कंगाली की कगार पर पहुंचे पाकिस्‍तान को लगा बड़ा झटका! वित्‍त मंत्री असद उमर ने दिया इस्‍तीफा!

आर्थिक बदहाली से गुजर रहे पाकिस्‍तान के वित्‍त मंत्री असद उमर ने इस्‍तीफे की पेशकश की है. इस पर अंतिम फैसला इमरान खान लेंगे.

News18Hindi
Updated: April 18, 2019, 4:10 PM IST
कंगाली की कगार पर पहुंचे पाकिस्‍तान को लगा बड़ा झटका! वित्‍त मंत्री असद उमर ने दिया इस्‍तीफा!
आर्थिक बदहाली से गुजर रहे पाकिस्‍तान के वित्‍त मंत्री असद उमर ने इस्‍तीफे की पेशकश की है. इस पर अंतिम फैसला इमरान खान लेंगे.
News18Hindi
Updated: April 18, 2019, 4:10 PM IST
पाकिस्‍तान के वित्‍त मंत्री असद उमर ने इस्‍तीफे की पेशकश की है. इस पर अंतिम फैसला इमरान खान लेंगे. वित्‍त मंत्री असद उमर ने ट्वीट कर कहा है कि प्रधानमंत्री इमरान खान ने मुझे वित्‍त मंत्री के पद से हटाकर ऊर्जा मंत्री बना की पेशकश की. जिससे मैने इनकार कर दिया और वित्‍त मंत्री के पद से इस्‍तीफा देने की पेशकश की. हालांकि असद उमर ने कहा है कि वह पार्टी में बने रहेंगे. आपको बता दें कि इससे पहले खबरें आ रही थी कि पाकिस्तान और अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) 6 से 8 अरब डॉलर के राहत पैकेज की डील पर तैयार हो गए है. वित्त मंत्री असद उमर ने भी इसकी घोषणा करते हुए कहा था कि नकदी संकट से जूझ रहा पाकिस्तान अब भुगतान संतुलन की गंभीर समस्या से बाहर निकलने के करीब है, जिससे उसकी अर्थव्यवस्था की स्थिति को खराब होने का खतरा है.

पाकिस्तान पहले से ही कर्ज में डूबा हुआ है. पिछले साल प्रधानमंत्री बनने के बाद से ही इमरान खान कई देशों से कर्ज की गुहार लगा रहे हैं. पाकिस्तान इंटरनेशनल मोनेटरी फंड (IMF) से कर्ज की मांग कर रहा है. 1980 से अब तक पाकिस्तान IMF से 12 बार कर्ज ले चुका है. ये भी पढ़ें-पाकिस्तान में रिकॉर्ड तोड़ महंगाई, मालदीव-नेपाल से भी खस्ता हालत





नेपाल और मालदीव से भी कम रह सकती है पाकिस्तान की आर्थिक ग्रोथ -यूएन की हाल में जारी हुई रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान की आर्थिक ग्रोथ साल 2019 में 4.2 फीसदी और साल 2020 में 4 फीसदी रहने का अनुमान है. वहीं, रिपोर्ट में कहा गया है कि साल 2019 के दौरान बांग्लादेश की आर्थिक ग्रोथ दर 7.3 फीसदी, भारत की 7.5 फीसदी, मालदीव और नेपाल की 6.5 फीसदी रहने का अनुमान है. इस लिहाज से पाकिस्तान की आर्थिक ग्रोथ सबसे निचले पायदान पर रहेगी.

पेट्रोल-डीज़ल और बिजली की बढ़ी कीमतें-  मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, रविवार को पाकिस्तान सरकार ने पेट्रोल की कीमतें 6 रुपये तक बढ़ा दीं. पाकिस्तान में एक लीटर पेट्रोल की कीमत 98.88 पाकिस्तानी रुपये हो गई है. पाकिस्तान की जनता महंगाई और पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से काफी परेशान है. इसके बावजूद सरकार ने चेतावनी दी है कि आने वाले महीनों में बिजली और गैस की कीमतें भी बढ़ाई जाएंगी.

महंगाई बढ़ने से क्‍या होता है- महंगाई दर का असर अर्थव्‍यवस्‍था पर दो तरह से होता है. अगर महंगाई दर बढ़ती है तो बाजार में वस्तुओं की कीमतें बढ़ जाती हैं और लोगों की खरीदने की क्षमता कम हो जाती है. वहीं अगर महंगाई दर घटती है तो बाजार में वस्तुओं के दाम घट जाते और लोगों की खरीदने की क्षमता बढ़ जाती है. महंगाई के बढ़ने और घटने का असर सरकार की नीतियों पर भी पड़ता है. किसी भी देश का सेंट्रल बैंक ब्याज दरों में बदलाव के लिए महंगाई के आधार पर फैसला लेता है.

चरमरा रही है पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था


>> पाकिस्तान का विदेशी पूंजी भंडार फिलहाल 8.5 अरब डॉलर है जो कि साल की शुरुआत से अच्छा है, लेकिन यह दो महीने के आयात के लिए काफी नहीं है.

>>  देश में मार्च में महंगाई 9.4 प्रतिशत थी, जो कि नवंबर 2013 के बाद से सबसे अधिक है. खाने-पीने की चीजों और बिजली की कीमत में बेतहाशा वृद्धि हुई है जिससे लोग सबसे अधिक प्रभावित हुए हैं.

>> पाकिस्तान के सैंट्रल बैंक ने जून में खत्म हो रही 12 महीने की अवधि के दौरान जीडीपी विकास दर 3.5 से 4 फीसदी तक रहने का अनुमान जताया है जो कि सरकार के अनुमान 6.2 फीसदी की तुलना में काफी कम है.



>> अर्थशास्त्रियों का कहना है कि महंगाई के कारण लोगों के लिए जरूरी चीजें खरीदने में मुश्किल आ जाएगी.

>> एशियाई विकास बैंक (एडीबी) ने भी वित्तीय संकट से जूझ रहे पाकिस्तान की आर्थिक वृद्धि दर में गिरावट के संकेत दिए हैं.

>> रिपोर्ट में आर्थिक चुनौतियों का हवाला देते हुए कहा कि पाकिस्तान की जीडीपी विकास दर वित्त वर्ष 2018 में 5.2 प्रतिशत से गिरकर 2019 में 3.9 प्रतिशत पर आ जाने का अनुमान है.

एडीबी की रिपोर्ट के मुताबिक एग्रीकल्चर सेक्टर में सुधार के बावजूद 2018 में पाकिस्तान की आर्थिक ग्रोथ तेजी से गिरी.

>> पाकिस्तान की विस्तारवादी राजकोषीय नीति ने बजट और चालू खाते के घाटे को व्यापक रूप से बढ़ाया और विदेशी मुद्रा का भारी नुकसान किया है.
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

News18 चुनाव टूलबार

चुनाव टूलबार