होम /न्यूज /व्यवसाय /पाकिस्तान में महंगाई से मचा हाहाकार! खाने-पीने की चीजों के बाद अब इमरान सरकार ने बढ़ाए बिजली के दाम

पाकिस्तान में महंगाई से मचा हाहाकार! खाने-पीने की चीजों के बाद अब इमरान सरकार ने बढ़ाए बिजली के दाम

पाकिस्तान में बढ़ती महंगाई ने आवम की कमर तोड़ी

पाकिस्तान में बढ़ती महंगाई ने आवम की कमर तोड़ी

अखबार डॉन न्यूज के मुताबिक, पाकिस्तान सरकार ने बिजली की दरों में 2.39 रुपये प्रति यूनिट इजाफा करने का आदेश दिया है. इस ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्ली. कंगाल हो चुका पाकिस्तान (Pakistan Inflation Rate) अब धीरे-धीरे भुखमरी की तरफ बढ़ रहा है. महंगाई चुपके से उसे दीमक की तरफ निगल रही है. कर्ज के बोझ से निकलने के लिए उसे पैसा चाहिए और कैसे भी.. ये ही वजह है कि पाकिस्तान खुद अपनी ही आवाम पर 'हंटर' चला रहा है. जी हां महंगाई का 'हंटर'. पेट्रोल-डीजल, दूध, और दूसरी खाने-पीने की चीजों के बाद अब लोगों को सबसे बड़ा झटका लगा है. झटका भी बिजली का झटका.. जिसका करंट दिलों-दिमाग में उतर गया है. दरअसल, इमरान सरकार ने पाकिस्तान में बिजली की कीमतों में भी बड़ा इजाफा किया है.

    अब पाकिस्तान में महंगी हुई बिजली-पाकिस्तान में एक जुलाई से शुरू हुए नए नए वित्त वर्ष की शुरुआत आम आदमी के लिए बेहद खराब रही है. अखबार डॉन न्यूज के मुताबिक, सरकार ने बिजली की दरों में 2.39 रुपये प्रति यूनिट इजाफा करने का आदेश दिया है. इस कदम से आम आदमी पर 7300 करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा. मीडिया रिपोर्ट्स में बताया जा रहा है कि पाकिस्तान में आम आदमी के लिए घर में रोशनी करना भी अब बहुत महंगा साबित होगा. क्योंकि महंगाई के इस दौर में वहां गरीबी और बेरोज़गारी तेजी से बढ़ी है.

    8 साल की रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंची महंगाई-पाकिस्तान की महंगाई दर वित्त वर्ष 2020 (जुलाई 2019-जून 2020) में बढ़कर 10.74 फीसदी हो गई है. आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, पाकिस्तान की महंगाई दर पिछले आठ वर्षों की अधिकतम ऊंचाई पर पहुंच चुकी है.  पाकिस्तान ब्यूरो ऑफ स्टेटिस्टिक (पीबीएस) के मुताबिक, उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) में बढ़ोतरी दर्ज की गई है. अलग-अलग वस्तुओं और सेवाओं के दाम से लेकर शिक्षा, हाउस रेंट, यूटिलिटी बिल्स और खाद्य एवं पेय पदार्थों के दाम बढ़ गए हैं.



    पिछले महीने स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान ने एक रिपोर्ट में कहा था कि पाकिस्तान ने कई वर्षों में सबसे अधिक महंगाई दर देखी है. रिपोर्ट के अनुसार, जनवरी में मुद्रास्फीति की दर 14.6 प्रतिशत तक पहुंच गई थी.इससे पहले वित्त वर्ष 2012 में पाकिस्तान में महंगाई दर 11.0 प्रतिशत थी.

    Tags: Business news in hindi, India pakistan, Pakistan, Pakistan government

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें