लाइव टीवी

ओयो होटल्‍स का राजस्‍व 2.9 गुणा बढ़ा, 604 मिलियन डॉलर पर पहुंचा कारोबार

News18Hindi
Updated: February 18, 2020, 9:51 PM IST
ओयो होटल्‍स का राजस्‍व 2.9 गुणा बढ़ा, 604 मिलियन डॉलर पर पहुंचा कारोबार
आयो होटल्स के संस्थाकप रितेश अग्रवाल

ओयो होटल्स का वित्तीय वर्ष 19 में समेकित राजस्व 951 मिलियन डॉलर रहा, भारत का राजस्व 604 मिलियन डॉलर रहा. भारत वित्तीय राजस्व में 63.5 फीसदी योगदान देता है जबकि अन्तर्राष्ट्रीय बाज़ारों का योगदान 36.5 फीसदी है. कंपनी ने अपनी बेहतर संचालन क्षमता के साथ राजस्व के नुकसान में गिरावट दर्ज की जो 24 फीसदी से कम होकर 14 फीसदी पर पहुंचा

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 18, 2020, 9:51 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दुनिया की अग्रणी हॉस्पिटेलिटी चेन ओयो होटल्स एण्ड होम्स ने आज वित्तीय वर्ष 2019 (अप्रैल 2018 से मार्च 2019) के लिए अपने वित्तीय परिणामों की घोषणा की है. लेखापरीक्षित वित्तीय परिणामों के अनुसार कंपनी का समेकित राजस्व 951 मिलियन अमेरिकी डॉलर रहा, जो वित्तीय वर्ष 2018 की तुलना में 4.5 गुना (साल दर साल) अधिक है, जब कंपनी ने 211 मिलियन अमरिकी डॉलर का राजस्व दर्ज किया था.

भारत के बाहर 348 मिलियन डॉलर का कारोबार
छह साल पुराने युवा स्टार्टअप के रूप में ओयो का कारोबार आज तीन प्रमुख विकास अवस्थाओं के ज़रिए विकसित हुआ है. पहली अवस्था में, जब हमने नए बाज़ारों में अपना संचालन शुरू किया, कंपनी अपने पैमाने और उपस्थिति पर ध्यान केन्द्रित कर रही थी. दूसरी अवस्था में जब हमने पैमाना और मौजूदगी को सशक्त रूप से स्थापित कर लिया. हमने ब्राण्ड की लोकप्रियता बढ़ाने और अपने वैल्यू प्रोपोज़िशन के द्वारा मार्जिन बढ़ाने पर ध्यान केन्द्रित किया, साथ ही हमने विकास में निवेश जारी रखा. भारत जैसे परिपक्व बाज़ारों, में जहां ओयो अपनी विकास यात्रा के तीसरे चरण में हैं, कपनी मुनाफ़े के स्पष्ट मार्ग पर आगे बढ़ते हुए ब्राण्ड की मौजूदगी के सशक्त बनाने के लिए प्रयासरत है, साथ ही विकास, संचालनात्मक उत्कृष्टता एवं सकल मार्जिन पर ध्यान दे रही है. इस संदर्भ में वित्तीय वर्ष 2019 में भारत के कारोबार संचालन ने कुल आंकड़ों में 63.5 फीसदी या 604 मिलियन अमेरिकी डॉलर का योजना दिया है, साथ ही 2.9 गुना (साल दर साल) वृद्धि दर्ज की है. इसमें से तकरीबन 36.5 फीसदी या 348 मिलियन डॉलर का योगदान भारत के बाहर कंपनी के संचालन ने दिया, जिसमें चीन का योगदान सबसे ज़्यादा रहा, जो बेहतर संचालन दक्षता के साथ बड़े पैमाने पर स्थायी विश्वस्तरीय कारारेबार के निर्माण की दिशा में कंपनी की प्रतिबद्धता की पुष्टि करता है.

यह भी पढ़ें: आज सोना और चांदी की कीमतों में हुआ बड़ा बदलाव, फटाफट जानें नए रेट्स



120 से अधिक देशों में मौजूदगी
कंपनी ने अपने नेटवर्क में रोज़ाना चेक-इन करने वाले मेहमानों तथा साथ ही दुनिया भर में होटलों और प्रॉपर्टी मालिकों की संख्या में वृद्धि दर्ज की है. 43000 से अधिक प्रॉपर्टी मालिकों के साथ ओयो ने जनवरी-दिसम्बर 2019 के बीच 120 से अधिक देशों से आए 180 मिलियन से अधिक मेहमानों को अपनी सेवाएं प्रदान कीं.

वित्तीय वर्ष 2019 में ओयो की प्राथमिक मौजूदगी चीन और भारत में थी. नए बाजा़रों में अपनी मौजूदगी को स्थापित करने तथा प्रतिभा, बाज़ार-प्रवेश, संचालनात्मक व्यय में आने वाली लागत के परिणामस्वरूप ओयो ने निकट अवधि में नेट हानि प्रतिशतता की बढ़ोतरी दर्ज की जो वित्तीय वर्ष 2018 में 25 फीसदी से बढ़कर वित्तीय वर्ष 2019 में 35 फीसदी यानि 335 मिलियन तक पहुंच गई. साथ ही भारत जैसे परिपक्व बाज़ारों में कंपनी ने वित्तीय वर्ष 19 में हानि को 24 से कम कर कर 14 फीसदी यानि 83 मिलियन डॉलर दर्ज किया.

इस अवसर पर अभिषेक गुप्ता, ग्लोबल सीएफओ, ओयो होटल्स एण्ड होम्स ने कहा, ‘‘हमने वित्तीय वर्ष 2019 में 951 मिलियन अमेरिकी डॉलर का विश्वस्तरीय राजस्व दर्ज किया है, इस दृष्टि से हमने साल दर साल 4.5 गुना की बढ़ोतरी दर्ज की है. मेहमानों को उत्कृष्ट सेवाओं का अनुभव प्रदान करने तथा प्राॅपर्टी मालिकों का मुनाफ़ा बढ़ाने के लिए ओयो निरंतर कड़ी मेहनत के साथ तकनीकी इनोवेशन्स पर ध्यान केन्द्रित करती रही है, इस परफोर्मेन्स में हर ओयोप्रेन्यूर के समर्पण का योगदान रहा है. हम निरंतर अपने वित्तीय परफोर्मेन्स में सुधार लाने पर ध्यान केन्द्रित कर रहे हैं, 2020 में और इसके आगे भी हम सशक्त एवं स्थायी विकास, उच्च संचालानात्मक एवं सेवा उत्कृष्टता तथा मुनाफ़े के स्पष्ट मार्ग पर ध्यान केन्द्रित करते रहेंगे. कोरपोरेट प्रशासन, उच्च परफोर्मेन्स एवं कर्मचारी उन्मुख कार्य संस्कृति के साथ कंपनी स्थायी विकास के अगले चरण को प्रोत्साहित करेगी. हमें विश्वास है कि हम आने वाले समय में भी दुनिया भर में यात्रियों और प्रॉपर्टी मालिकों को उत्कृष्ट अनुभव प्रदान करते रहेंगे.’

यह भी पढ़ें: इन कंपनियों में काम करने वालों की बढ़ेगी सबसे ज्यादा सैलरी-सर्वे

2019 में ओयो ने अपने उपभोक्ता आधार का निर्माण जारी रखा, कंपनीके राजस्व का 90 फीसदी हिस्सा दोबारा बुकिंग करेन वाले एवं ओर्गेनिक उपभोता आधार से आया, जिसमें से सिर्फ दोबारा बुकिंग करने वालों का योगदान 73 फीसदी रहा.
इस अवधि के दौरान चीन एवं अन्य अन्तर्राष्ट्रीय बाजार विकास एवं निवेश के दौर से गुज़र रहे थे, इन्होंने वित्तीय वर्ष 19 में हानि में 75 फीसदी (252 मिलियन डॉलर) का योगदान दिया. इन बाज़ारों ने विश्वस्तरीय राजस्व में 36.5 फीसदी योगदान दिया. भारत जैसे परिपक्व बाज़ारों, जहां यह पहले से सकल मार्जिन में सुधार दर्ज कर रही है, में संचालन अर्थव्यवस्थाओं में निरंतर सुधार लाते हुए, कंपनी आगामी वित्तीय वर्ष में उभरते बाज़ारों में भी मार्जिन बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है.

स्थायी विकास और प्रभाव
भारत में कंपनी का सकल मार्जिन वित्तीय वर्ष 18 में 10.6 फीसदी था जो वित्तीय वर्ष 19 में 14.7 फीसदी हो गया. जो कंपनी के बिज़नेस मॉडल की क्षमता तथा मार्केट शेयर एवं अर्थव्यवस्थाओं के बीच उचित तालमेल को दर्शाता है.

ओयो ऐप अब दुनिया भर में टॉप 3 होटल बुकिंग ऐपस में से एक है जिस पर अक्टूबर 2019 तक 203 मिलियन से अधिक डाउनलोड किए जा चुके हैं, कंपनी उपभोक्ताओं की प्राथमिकता को ध्यान मेंर खते हुए उन्हें उत्कृष्ट अनुभव प्रदान करने के लिए निरंतर प्रयासरत है और ओटीए (ऑनलाईन ट्रैवल एजेन्सी) प्लेटफॉर्म्स पर इसकी औसत रेटिंग 7.5+/1 रही है.

यह भी पढ़ें:  अप्रैल से बदल जाएंगे विदेश में घूमने के नियम, अब सरकार आपसे वसूलेगी ये टैक्स

करीब 7 साल पहले शुरू हुआ था ओयो होटल्स का
2013 में शुरू हुई ओयो होटल्स एण्ड, एक यंग स्टार्टअप है, जो आज होटल्स, होम्स एवं स्पेसेज़ में दुनिया की अग्रणी चेन बन चुकी है. इसके पोर्टफोलियो में 43,000 से अधिक होटल और 1 मिलियन से अधिक कमरे शामिल हैं. अपनी वेकेशन होम कैटेगरी में 130000 से अधिक ओयो होम्स के साथ कंपनी के ब्राण्ड ओयो होम्स, बेलविला, डैनसेंटर, डैनलैण्ड और जर्मनी आधारित ट्राम-फेरियनवोहनुनजेन- US, यूरोप, UK, भारत, मलेशिया, मिडल ईस्ट, इंडोनेशिया, फिलीपीन्स और जापान सहित 80 देशों के 800 से अधिक शहरों में उपलब्ध हैं. कंपनी चुनिंदा देशों में हाउसिंग रेंटल बिज़नेस एवं को-वर्किंग बिज़नेस में भी सक्रिय है.

यह भी पढ़ें: दुनिया के इस बड़े बैंक का ऐलान- इस वजह से 3 साल में करेगा 35000 की छंटनी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 18, 2020, 9:51 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर