Home /News /business /

Parle G, Krackjack बिस्किट की कीमतों में बढ़ोतरी, रस और स्नैक्स भी महंगे

Parle G, Krackjack बिस्किट की कीमतों में बढ़ोतरी, रस और स्नैक्स भी महंगे

पारले अपने सभी प्रोडक्ट जैसे कि बिस्किट (Biscuits), कन्फेक्शनरी (Confectionery), रस (Rusks) और स्नैक (Snacks) की कीमतें बढ़ा रही है.

पारले अपने सभी प्रोडक्ट जैसे कि बिस्किट (Biscuits), कन्फेक्शनरी (Confectionery), रस (Rusks) और स्नैक (Snacks) की कीमतें बढ़ा रही है.

ब्रिटानिया (Britannia) द्वारा अपने प्रोडक्ट्स पर लगभग 4% की वृद्धि करने के बाद अब पारले (Parle) ने भी अपने सभी कैटेगरी के उत्पादों के दामों में बढ़ोतरी करने का फैसला ले लिया है. पारले अपने सभी प्रोडक्ट जैसे कि बिस्किट (Biscuits), कन्फेक्शनरी (Confectionery), रस (Rusks) और स्नैक (Snacks) की कीमतें बढ़ा रही है. पारले जी (Parle G) और क्रैकजैक (Krackjack) की कीमतों में 5 से 10% तक की वृद्धि होने की संभावना है. यदि पारले रस की बात करें तो कंपनी ने 300 ग्राम तक पर ₹10 तक की कीमत वृद्धि की है तो 400 ग्राम पैक में लगभग ₹4 बढ़ाए हैं.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. ब्रिटानिया (Britannia) द्वारा अपने प्रोडक्ट्स पर लगभग 4% की वृद्धि करने के बाद अब पारले (Parle) ने भी अपने सभी कैटेगरी के उत्पादों के दामों में बढ़ोतरी करने का फैसला ले लिया है. ब्रिटानिया ने कीमतों में वृद्धि की वजह लागत में बढ़ोतरी को बताया था तो पारले ने भी यही बात कही है.
    जुलाई से सितंबर वाली तिमाही में भी पारले ने अपने उत्पादों में लगभग 10 से 15% तक की वृद्धि की थी. अब आने वाली दो और तिमाहियों में भी पार्ले की तरफ से इस तरह की वृद्धि की जा सकती है. पारले अपने सभी प्रोडक्ट जैसे कि बिस्किट (Biscuits), कन्फेक्शनरी (Confectionery), रस (Rusks) और स्नैक (Snacks) की कीमतें बढ़ा रही है.

    बिस्किट और रस की कीमतों में कितनी वृद्धि
    यदि हम पारले के बिस्किट सेगमेंट की बात करें तो पारले जी (Parle G) और क्रैकजैक (Krackjack) की कीमतों में 5 से 10% तक की वृद्धि होने की संभावना है. यदि पारले रस की बात करें तो कंपनी ने 300 ग्राम तक पर ₹10 तक की कीमत वृद्धि की है तो 400 ग्राम पैक में लगभग ₹4 बढ़ाए हैं.

    ये भी पढ़ें – मोदी सरकार का बड़ा फैसला, 80 करोड़ लोगों को अगले साल मार्च तक मिलेगा 5 किलो फ्री राशन

    ₹10, ₹20 या ₹30 एमआरपी वाली छोटे पैक्स पर कंपनी ने कीमत नहीं बढ़ाई है, परंतु उसका वजन कम कर दिया है. इस तरह कुल मिलाकर एफएमसीजी की इस बड़ी कंपनी ने प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से अपने हर उत्पाद की कीमत में इजाफा जरूर किया है.

    लागतों में हो रही बढ़ोतरी है इसकी वजह
    पारले ने कहा है कि पिछले काफी समय से लागतों में बहुत ज्यादा बढ़ोतरी हो रही थी. प्रोडक्ट बनाने के लिए कच्चा माल, जो कि मुख्य रूप से पाम ऑयल (palm oil) है, ईयर ऑन ईयर बेसिस पर दोगुने हो चुके हैं. पैकेजिंग और लैमिनेट करने की लागत भी 20 से 35% तक बढ़ चुकी है. पैकेजिंग की बात करें तो कंपनी का कहना है कि पैकिंग मैटेरियल ही कम पड़ रहा है. इसके अवाला ईंधन (fuel) की कीमत भी 25-30 प्रतिशत तक बढ़ी है.

    ये भी पढ़ें – महज 2 दिनों में 3 गुणा हो गया Latent View का स्टॉक, IPO नहीं लॉटरी लग गई

    कन्फेक्शनरी बिजनेस में भी यही हाल है. कंपनी का कहना है कि गेहूं का प्राइस 10 से 15% तक बढ़ गया है तो शुगर के प्राइस भी लगभग 20% तक ऊपर जा चुके हैं. इन सबके चलते कन्फेक्शनरी बिजनेस पर भी असर पड़ा है और कंपनी को कीमतें बढ़ाने के लिए मजबूर होना पड़ा है. इस खबर के बाद कहा जा सकता है कि बढ़ती लागतों की वजह से बाकी FMCG कंपनियां भी अपनी कीमतों में बढ़ोतरी करने को मजबूर होंगी और आने वाले दिनों में हम ऐसा देखेंगे.

    Tags: Inflation, Price Hike

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर