किसान आंदोलन के बीच हरियाणा, पंजाब के किसानों से MSP पर हो रही धान की खरीद

हरियाणा और पंजाब में धान की खरीद शुरू
हरियाणा और पंजाब में धान की खरीद शुरू

तमिलनाडु, कर्नाटक, महाराष्ट्र, तेलंगाना और हरियाणा के लिए 14.09 लाख मीट्रिक टन दलहन और तिलहन खरीद के लिए मंजूरी

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 30, 2020, 12:29 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. नए कृषि कानून के बाद कुछ किसानों (Farmers)  को आशंका है कि न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) और मंडियों की व्यवस्था खत्म हो जाएगी. लेकिन इन आशंकाओं के उलट मोदी सरकार ने 2020-21 खरीफ फसलों की खरीद एमएसपी पर जारी रखने का एलान किया है. हरियाणा और पंजाब (Haryana-Punjab) की मंडियों में 26 सितंबर से धान की खरीद शुरू हो गई है. केंद्रीय कृषि मंत्रालय के मुताबिक 28 सितंबर तक हरियाणा और पंजाब के किसानों से 31 करोड़ की न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर कुल 16,420 मीट्रिक टन धान की खरीद (Paddy procurement) की गई है. हरियाणा में 3,164 मीट्रिक टन और पंजाब में 13,256 मीट्रिक टन खरीदा गया.

उधर, केंद्र सरकार ने तमिलनाडु, कर्नाटक, महाराष्ट्र, तेलंगाना और हरियाणा के लिए खरीफ मार्केटिंग सीजन 2020-21 के लिए 14.09 लाख मीट्रिक टन दलहन और तिलहन की खरीद के लिए स्वीकृति दे दी है. राज्यों के मिले प्रस्ताव के आधार पर यह स्वीकृति दी गई.

इसे भी पढ़ें: जहां MSP पर ज्यादा हुई खरीद वहां किसानों की आय सबसे अच्छी, पढ़िए-विश्लेषण



अन्य राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के लिए खरीफ दलहन और तिलहन के बिक्री प्रस्ताव मिलने पर अनुमोदन किया जाएगा. यदि नोटिफाइड समय अवधि के दौरान बाजार की दरें इसके एमएसपी से नीचे चली जाती हैं तो फिर एफएक्यू ग्रेड की खरीद मूल्य समर्थन योजना (पीएसएस) के अनुसार की जाएगी.
Haryana and Punjab, Paddy procurement, Ministry of agriculture, MSP, farmers news, modi government, हरियाणा, पंजाब, धान खरीद, कृषि मंत्रालय, एमएसपी, किसान समाचार, मोदी सरकार
एमएसपी पर हो रही है खरीद (Photo-Moneycontrol)


यह भी पढ़ें: MSP पर धान की खरीद को लेकर हरियाणा सरकार ने लिया बड़ा फैसला

मंत्रालय ने बताया कि 28 सितंबर तक सरकार ने अपनी नोडल एजेंसियों के माध्यम से 46.35 मीट्रिक टन मूंग की खरीद की है, जिसका एमएसपी मूल्य 33 लाख रुपये है और इससे तमिलनाडु में 48 किसानों को फायदा हुआ है. इसी तरह आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, तमिलनाडु और केरल के लिए 1.23 लाख मीट्रिक टन की स्वीकृत मात्रा के तहत कर्नाटक और तमिलनाडु में 52.40 करोड़ रुपये की एमएसपी पर 5089 मीट्रिक टन कोपरा (बारहमासी फसल) की खरीद की गई है. इससे 3961 किसानों को लाभ मिला है.

2020-21 मार्केटिंग सीजन के लिए कपास की खरीद 1 अक्टूबर, 2020 से शुरू होगी और कॉटन कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (सीसीआई) 1 अक्टूबर 2020 से एफएक्यू ग्रेड कॉटन की खरीद शुरू करेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज