आईपीओ (IPO) का ही है एक स्वरूप है जो शेयर बाजार की जगह क्रिप्टो बाजार में खोला जाता है.

आईसीओ में लोग शेयर की जगह कंपनी के यूटिलिटी टोकन में निवेश करते हैं. इसका सबसे बड़ा फ़ायदा यह होता है कि दुनिया का कोई भी निवेशक कहीं से भी बैठे आईसीओ में निवेश कर सकता है, जिससे टोकन का ट्रेडिंग वॉल्यूम काफी हद तक बढ़ जाता है और कंपनी को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनाने का अवसर प्राप्त होता है. यूटिलिटी टोकन के जरिए कंपनी के ग्राहक उसकी सेवाएं भी खरीद सकते हैं. यानी कि जैसे-जैसे कंपनी का कारोबारी विकास होता चला जाता है उसके यूटिलिटी टोकन की कीमत भी बढ़ती रहती है.

भारतीय मूल के अभिषेक बजाज हैं कंपनी के सीईओ

कंपनी के सीईओ और को-फाउंडर अभिषेक बजाज भारतीय मूल के कनेडियन हैं. उनके पिता और दादा दोनो ही एजुकेशन की दुनिया से जुड़े रहे हैं और उनके दादा एजुकेशन क्षेत्र में योगदान के लिए राष्ट्रपति से भी सम्मानित भी किए जा चुके हैं.
आईसीओ में पैसा लगाने वाले निवेशक आम निवेशक से ज्यादा कमा पाते हैं क्योंकि कंपनी शुरुआती निवेशकों को लुभाने के लिए भारी बोनस देती है. माना जा रहा है UnfoldU भी UNFLD टोकन पर भारी बोनस देगी पर यह बोनस सिर्फ कुछ समय के लिए और कुछ ही निवेशकों को ही मिलेगा.

बाद में निवेश करने वाले निवेशक इसका लाभ नहीं उठा पाएंगे. आईसीओ में निवेश करने वाले शुरूवती निवेशकों को UnfoldU 40-75% तक का बोनस दे सकती है. हालांकि इस पर कंपनी ने कोई भी आधिकारिक जानकारी नहीं दी है.

कैसे काम करता है बोनस?



मान लीजिए आप UnfoldU में 20,000 रुपए का निवेश करते हैं अगर आपको कंपनी 50% का बोनस देती है तो वह आपको 30,000 रुपए के टोकन देगी. कंपनी के लिस्ट होने पर आप फौरन अपने टोकन बेच सकते हैं या आप लंबे समय तक निवेशक बने रह सकते हैं. आईसीओ के बाद और निवेशकों के जुड़ने के बाद टोकन की क़ीमत बढ़ने की काफी संभावना रहती है पर ऐसा आश्वस्त तरीके से नहीं कहा जा सकता. क्रिप्टो में बाज़ार में उतार-चढ़ाव की स्थिति हमेशा बनी रहती है.

BYJU जैसी कंपनियों से है UnfoldU का मुकाबला

UnfoldU का आईसीओ ओवर सब्स्क्राइब होने की स्थिति में कंपनी लॉटरी के जरिए निवेशकों का चयन करती है. जो निवेशक चुने जाते हैं उनको टोकन और बोनस दे दिए जाते हैं और बाकी निवेशकों को उनका निवेश वापस कर दिया जाता है. UNFLD टोकन की ओवर सब्स्क्राइब की संभावना ज्यादा बनी हुई है क्योंकि UnfoldU कोई स्टार्टअप नहीं है बल्कि स्कूल ऑनलाइन एजुकेशन की जानी मानी कंपनी है जिसका मुकाबला BYJU जैसे नामों से है.

UnfoldU Group के UNFLD टोकन, WazirX, Gate.IO और LuaSwap जैसे crypto exchanges पर लिस्ट होंगे जहां निवेशक इनको ख़रीद और बेच पाएंगे. WazirX भारत का नंबर एक क्रिप्टो एक्सचेंज है. UnfoldU अपने आईसीओ के जरिए ओपेन मार्केट से 700 करोड़ तक जुटाएगी. शुरूवती टोकन की बिक्री से कंपनी 45 करोड़ तक जुटाएगी. यानी कि सिर्फ 45 करोड़ के टोकन पर ही बोनस मिलने की संभावना है जिससे आप समझ सकते हैं कि निवेशकों को टोकन और बोनस लेने के लिए खासी मशक्कत करनी पड़ेगी.

याद रखिए ICO भले ही कमाने का एक ज़बरदस्त मौका देता है पर निवेशक को समझना चाहिए कि क्रिप्टो तेजी से उतरने-चढ़ने वाला बाजार है इसलिए सिर्फ उतना ही निवेश करें जिसके खो जाने पर जिंदगी और रहन सहन पर असर ना पड़े.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज