लाइव टीवी

भारत के साथ दोस्ती बढ़ाने के लिए पाकिस्तान ने अब अपनाया नया रुख, अब उठाया ये कदम!

hindi.moneycontrol.com
Updated: October 31, 2019, 9:04 AM IST
भारत के साथ दोस्ती बढ़ाने के लिए पाकिस्तान ने अब अपनाया नया रुख, अब उठाया ये कदम!
पाकिस्तान भारत (Pakistan India Relations) के साथ अपनी दोस्ती बढ़ाने की हर कोशिश कर रहा है. अपनी इसी कोशिश के तहत पाकिस्तान ने एक नया कदम उठाया है.

पाकिस्तान भारत (Pakistan India Relations) के साथ अपनी दोस्ती बढ़ाने की हर कोशिश कर रहा है. अपनी इसी कोशिश के तहत पाकिस्तान ने एक नया कदम उठाया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. पाकिस्तान भारत (Pakistan India Relations) के साथ अपनी दोस्ती बढ़ाने की हर कोशिश कर रहा है. अपनी इसी कोशिश के तहत पाकिस्तान ने एक नया कदम उठाया है. पाकिस्तान सरकार ने बुधवार को गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व (Guru Nanak's 550th Birth Anniversary) की याद में चांदी का सिक्का जारी किया है. इस सिक्के का मूल्य 50 रुपए है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने इस सिक्के की फोटो शेयर की है. करतारपुर दरबार साहिब आने वाले क्षद्धालु ये सिक्का खरीद सकते हैं. इस सिक्के पर 550वीं जयंती समारोह श्री गुरुनानक देव जी लिखा है.

इस वजह से लिया गया ये फैसला
पाकिस्तान ने यह फैसला तब किया है जब बीते सप्ताह भारत के साथ करतारपुर कॉरिडोर पर सिखों के लिए मुफ्त धार्मिक वीजा पर समझौता पर हस्ताक्षर हुए हैं. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान करतारपुर कॉरिडोर का 9 नवंबर को उद्घाटन करेंगे. साल 2019 सिख धर्म के संस्थापक गुरुनानक देव की 550वीं जयंती का साल है. गुरु नानक देवजी का जन्म पाकिस्तान में पंजाब प्रांत के ननकाना साहिब में 15 अप्रैल 1469 को हुआ था. इस साल 12 नवंबर को गुरु नानक देव जी का 550वां प्रकाश पर्व मनाया जाएगा.



ये भी पढ़ें: किसानों के लिए खुशखबरी! सिर्फ 20 रुपये में ऐसे खत्म हो जाएगी पराली!

9 नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन कर सकते हैं पीएम मोदी
इमरान खान पाकिस्तान की तरफ से और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत की ओर से 9 नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे. इसी दिन पहला जत्था करतारपुर रवाना होगा. मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह जत्थे की अगुआई करेंगे. गुरुद्वारे में कार्यक्रम के बाद जत्था वापस पंजाब आ जाएगा. गुरुनानक देव ने जीवन के अंतिम क्षण करतारपुर में ही गुजारे थे.  इस कॉरिडोर के जरिए के हर दिन 5,000 श्रद्धालु गुरुद्वारा दरबार साहिब जा सकेंगे.
Loading...

दरअसल जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल 370 हटाने के बाद भारत-पाकिस्तान के बीच पैदा हुए तनाव के बावजूद दोनों देशों ने करतारपुर कॉरिडोर पर सहमति जताई है. करतारपुर कॉरिडोर सिख धर्मावलंबियों के अहम मायने रखता है. करतारपुर में ही गुरु नानक देव ने अपनी जिंदगी के आखिरी साल गुजारे थे.

ये भी पढ़ें: IRCTC ने रेल टिकट के नियमों में किया बदलाव, जान लें वरना होगा भारी नुकसान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 31, 2019, 9:04 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...