अगर मोदी सरकार लागू कर दे ये नियम तो आपके खाते में देरी से ट्रांसफर होंगे पैसे, जानें क्या है मामला!

मोदी सरकार (Modi Government) अवैध ट्रांजैक्शन (Illegal Transactions) पर लगाम लगाने के लिए ऑनलाइन फंड ट्रांसफर (Online Transfer of Funds) में एक बड़ा बदलाव करने जा रही है.

News18Hindi
Updated: August 22, 2019, 8:32 PM IST
अगर मोदी सरकार लागू कर दे ये नियम तो आपके खाते में देरी से ट्रांसफर होंगे पैसे, जानें क्या है मामला!
फंड ट्रांसफर करने में होगी देरी, बैंकों को लेनी होगी खाताधारकों से पहले मंजूरी
News18Hindi
Updated: August 22, 2019, 8:32 PM IST
मोदी सरकार (Modi Government) अवैध ट्रांजैक्शन (Illegal Transactions) पर लगाम लगाने के लिए ऑनलाइन फंड ट्रांसफर (Online Transfer of Funds) में एक बड़ा बदलाव करने जा रही है. वित्त मंत्री (Finance Minister) निर्मला सीतारमण द्वारा दिए गए एक प्रस्ताव के अनुसार बैंकों (Banks) को फंड ट्रांसफर (Fund Transfer) करने से पहले खाताधारकों (Account Holders) से मंजूरी लेनी होगी, इसके बाद ही पैसा उसके खाते में ट्रांसफर हो पाएगा. फिलहाल कोई भी व्यक्ति किसी दूसरे व्यक्ति को रजिस्टर कर सकता है और उस व्यक्ति की मंजूरी के बिना पैसा ट्रांसफर कर सकता है.

फंड ट्रांसफर में होगी देरी
फाइनेंशियल एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, बैंकिंग इंडस्ट्री के एक्सपर्ट का कहना है कि अगर सरकार इस प्रस्ताव को मंजूरी देती है तो फंड ट्रांसफर में देरी होगी. फिलहाल, नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर (NEFT), रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट (RTGS), इमीडिएट पेमेंट सर्विस (IMPS) के जरिए फंड ट्रांसफर होता है.

ये भी पढ़ें: खुशखबरी! 1 सितंबर से मिल सकता है 59 मिनट में होम और ऑटो लोन

फिलहाल, बैंकिंग इंडस्ट्री में तीन ऑनलाइन पेमेंट्स के मोड्स हैं. NEFT, RTGS, IMPS ऑनलाइन पेमेंट्स सिस्टम हैं. हालांकि RTGS सिर्फ 2 लाख रुपये से ज्यादा फंड ट्रांसफर के लिए इस्तेमाल किया जाता है, जबकि NEFT और IMPS का इस्तेमाल ज्यादातर आम ग्राहक करते हैं. मौजूदा समय में IMPS फंड ट्रांसफर का बेहतर जरिया बना है. लेकिन रियल टाइम पेमेंट्स जैसे NEFT में फंड ट्रांसफर होने में 30 मिनट से 2 घंटे का समय लगता है.

सॉफ्टवेयर में करना होगा बदलाव
बैंकिंग इंडस्ट्री के एक्सपर्ट के मुताबिक इस प्रस्ताव के अमल में आने के बाद फंड ट्रांसफर की मंजूरी लेने से ऑनलाइन पेमेंट सेटलमेंट सिस्टम में एक और पेचीदा प्रोसेस जुड़ जाएगा. वहीं सॉफ्टवेयर में बदलाव करना होगा. हालांकि इसका सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि गलत खाते में पैसा ट्रांसफर नहीं हो पाएगा.
Loading...

ये भी पढ़ें: अगले हफ्ते से ऑनलाइन पैसों का लेनदेन करना होगा और आसान, RBI ने बदला ये रूल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 22, 2019, 8:00 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...