कंगाल पाकिस्तान का कर्ज से बुरा हाल! अब 15 अरब डॉलर के नये कर्ज लेने की तैयारी

कंगाल पाकिस्तान का कर्ज से बुरा हाल! अब 15 अरब डॉलर के नये कर्ज लेने की तैयारी
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान

पाकिस्तान के एक अखबार ने दावा किया है कि इमरान खान (Imran Khan) सरकार 15 अरब डॉलर नये कर्ज लेने का प्लान बना रही है. इसके पहले पा​क सरकार ने तीन साल में 40 अरब डॉलर का कर्ज ले चुकी है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. आर्थिक मोर्चे पर पाकिस्तान सरकार (Pakistan Government) के लिए चुनौतियां लगातार बढ़ती जा रही है. पाकिस्तान की हाल इतनी खराब है कि अब लग रहा प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) की सरकार कर्ज लेने की नई रिकॉर्ड स्थापित करेगी. पाक सरकार विदेशी कर्ज के भुगतान और ​अपने विदेशी मुद्रा भंडार (Pak Foreign Currency Reserve) को मजबूत करने के लिए अब चालू वित्त वर्ष यानी 2020-21 में 15 अरब डॉलर कर्ज लेने का प्लान बना रही है. एक साल के अंदर यह दूसरा मामला होगा जब पाक सरकार सबसे ज्यादा कर्ज लेगी.

पाक कैसे खर्च करेगा 15 अरब डॉलर
पाकिस्तान के एक अखबर 'द एक्सप्रेस ट्रिब्युन' ने पाकिस्तानी वित्त मंत्रालय (Pak Finance Ministry) के सूत्रों के हवाले से अपनी ​एक रिपोर्ट में लिखा है कि वित्त वर्ष 2020-21 में 15 अरब डॉलर विदेशी कर्ज लेगी. इसमें करीब 10 अरब डॉलर पहले लिए गये कर्ज के मैच्योरिटी पर भुगतान करने के लिये किया जायेगा. रिपोर्ट में बताया गया है कि यह रकम ब्याज भुगतान से अतिरिक्त है. ​शेष रकम देश के बाहरी सार्वजनिक कर्ज का हिस्सा बन जायेगी. इस साल मार्च के अंत तक यह रकम बढ़कर 86.4 अरब डॉलर तक पहुंच चुकी है.

IMF ने भी दिया 1.39 अरब डॉलर



बता दें​ कि कोरोना महामारी (Coronavirus Pandemic) का हवाला देकर पाकिस्तान ने अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF - International Monetary Fund) से मदद की गुहरा लगाई थी. इसके बाद IMF ने पाकिस्तान को 1.39 अरब डॉलर का कर्ज दिया था. पाकिस्तान को IMF की तरफ से यह रकम मिल भी गई है.



यह भी पढ़ें: 'वन नेशन वन राशनकार्ड' से 3 नये राज्य जुड़े, इस दिन से पूरे देश में होगा लागू

पुराने कर्ज का खामियाजा भुगत रहा पाक
एक ही साल में 15 अरब डॉलर का कर्ज लेना पाकिस्तान की बद्तर आर्थिक स्थिति को दर्शाता है. यहां की सरकार लगातार कर्ज की जाल में फंसती जा रही है. पहले की सरकार की तरह ही इमरान खान की पाकिस्तान-तहरीक-ए-इंसाफ सरकार भी निर्यात और विदेशी निवेश को बढ़ाने में विफल रही है. इसका खामियाजा पुराने कर्ज के साथ नये कर्ज में इजाफा के रूप में देखने को मिल रही है.

40 अरब डॉलर का कर्ज ले चुका है पाक
पाकिस्तान के कर्ज निर्भरता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि जुलाई 2018 से लेकर जून 2021 के बीच में यहां की सरकार ने 40 अरब डॉलर का कर्ज ले चुकी है. ध्यान देने वाली बात है कि इसमें से करीब 27 अरब डॉलर का कर्ज पुराने कर्ज के भुगतान के लिए इस्तेमाल किया जायेगा. इसके बाद बचे करीब 13 अरब डॉलर को बाहरी सार्वजनिक कर्ज में जुड़ जाएगा.

यह भी पढ़ें: खाते में नहीं आए पीएम किसान के पैसे तो यहां करें कॉल, तुरंत बन जायेगा काम
First published: June 1, 2020, 8:54 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading