Home /News /business /

panel probing incidents of fire in to submit report on may 30 abhs

इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर्स में आग लगने की घटनाओं की जांच करने वाली कमेटी 30 मई को सौंपेगी रिपोर्ट

इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर्स में आग की जांच रिपोर्ट 30 को मिलेगी.

इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर्स में आग की जांच रिपोर्ट 30 को मिलेगी.

रोड ट्रांसपोर्ट एंड हाईवे मिनिस्ट्री की ओर से इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर्स में आग लगने की कई घटनाओं की जांच के लिए गठित कमेटी 30 मई को अपनी रिपोर्ट सौंपेगी. केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने पिछले दिनों कहा था कि लापरवाही बरतने वाली कंपनियों को दंडित किया जाएगा.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर्स में आग लगने की कई घटनाओं की जांच के लिए रोड ट्रांसपोर्ट एंड हाईवे मिनिस्ट्री की ओर से बनाई गई एक्सपर्ट कमेटी अगले हफ्ते अपनी रिपोर्ट सौंपेगी. एक सीनियर अधिकारी ने यह जानकारी दी है. उन्होंने शुक्रवार को पीटीआई-भाषा को बताया, “एक्सपर्ट कमेटी अपनी रिपोर्ट 30 मई को देगी.”

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने हाल ही में कहा था कि लापरवाही बरतने वाली कंपनियों को दंडित किया जाएगा. रिपोर्ट पेश होने के बाद सभी खराब वाहनों को वापस बुलाने यानी रिकॉल का आदेश दिया जाएगा.

इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर्स में हाल ही में आग लगने की अनेक घटनाएं हुई हैं. इन घटनाओं में कुछ लोगों की मौत हुई, जबकि कई लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. ओला की इलेक्ट्रिक व्हीकल यूनिट के ई-व्हीकल में भी पुणे में आग लगने की घटना हुई थी. उस घटना के बाद सरकार ने पिछले महीने जांच बैठाई थी. रोड ट्रांसपोर्ट एंड हाईवे मिनिस्ट्री के मुताबिक, सेंटर फॉरफार फायर, एनवायरनमेंट एंड एक्सप्लोसिव सेफ्टी (CFEES) से ई व्हीकल में आग लगने की घटना की परिस्थितियों की जांच करने और इस बारे में सुझाव देने को कहा गया है.

ये भी पढ़ें- इलेक्ट्रिक स्कूटरों में आग के चलते इस कंपनी ने टाली डिलीवरी, सरकार कर सकती है पॉलिसी में बदलाव

बाधा पैदा नहीं करना चाहते
केंद्रीय मंत्री गडकरी ने पिछले दिनों कहा था कि कंपनियां खराब वाहनों को ठीक करने के लिए उन्हें वापस मंगाने को लेकर तुंरत कदम उठा सकती हैं. उन्होंने यह भी कहा था कि मार्च, अप्रैल और मई में पारा चढ़ता है, जिससे ईवी बैटरी के कुछ समस्या होती है. उन्होंने आशंका जताई थी कि इलेक्ट्रिक टू व्हीलर्स में आग लगना पारा चढ़ने से जुड़ा है. मंत्री ने कहा था कि सरकार ईवी को लोकप्रिय बनाना चाहती है. गडकरी ने कहा कि ईवी इंडस्ट्री ने अभी काम करना शुरू किया है. सरकार उसके लिए कोई बाधा पैदा नहीं करना चाहती. हालांकि सरकार के लिए सुरक्षा सर्वोच्च प्राथमिकता है और लोगों के जीवन के साथ कोई समझौता नहीं हो सकता है.

डीआरडीओ सौंप चुकी है रिपोर्ट
सरकार ने इस मामले को लेकर डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन (DRDO) को जांच के आदेश दिए थे. उसके बाद डीआरडीओ के सेंटर फॉर फायर एक्सप्लोसिव एंड एनवायरनमेंट सेफ्टी विंग ने एक रिपोर्ट सौंपी है. इस रिपोर्ट में इन स्कूटर्स में आग लगने से पर्दा उठ गया है. बताया जाता है कि जांच में सामने आया है कि जिन बैटरियों में आग लगी थी, उनकी बैटरी पैक डिजाइन और माडयूल में गंभीर समस्या थी.

Tags: Business news in hindi, Electric Scooter, Road and Transport Ministry

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर