SBI ने फिर किया अपने करोड़ों ग्राहकों को अलर्ट! इस बार दी ऐप को लेकर चेतावनी

SBI ने फिर किया अपने करोड़ों ग्राहकों को अलर्ट! इस बार दी ऐप को लेकर चेतावनी
भारतीय स्टेट बैंक

कोरोना (Coronavirus) के इस संकट धोखाधड़ी के मामले लगातार बढ़ते जा रहे है. इसीलिए देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक SBI (State Bank of India) अपने ग्राहकों को लेकर लगातार अलर्ट करता रहता है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक एसबीआई यानी स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI-State Bank of India) ने अपने ग्राहकों को अलर्ट करते हुए ऐप को लेकर सावधानी बरतने की सलाह दी है. बैंक ने अपने ट्विटर हैंडल के जरिए इसकी जानकारी दी है. आपको बता दें कि पिछले हफ्ते SBI ने खतरनाक बैंकिग वायरस से अलर्ट किया. बैंक ने बताया कि Cerberus नाम के खतरनाक मैलवेयर की मदद से अकाउंट होल्डर्स को निशाना बनाया जा रहा है. यह मैलवेयर फेक एसएमएस भेजकर यूजर्स को बड़े ऑफर्स के बारे में जानकारी देता है और अनजान लिंक्स पर क्लिक करवाने या फिर ऐप्स डाउनलोड करने के बाद उन्हें शिकार बना लेता है. ऐसे ऐप्स का मकसद अकाउंट होल्डर्स के पैसों पर हाथ साफ करना है.

बैंक का कहना है कि कुछ मोबाइल ऐप से आपके फोन को खतरा हो सकता है. क्योंकि ये ऐप निजी जानकारियां चुरा सकती है.  इसीलिए , आज हम आपको इससे जुड़ी कुछ टिप्स बता रहे है.

SBI ने दी फोन के लिए कुछ सेफ्टी टिप्स



(1) बैंक ने कहा- अपने मोबाइल फोन में हमेशा ऑथराइज्ड जगह से ही ऐपा डाउनलोड करें यानी गूगल प्ले स्टोर्स और ऐप्पल स्टोर्स से ही ऐप डाउनलोड करनी चाहिए.





(2) ऐप डाउनलोड करने के बाद, उसे परमिशन देते वक्त सावधानी बरतें

(3) किसी भी ऐप में अपने डेबिट और क्रेडिट कार्ड की डिटेल्स Save नहीं करें

(4) ऐप को डाउनलोड करने से पहले एक बार उसका रिव्यू भी जरूर देखना चाहिए.

(5) अपने मोबाइल फोन का स्फॉटवेयर हमेशा अपडेट रखें

(6) कभी भी किसी छूट और अन्य फ्री ऑफर के बहकावे में न आएं

(7) आपके पास आए किसी भी फॉरवर्ड मैसेज पर क्लिक करें. ये आपकी निजी जानकारियां चुरा सकते हैं.

इससे पहले SBI ट्रोजन मैलवेयर वायरस को लेकर भी अलर्ट कर चुका है. ये वायरस यूजर्स के बैंकिंग डीटेल्स चोरी करने का काम करता है. इन डीटेल्स में क्रेडिट कार्ड नंबर्स, सीवीवी और बाकी डेटा शामिल है.

इसके अलावा ट्रोजन की मदद से विक्टिम्स को शिकार बनाने के बाद उनकी पर्सनल जानकारी और टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन डीटेल्स भी चोरी किए जा सकते हैं.

कोरोना वायरस लॉकडाउन के दौरान फ्रॉड करने वाले भी पहले के मुकाबले ज्यादा ऐक्टिव हो गए हैं. यूजर्स को किसी अनजान लिंक पर क्लिक ना करने और केवल प्ले स्टोर या ऐप स्टोर से ही ऐप्स डाउनलोड करने की सलाह दी जाती है.
First published: May 31, 2020, 9:10 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading