होम /न्यूज /व्यवसाय /देश के 4.5 करोड़ किसानों ने उठाया केसीसी का फायदा, आपको भी आमदनी बढ़ाने में मिलेगी मदद

देश के 4.5 करोड़ किसानों ने उठाया केसीसी का फायदा, आपको भी आमदनी बढ़ाने में मिलेगी मदद

अगर आपको खेती-किसानी में कोई समस्या आ रही है तो चिंता करने की जरूरत नहीं. एक फोन करके आप फसलों से जुड़ी समस्यों के समाधान के उपाय जान सकते हैं. एक्सपर्ट आपको जानकारी देंगे. सरकार का इसे शुरू करने पीछे मुख्य उद्देश्य किसानों की समस्या को दूर कर उनकी आमदनी को दोगुना करना है.

अगर आपको खेती-किसानी में कोई समस्या आ रही है तो चिंता करने की जरूरत नहीं. एक फोन करके आप फसलों से जुड़ी समस्यों के समाधान के उपाय जान सकते हैं. एक्सपर्ट आपको जानकारी देंगे. सरकार का इसे शुरू करने पीछे मुख्य उद्देश्य किसानों की समस्या को दूर कर उनकी आमदनी को दोगुना करना है.

अगर आपको खेती-किसानी में कोई समस्या आ रही है तो चिंता करने की जरूरत नहीं. एक फोन करके आप फसलों से जुड़ी समस्यों के समाध ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्ली. अगर आपको खेती-किसानी में कोई समस्या आ रही है तो चिंता करने की जरूरत नहीं. एक फोन करके आप फसलों से जुड़ी समस्यों के समाधान के उपाय जान सकते हैं. एक्सपर्ट आपको जानकारी देंगे. सरकार का इसे शुरू करने पीछे मुख्य उद्देश्य किसानों की आमदनी को दोगुना करना है. इसका फायदा रोजना हजारों किसान उठा रहे हैं. कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री कैलाश चौधरी के मुताबिक अब तक इस सुविधा के जरिए देश के 454.41 लाख किसानों को उनकी समस्याओं पर उत्तर दिया गया है. हम आपको आज किसान कॉल सेंटर (KCCs) योजना के बारे में बात कर रहे हैं. इसका टोल फ्री नंबर है 1800-180-1551. इस नंबर पर कॉल करने का कोई चार्ज नहीं लगता.

    ये कॉल सेंटर राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों के 14 स्थानों पर कार्यरत हैं. खास बात यह है कि इसमें किसानों के सवालों के जवाब उनकी स्थानीय भाषा में मिलेगा. हिंदी, मराठी, गुजराती, तेलगु, भोजपुरी, छत्तीसगढ़ी, तामिल और मलयालम सहित 22 भाषाओं में आप जानकारी ले सकते हैं.

    किसान कॉल सेंटर में करीब सवा सौ कृषि विशेषज्ञ कॉल रिसीव करते हैं और समस्याओं का समाधान करते हैं. ये एक्सपर्ट बागवानी, पशुपालन, मत्स्य पालन, कुक्कुट, मधुमक्खी पालन, रेशम उत्पादन, एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग, एग्रीकल्चर बिजनेस, जैव प्रौद्योगिकी, गृह विज्ञान में स्नातक, पीजी और डॉक्टरेट हैं.

    अगर कॉल तुरंत रिसीव नहीं होती है तो किसान को बाद में किसान कॉल सेंटर से कॉल की जाती है. किसान कॉल सेंटर में रजिस्ट्रेशन करने पर किसानों को टेक्स्ट मैसेज या वाइस मैसेज भी भेजा जाता है.

    किसान कॉल सेंटर, केसीसी, किसान, मोदी सरकार, किसान कॉल सेंटर हेल्पलाइन नंबर, kisan call centre, KCC, Modi Government, Business news in hindi,
    किसान केसीसी के जरिए कर सकते हैं समस्या का समाधान


    मोबाइल पर जानकारी पाने के लिए रजिस्ट्रेशन- किसान 51969 या 7738299899 पर एक एसएमएस भेजकर रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं. रजिस्ट्रेशन ऐसे करें-

    मैसेज बॉक्स में ये टाइप करें: "किसान GOV REG < नाम > , <राज्य का नाम>, <जिला का नाम>, <ब्लॉक का नाम >" संदेश लिखने के बाद 51969 या 7738299899 पर भेज दें.

    इंटरनेट के जानकार किसानों के लिए वेब पंजीकरण- वह किसान जिनके पास इंटरनेट की सुविधा हैं वो पोर्टल के माध्यम से रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं अथवा वह पास के कस्टमर सर्विस सेंटर (सीएससी) में जाकर रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं. वेब रजिस्ट्रेशन के लिए http://mkisan.gov.in/hindi/wbreg.aspx पर क्लिक करें.

    ये भी पढ़ें- खुशखबरी! PM-किसान स्कीम के तहत मोदी सरकार ने करोड़ों किसानों के खाते में भेजे 2000 रुपये, ऐसे करें पता

    1.20 लाख लोगों से वापस लिया गया PM-किसान सम्मान निधि स्कीम का पैसा, पहले नंबर पर यूपी

    Tags: Business news in hindi, Farmer, Farmer push

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें