Home /News /business /

SBI के करोड़ों ग्राहकों के लिए खुशखबरी! आज से इतने रुपये तक कम हुई आपकी EMI

SBI के करोड़ों ग्राहकों के लिए खुशखबरी! आज से इतने रुपये तक कम हुई आपकी EMI

फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) की ब्याज दरों को घटाया

फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) की ब्याज दरों को घटाया

SBI ने चालू वित्त वर्ष में लगातार आठवीं बार मार्जिनल कॉस्ट ऑफ लेंडिंग रेट (MCLR) में कटौती की घोषणा की है. एसबीआई ने एक साल के एमसीएलआर में 10 बीपीएस की कटौती की है. जिसके बाद यह दर आठ फीसदी से कम होकर 7.90 फीसदी हो गई है. नई दरें 10 दिसंबर 2019 से लागू होंगी.

अधिक पढ़ें ...
    नई दिल्ली. देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने ग्राहकों को बड़ा तोहफा दिया है. स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ने एक साल के मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड बेस्ड लेंडिंग रेट (एमसीएलआर) में 0.10% कटौती की है. एमसीएलआर से जुड़े सभी लोन इतने सस्ते हो जाएंगे. नई दरें 10 दिसंबर से लागू होंगी. एसबीआई का एक साल का एमसीएलआर अब 8% से घटकर 7.90% रह जाएगा. एसबीआई के ज्यादातर लोन एक साल के एमसीएलआर पर आधारित हैं.

    कितनी कम होगी आपकी EMI- SBI ने MCLR पर आधारित लोन की दरें घटा दी हैं. अब हर महीने EMI 0.10% तक सस्ती हो गई है. यह दर 8 फीसदी से कम होकर 7.90 फीसदी हो गई है. सबसे बड़े बैंक ने बयान जारी कर कहा है कि ब्याज दर में कटौती के साथ वह देश में सबसे सस्ती दर पर लोन उपलब्ध कराने वाला बैंक बन गया है.

    ये भी पढ़ें: 5 करोड़ लोगों को मिली पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम की अंतिम किश्त, पैसे के लिए ऐसे करें आवेदन

    इससे पहले नवंबर महीने में भी SBI ने एमसीएलआर में बदलाव किया था. तब एसबीआई ने एक साल के एमसीएलआर में 0.05 फीसदी की कटौती की थी. जिसके बाद यह दर 8.05 फीसदी से कम होकर 8 फीसदी हो गई थी. बता दें कि रिजर्व बैंक ने इस साल रेपो रेट में अब तक 1.35 फीसदी की कटौती की है. SBI ने इसका फायदा ग्राहकों को देने के लिए ब्याज दर में कमी की है.

    MCLR के कम होने से आपको मिलेगा सीधा फायदा- आपको बता दें कि बैंकों द्वारा MCLR बढ़ाए या घटाए जाने का असर नए लोन लेने वालों के अलावा उन ग्राहकों पर पड़ता है, जिन्होंने अप्रैल 2016 के बाद लोन लिया हो. दरअसल अप्रैल 2016 से पहले रिजर्व बैंक द्वारा लोन देने के लिए तय मिनिमम रेट बेस रेट कहलाती थी. यानी बैंक इससे कम दर पर कस्टमर्स को लोन नहीं दे सकते थे. 1 अप्रैल 2016 से बैंकिंग सिस्टम में MCLR लागू हो गई और यह लोन के लिए मिनिमम दर बन गई. यानी उसके बाद MCLR के आधार पर ही लोन दिया जाने लगा. वित्त वर्ष 2019-20 में यह आठवीं बार है जब एसबीआई ने अपनी MCLR की दरों में कटौती की है.

    ये भी पढ़ें: Railway बंद कर रहा है ये खास सर्विस, अब स्टेशनों पर नहीं मिलेगा 2 रुपये में पानी

    Tags: Auto and personal loan, Business news in hindi, Home loan EMI, Largest lender SBI, Sbi, SBI Bank, SBI loan

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर