लाइव टीवी

30 करोड़ ने कराया अपने पैन कार्ड को Aadhaar से लिंक! सरकार ने संसद में बताया क्यों जरूरी हैं ऐसा करना

पीटीआई
Updated: February 3, 2020, 4:21 PM IST
30 करोड़ ने कराया अपने पैन कार्ड को Aadhaar से लिंक! सरकार ने संसद में बताया क्यों जरूरी हैं ऐसा करना
आधार और पैन कार्ड को लिंक करने की अंतिम तारीख बढ़ाकर 31 मार्च 2020 कर दी है.

मोदी सरकार ने 27 जनवरी 2020 तक 30 करोड़, 75 लाख 2 हजार 824 लोगों का पैनकार्ड आधार के साथ लिंक (Aadhaar PAN Card Link,) करवाने में सफलता हासिल कर ली है. केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर (Anurag Thakur) ने संसद में पूछे गए सवाल के जवाब में इस बात की जानकारी लोकसभा में दी है.

  • Share this:
नई दिल्ली. मोदी सरकार ने 27 जनवरी 2020 तक 30 करोड़, 75 लाख 2 हजार 824 लोगों का पैनकार्ड आधार के साथ लिंक (Aadhaar PAN Card Link) करवाने में सफलता हासिल कर ली है. केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर (Anurag Thakur) ने संसद में पूछे गए सवाल के जवाब में इस बात की जानकारी लोकसभा में दी है. उन्होंने बताया हैं कि पैन को आधार से जोड़ने का मकसद डुप्लीकेट पैन (Duplicate PAN Card) को छांटकर असली की पहचान करना है. संसद को बताया कि, सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज (CBDT) ने आधार और पैन कार्ड को लिंक करने की अंतिम तारीख बढ़ाकर 31 मार्च 2020 कर दी है. इसके पहले यह तारीख 31 दिसंबर 2019 थी.

एक अन्य सवाल के जवाब में उन्होंने संसद को बताया हैं कि 24 जनवरी 2020 तक 85 फीसदी  सेविंग और करंट बैंक खातों को आधार से लिंक किया जा चुका हैं. साथ ही, 31 दिसंबर 2019 तक National Payments Corporation of India (NCPI) की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, 59.15 करोड़ रुपे कार्ड बैकों ने जारी किए है.

ये भी पढ़ें-नई व्‍यवस्‍था में 85,000 रुपये महीने वेतन पर 37,500 रुपये की Income Tax बचत





सरकार ने बताया क्यों जरूरी है Aaadhaar को PAN कार्ड से लिंक करना- सरकार का कहना हैं कि इसे लिंक करवाने की प्रक्रिया पैन के दुरुपयोग और संभावित टैक्स जालसाजी को रोकने के लिए जरूरी है. साथ ही, इससे मल्टीपल पैन कार्ड बनना भी बंद हो जाएगा.  केंद्र सरकार ने पैन को आधार संख्या के साथ लिंक करने के लिए पहले 30 सितंबर की तारीख तय की थी जिसे बाद में 31 दिसंबर, 2019 तक बढ़ा दिया था.

कैसे लिंक करें अपने आधार को पैन कार्ड के साथ

(1) अगर आप इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की वेबसाइट से आधार-पैन को लिंक नहीं कर पा रहे हैं तो इसके और भी तरीके हैं.

SMS से ऐसे लिंक करें कार्ड
आप सिर्फ एक SMS भेजकर भी अपने आधार पैन को लिंक कर सकते हैं. आपको यह एसएमएस 567678 या 56161 पर भेजना है.

आपको SMS इस तरह भेजना है: UIDPAN<स्पेस><12 अंक का आधार नंबर><स्पेस><10 अंक का पैन नंबर> मसलन अगर आपका आधार नंबर 111122223333 है और पैन नंबर

आधार नंबर को पैन कार्ड से जोड़ने के लिए आपको सबसे ई-फाइलिंग की वेबसाइट (https://incometaxindiaefiling.gov.in/) पर जाना होगा और इन निर्देशों का पालन करना होगा.

जानिए पूरा प्रोसेस

(स्टेप-1) अगर आप पहली बार इस वेबसाइट पर जा रहे हैं तो सबसे पहले **Register Here** पर क्लिक करें. इसके बाद पैन का ब्यौरा देककर ओटीपी वेरिफिकेशन के बाद पासवर्ड बना लें. इसके बाद आपको लॉग इन करना होगा.

(स्टेप-2) अगर आपके पास पहले से अकाउंट है तो सिर्फ **Login here** पर क्लिक करें.

(स्टेप-3)  यूज़रआईडी में आपको अपना पैन नंबर डालना होगा. इसके बाद पासवर्ड, और फिर कैपचा कोड डालें. आखिर में **Login** पर क्लिक कर दें.

(स्टेप-4) इसके बाद एक पॉप अप विंडो सामने आएगा जिसमें आपसे आधार नंबर को लिंक करने को कहा जाएगा. इसके बाद आधार नंबर डालें और फिर कैपचा कोड. आखिर में **Link now** पर क्लिक कर दें.

(स्टेप-5) अगर आपको पॉपअप विंडो नहीं दिखा तो घबराने की बात नहीं. आप अब भी आसानी से दोनों नंबर को लिंक कर सकते हैं. इसके लिए टॉप मेन्यू में नज़र आ रहे प्रोफाइल सेटिंग्स में जाएं. इसके बाद **Link Aadhaar** वाले विकल्प पर क्लिक करें.

(स्टेप-6)  इसके बाद अपना आधार नंबर डालें और फिर **Save** पर क्लिक कर दें.



जरूरी बातें

>> यह तरीका तब ही काम करेगा जब पैन कार्ड और आधार कार्ड के ब्योरे पूरी तरह से मेल खाते हैं. जिन लोगों के दोनों कार्ड के ब्योरे पूरी तरह से मेल नहीं खाते हैं, उनके लिए सरकार ने इस प्रणाली को सरल बनाने की कोशिश की है.

>> अब आपको इसके लिए सिर्फ अपने पैन कार्ड की एक स्कैन प्रति देनी होगी. इसके अलावा कर-विभाग इस संबंध में ऑनलाइन विकल्प देने की भी योजना बना रहा है. वह अपने ई-फाइलिंग पोर्टल पर करदाताओं को आधार जोड़ने का विकल्प देगा.

>>इस विकल्प में उन्हें बिना अपना नाम बदले एक एकबारगी कूटसंदेश (वन टाइम पासवर्ड) का विकल्प चुनना होगा.

>> इस विकल्प का चुनाव करने के लिए उन्हें अपने दोनों दस्तावेजों में उल्लेखित जन्मतिथि उपलब्ध करानी होगी और उनके मिलान पर वह ऑनलाइन आधार से पैन को जोड़ सकेंगे. ऐसा लगता है कि अभी इस विकल्प को उपलब्ध नहीं कराया गया है.

ये भी पढ़ें-विदेश में काम कर रहे भारतीयों के लिए बदले इनकम टैक्स नियम, जानें सबकुछ

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 3, 2020, 3:29 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर