इन दो सरकारी बैंकों के ग्राहक ध्यान दें.. बंद हो गया ये कोड, यूजर ID भी बदल गए, फटाफट करें बैंक से संपर्क

पंजाब नेशनल बैंक

पंजाब नेशनल बैंक

OBC UNI customer Alert: अगर आपका अकाउंट ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (OBC) और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया (UNI) में है तो आपके लिए बेहद जरूरी खबर है. दरअसल, इन दोनों बैंकों का पंजाब नेशनल बैंक (PNB) में विलय हुआ है इसके बाद 1 अप्रैल 2021 से OBC और UNI बैंक का आईएफएससी कोड (IFSC) बंद हो गया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. अगर आपका अकाउंट ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (OBC) और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया (UNI) में है तो आपके लिए बेहद जरूरी खबर है. दरअसल, इन दोनों बैंकों का पंजाब नेशनल बैंक (PNB) में विलय हुआ है. इसके बाद 1 अप्रैल 2021 से OBC और UNI बैंक का आईएफएससी कोड (IFSC) बंद हो गया है. यूजर आईडी भी बदल गए हैं. पुराने यूजर आईडी और आईएफएससी 31 मार्च, 2021 तक ही वैलिड थे. अब इन दोनों बैंकों के ग्राहकों को नए IFSC और यूजर आईडी मिलेंगे. इसकी जानकारी पंजाब नेशनल बैंक (PNB) ने ट्वीट कर दी है.

क्या कहा है PNB ने?

PNB ने अपने ट्वीट में कहा, 'डियर कस्टमर, eOBC और eUNI के IFSC को 1 अप्रैल 2021 से बंद कर दिया गया है. नए IFSC की जानकारी संबंधित ब्रांच और PNB के कॉर्पोरेट वेबसाइट पर उपलब्ध है. यहां से नया कोड ले सकते हैं.'


नया IFSC कोड लेने के लिए क्या करना होगा?

पीएनबी ने अपने ट्वीट में कहा कि ग्राहक अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से 9264092640 पर SMS भेजकर नया IFSC कोड प्राप्त कर सकते हैं. इसके लिए ग्राहक UPGR <Space><अकाउंट नंबर के अंतिम 4 डिजिट > लिखकर 9264092640 पर SMS भेज दें.

ये भी पढ़ें- खुशखबरी: अब सस्ता होगा पेट्रोल-डीजल, तेजी से घटेंगे दाम! जानें आपको कब से मिलेगा फायदा?



जानें, नये User ID के लिए क्या करना होगा?

अपना नया User ID जानने के लिए ग्राहक Know your user ID विकल्प पर लॉगिन करें. eOBC ग्राहकों को अपने 8 अंकों वाली user ID के आगे O लगाना होगा. eUNI ग्राहकों को अपने 8 अंकों वाली user ID के आगे U लगाना होगा. 9 अंकों की user ID वाले ग्राहकों को बदलाव करने की आवश्यकता नहीं है.

ये भी पढ़ें- आज ही शुरू करें यह कारोबार, सीधे करोडों में होगी कमाई, दुनियाभर में है डिमांड, ये बन चुके हैं करोड़पति...

जानें, क्यों पड़ती है IFSC की जरूरत?

बता दें कि जब आप ऑनलाइन ट्रांजेक्शन करते हैं तब बैंक अकाउंट नंबर के साथ बैंक का IFSC ऐड करना पड़ता है. भारत में बैंकों की संख्या बहुत ज्यादा है और इस स्थिति में सभी बैंकों के ब्रांच को याद नहीं रखा जा सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज