जाते-जाते RBI के डिप्टी गवर्नर ने सरकार को दी सलाह, बंद हो सब्सिडी वाली स्कीम

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य का आज आखिरी दिन है. उन्होंने अपना कार्यकाल पूरा होने के छह महीना पहले इस्तीफा दे दिया था.

News18Hindi
Updated: July 23, 2019, 4:11 PM IST
जाते-जाते RBI के डिप्टी गवर्नर ने सरकार को दी सलाह, बंद हो सब्सिडी वाली स्कीम
जाते-जाते RBI के डिप्टी गवर्नर ने सरकार को दी ये सलाह!
News18Hindi
Updated: July 23, 2019, 4:11 PM IST
भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य का आज आखिरी दिन है. उन्होंने अपना कार्यकाल पूरा होने के छह महीना पहले इस्तीफा दे दिया था. एक कार्यक्रम में विरल आचार्य ने सरकार को सुझाव दिया है कि वो उन सब्सिडी वाली योजनाओं को बंद करें, जिसका किसी तरह का कोई फायदा नहीं मिल रहा है. इसके साथ ही सरकारी कंपनियों में से अपनी हिस्सेदारी खत्म करें, ताकि निजी सेक्टर इनमें सही ढंग से निवेश कर सकें.

86 फीसदी हो गया है कर्ज
आचार्य कहते हैं कि कर्ज के बोझ तले दबे मार्केट को कर्ज देना और महंगा पड़ सकता है. उन्होंने कहा कि साल 2000 के बाद उत्पादन के मुकाबले भारत का कर्ज 67 फीसदी से बढ़कर 86 फीसदी हो गया है. जो कि किसी उभरते हुए बाजार से अधिक है.

विरल आचार्य ने कहा कि हाई रेट के कॉरपोरेट बॉन्ड की सुरक्षा और लिक्विडिटी प्रीमियम के बारे में चिंता जताई है. बड़े कर्ज से ब्याज दरों में कटौती के प्रति कम संवेदनशील होता है.

ये भी पढ़ें: फ्लैट बेचने के लिए बिल्डर नहीं दे पाएंगे आकर्षक छूट, बंद होगी ये स्कीम

आचार्य का महंगाई को लेकर कड़ा रुख रहा है और कई बार ब्याज दरों में कमी के फैसलों पर उन्होंने असहमति भी दर्ज कराई. आचार्य के पास रिजर्व बैंक में मौद्रिक नीति और शोध इकाई ही देख रहे थे. उनकी नियुक्ति के दौरान ही नीतिगत दर तय करने का काम छह सदस्यीय समिति (मौद्रिक नीति समिति) को दे दिया गया. विशेषज्ञों ने इसे सही दिशा में उठाया गया कदम बताया था.

बता दें, आरबीआई की स्वायत्तता सहित कई मुद्दों पर सरकार के साथ बढ़ते मतभेदों के बीच उर्जित पटेल ने गवर्नर पद से दिसंबर 2018 में इस्तीफा दे दिया था. पटेल के इस्तीफे के बाद शक्तिकांत दास को गवर्नर नियुक्त किया गया था.
Loading...

ये भी पढ़ें: इनकम टैक्स रिटर्न भरने के बाद जरूरी है वेरिफाई करना! जानिए इसका पूरा प्रोसेस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 23, 2019, 4:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...