Home /News /business /

pan aadhaar mandatory from today for transactions of rs 20 lakh or more nodvkj

आज से बदल गए बैंकिंग नियम, साल में ₹20 लाख से ज्यादा जमा-निकासी पर PAN या आधार जरूरी

20 लाख रुपये की सीमा एक वित्त वर्ष के लिए निर्धारित की गई है.

20 लाख रुपये की सीमा एक वित्त वर्ष के लिए निर्धारित की गई है.

इनकम टैक्स का नया नियम 26 मई से लागू होने जा रहा है, इसके तहत अब एक साल में 20 लाख से अधिक के बैंकिंग ट्रांजैक्शन के लिए नियम कड़े किए गए हैं.

नई दिल्ली. सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज यानी सीबीडीटी (CBDT) ने हाल ही में इनकम टैक्स से जुड़े नियमों में बदलाव किया है. इसके तहत अब एक साल में 20 लाख रुपये या उससे ज्यादा बैंक या पोस्ट ऑफिस में जमा करते हैं या निकालते हैं, तो इसके लिए पैन कार्ड (PAN Card) या आधार (Aadhaar) को अनिवार्य कर दिया गया है. नए नियम 26 मई से लागू होंगे.

सीबीडीटी ने नोटिफिकेशन में कहा कि यह नियम बैंक, पोस्ट ऑफिस या को-ऑपरेटिव सोसायटी में खोले गए एक या फिर उससे ज्यादा सभी अकाउंट्स पर लागू होगा.

ये भी पढ़ें- World Bank ने जताई आर्थिक मंदी की आशंका, इन वजहों से बढ़ेगा ग्लोबल संकट

अभी तक कोई लिमिट नहीं थी
हालांकि अभी तक साल में कैश जमा करने या निकासी के लिए लिमिट तय नहीं थी जिस पर पैन या आधार की जरूरत हो. हालांकि एक दिन में 50 हजार रुपये या उससे ज्यादा की निकासी या जमा पर यह नियम जरूर लागू था.

टैक्स चोरी रोकने में मिलेगी मदद
मनीकंट्रोल की एक खबर के मुताबिक, एकेएम ग्लोबल के टैक्स पार्टनर संदीप सहगल ने बताया कि इस कदम से फाइनेंशियल ट्रांजैक्शन में अधिक पारदार्शिता आने की उम्मीद है. साथ ही इस नियम में चलते अब बैंकों, पोस्ट ऑफिस या को-ऑपरेटिव सोसायटी को 20 लाख रुपये से अधिक के ट्रांजैक्शन की जानकारी देना अनिवार्य होगा. इससे टैक्स चोरी रोकने में मदद मिलेगी.

ये भी पढ़ें- RBI गवर्नर ने दिए संकेत, जून में हो सकती है रेपो रेट में बढ़ोतरी, बढ़ जाएगी आपकी EMI

इसके अलावा किसी बैंक या पोस्ट ऑफिस में करंट अकाउंट या कैश क्रेडिट अकाउंट के लिए भी अब पैन कार्ड या आधार की जानकारी देना जरूरी होगा.

Tags: Aadhaar Card, Bank, CBDT, Pan card

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर