शिखर से 50 फीसदी तक नीचे फिसले 100 से ज्यादा स्मॉल और मिडकैप शेयर! जानिए क्या होनी चाहिए इसमें निवेश की रणनीति

हाल के महीनों में मिड और स्माल कैप शेयरों में मजबूती रही है

हाल के महीनों में मिड और स्माल कैप शेयरों में मजबूती रही है

बीएसई 500 इंडेक्स में करीब 116 इंडेक्स ऐसे हैं जिनमें उनके हाई से 20 फीसदी से ज्यादा की गिरावट देखने को मिल रही है. इन शेयरों में IRCTC, LIC Housing, HEG, Apollo Hospitals, CEAT, Canara Bank, Shipping Corporation, Delta Corp, DLF, और Bliss GVS जैसे शेयरों के नाम शामिल हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 24, 2021, 5:02 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. शेयर मार्केट (Share Market) यू तो अपने उतार चढ़ाव (Up and Down) के लिए ही जाना जाता है लेकिन पिछले कुछ महीने से मिड और स्माल कैप (Mid and small cap Share) शेयरों की दिग्गजों से तुलना की जाए तो यह इनमें ज्यादा  मजबूती देखने को मिली है. लेकिन यहां यह भी गौर करने वाली बात है कि बीएसई 500 इंडेक्स में शामिल 5 शेयरों में से 1 शेयर ऐसा रहा है जिसमें उसके हाल के पीक से 20 फीसदी से ज्यादा की गिरावट देखने को मिली है.



S&P BSE Midcap index में 4 मार्च के इसके 21,085 के ऑल टाइम हाई से 5 फीसदी से ज्यादा की गिरावट देखने को मिल रही हैं. वहीं स्माल कैप इंडेक्स में 9 अप्रैल के हाई से 4 फीसदी गिरावट देखने को मिल रही है. इनकी तुलना में सेंसेक्स में 16 फरवरी के 52,516 के हालिया हाई से 8 फीसदी से ज्यादा की गिरावट देखने को मिल रही है.



नहीं रह पाए बुलिश मोमेंटम बनाए रखने में सफल 



हाल के महीनों में मिड और स्माल कैप शेयरों में मजबूती रही है. लेकिन इनमें से कुछ शेयर ऐसे रहे हैं जो बुलिश मोमेंटम बनाए रखने सफल नहीं रहे हैं. सैद्धांतिक रूप से देखें तो किसी शेयर या सेक्टर में 20 फीसदी से ज्यादा की गिरावट इस बात का संकेत होता है कि वो स्टॉक या इंडेक्स मंदी के दौर में है. 


ये भी पढ़ें - Corona Impact: शेयर बाजार में 2 प्रतिशत की गिरावट, लार्जकैप्स ने किया अंडर परफॉर्म









करीब 116 इंडेक्स  ऐसे हैं जिनमें उनके हाई से 20 फीसदी से ज्यादा की गिरावट 



बीएसई 500 इंडेक्स में करीब 116 इंडेक्स  ऐसे हैं जिनमें उनके हाई से 20 फीसदी से ज्यादा की गिरावट देखने को मिल रही है. इन शेयरों में IRCTC, LIC Housing, HEG, Apollo Hospitals, CEAT, Canara Bank, Shipping Corporation, Delta Corp, DLF, और Bliss GVS जैसे शेयरों के नाम शामिल हैं. जानकारों का कहना है कि कोरोना की दूसरी लहर के बावजूद पिछले कुछ दिनों के दौरान छोटे और मझोले शेयरों ने तुलानात्मक रूप से बेहतर प्रदर्शन किया है. निम्न ब्याज दरें और सरकार की हायर फिजिकल स्पेडिंग से मिड और स्माल कैप सेक्टर की कंपनियों को सपोर्ट मिलता रहेगा. इसके अलावा जैसे ही कोविड पर कुछ नियंत्रण दिखना शुरू होगा वैसे ही स्माल और मिड कैप कंपनियों में और जोश भरता दिखाई देगा. 



आगे कुछ मिडकैप कंपनियां लार्ज कैप में बदलती नजर आएंगी



Narnolia Financial Advisors Limited के शैलेंद्र कुमार का कहना है कि आंकड़ों से संकेत मिलता है कि Midcap 100 और Smallcap 100 इंडेक्स ने पिछले 12 में से 9 महीनों में निफ्टी की तुलना में बेहतर प्रदर्शन किया है. बाजार और इकोनॉमी में विस्तार के साथ ही हमें आगे कुछ मिडकैप कंपनियां लार्ज कैप में बदलती नजर आएंगी. इस समय इन कंपनियों के शेयरों को पोर्टफोलियों में जरूर शामिल करना चाहिए. ये शेयर आगे बहुत बड़े वेल्थ क्रिएटर साबित होंगे. 



ये भी पढ़ें -  ऑक्सीजन सिलेंडर, बेड और रेमडेसिविर के लिए अब आपको नहीं होना होगा परेशान! Twitter पर मिलेगी सभी जानकारी, जानिए कैसे?







कहां करें खरीदारी



वो सभी स्टॉक जिनमें ब्रोकरेजेज की खरीद की सलाह है, उनमें अपने रिकॉर्ड हाई से 5-20 फीसदी तक की गिरावट देखने को मिली है और यह शेयर बीएसई 500 इंडेक्स का हिस्सा हैं.



मोतीलाल ओसवाल के टॉप मिड कैप बॉय रिकमंडेशन में  Cholamandalam Financial Holdings, SAIL, Emami, L&T Technology Services, Varun Beverages, Gujarat Gas, Orient Electric और Federal Bank शामिल हैं.



प्रभुदास लीलाधर की भी कुछ मिड और स्माल कैप शेयरों पर नजर है। मिड कैप से  Polycab India, Emami,Zee Entertainment, Endurance Technologies उनकी लिस्ट में शामिल हैं। वहीं स्माल कैप स्पेस से Westlife Development और Inox Leisure उनकी टॉप पिक हैं. 



ये भी पढ़ें - FAU-G खेलने वालों के लिए खुशखबरी! गेम में आ रहा है मल्टीप्लयेर गेम मोड Deathmatch, जानें खासियत



 




टेक्निकल वाया रिसर्च के गौरव गर्ग का कहना है कि निवेश के लिए शेयरों का चुनाव करते समय हमें उनके वैल्यूएशन, मैनजमेंट की काबिलियत, पिछला ट्रैक रिकॉर्ड, उनके बिजनेस मॉडल और उनके लॉन्ग टर्म आउटलुक जैसे फंडामेंटल्स पर नजर रखनी चाहिए. ऐसे शेयर निवेश के लिए अच्छे लग रहे हैं जो फंडामेंडटली मजबूत हैं लेकिन इस समय अपने हाई से डबल डिजिट करेक्शन में नजर रहे हैं. हालांकि यह किसी शेयर के चुनाव का एकमात्र आधार नहीं होना चाहिए. मिड कैप और स्माल कैप शेयरों पर यह बात पूरी तरह से लागू नहीं होती. कोई भी निवेश निर्णय लेने से पहले हमें सतर्कता के साथ पूरा रिसर्च करके कदम आगे बढ़ाना चाहिए.


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज