ट्रेन में खाने को लेकर रेलवे ला रहा है नई पॉलिसी, होंगे ये 5 बड़े बदलाव

रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष विनोद कुमार यादव के मुताबिक इसके लिए रेलवे जल्द ही नई पॉलिसी लाने जा रहा है. इस पॉलिसी के तहत ट्रेनों में मौजूदा कैटरिंग के मेन्यू को भी रिवाइज़ करने जा रहा है.

Chandan Kumar | News18Hindi
Updated: September 9, 2019, 7:11 PM IST
ट्रेन में खाने को लेकर रेलवे ला रहा है नई पॉलिसी, होंगे ये 5 बड़े बदलाव
ट्रेन में खाने को लेकर रेलवे ला रहा है नई पॉलिसी, होंगे ये 5 बड़े बदलाव
Chandan Kumar | News18Hindi
Updated: September 9, 2019, 7:11 PM IST
नई दिल्ली. भारतीय रेल (Indian Railways) अपनी ट्रेनों में कैटरिंग (Train) सुविधा को लेकर बड़ा बदलाव करने जा रहा है. रेलवे का सीधा फोकस ई-कैटरिंग को बढ़ावा देने का है. रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष विनोद कुमार यादव के मुताबिक इसके लिए रेलवे जल्द ही नई पॉलिसी लाने जा रहा है. इस पॉलिसी के तहत भारतीय रेल की ज़्यादातर ट्रेनों में अगले दो महीने में ई-कैटरिंग की सुविधा मौजूद होगी. इसके साथ ही वो ट्रेनों में मौजूदा कैटरिंग के मेन्यू को भी रिवाइज़ करने जा रहा है. ट्रेनों में मिलने वाले चावल,दाल, रोटी, सब्ज़ी की थाली की जगह जल्द ही राज़मा-चावल, छोले-भटूरे, पूड़ी सब्ज़ी खाने को मिलेगी. इसके अलावा थाली की जगह पर स्थानीय व्यंजन भी परोसा जाएगा. इसके पीछे सीधा मक़सद यह है कि महज़ 50 रुपये जैसी कम कीमत पर अच्छी क्वालिटी की थाली परोसना किसी के लिए संभव नहीं है. रेलवे ऐसी स्थिति में खान-पान की गुणवत्ता और यात्रियों की सेहत से समझौता नहीं करना चाहता है.

आइए जानें नए बदलावों के बारे में...

(1) इसके अलावा IRCTC के बेच किचन में पकाये जा रहे भोजन की गुणवत्ता की निगरानी के लिए बेस किचन में भी CCTV कैमरे लागाए जा रहे हैं. फिलहाल IRCTC के 44 बेस किचन में सीसीटीवी कैमरे लगाए जा चुके हैं.

ये भी पढ़ें-सरकार दे रही है घर बैठे 1100 रुपये तक सस्ता सोना खरीदने का मौका! यहां जाने

(2) रेलवे में खान-पान की निगरानी के अलावा सुरक्षा के लिहाज से भी सीसीटीवी लगाने की बड़ी योजना पर काम जारी है. अनुमान है कि इसी साल के अंत तक सभी बड़े स्टेशनों पर और मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों में सीसीटीवी कैमरे लगा दिए जाएंगे.



(3) ट्रेनों में समय पर ई-कैटरिंग से खाना पहुंचाने में रेलवे का ISRO के साथ हुए समझौते से भी बड़ी मदद मिलने वाली है. रेलवे ने अपने ईंजनों में REAL TIME INFORMATION SYSTEM यानि RTIS लगा रहा है. फ़िलहाल रेलवे के 5320 ईंजनों में RTIS लगाया जा चुका है. यह GPS की तरह की एक तकनीक है जो रेलवे ने ख़ुद तैयार की है.
Loading...

(4) इससे ईजन के पोज़िशन की रियल टाइम जानकारी मिल जाती है यानि यह ट्रेन की स्थिति की सटीक और रियल टाइम पर जानकारी दे देता है. इसलिए ई- कैटरिंग से खाना बुक कराने पर कैटरर को भी सही जानकारी मिलती रहेगी ताकि वो समय पर गर्म खाना मुसाफिरों तक पहुंचा सके.

(5) रेलवे को अपनी पॉलिसी बदलने में बड़ी मदद स्टेशनों पर शुरू हो रही फ्री वाई-फाई सुविधआ से हो रही है. मौजूदा समय तक रेलवे ने 4000 से ज़्यादा स्टेशनों पर वाई-फाई सुविधा शुरू कर दी है. रेलवे का अनुमान है कि सितंबर के अंत तक वो अपने सभी 6000 महत्वपूर्ण स्टेशनों पर फ्री वाई-फाई सुविधा शुरू कर देगा. उसके बाद भारतीय रेल की ट्रेनों में फ्री वाई-फाई की सुविधा शुरू होगी.

(चंदन जजवाड़े, न्यूज18 इंडिया)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 9, 2019, 7:10 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...