लापरवाही बरतने वाली हवाई उड़ान पर लगेगा एक करोड़ रुपये जुर्माना, संसद में पास हुआ बिल

लापरवाही बरतने वाली हवाई उड़ान पर लगेगा एक करोड़ रुपये जुर्माना, संसद में पास हुआ बिल
हवाई उड़ान के दौरान लापरवाही बरतने वाले हवाई जहाज पर एक करोड़ रुपए जुर्माना लगाया जाएगा, जो कि अभी तक 10 लाख रुपए था.

हवाई जहाज संशोधन बिल 2020 ((The Aircraft (Amendment) Bill, 2020) ) को मंजूरी दी गई. यह साल 1934 के कानून की जगह लेगा. इसमें हवाई उड़ान के दौरान लापरवाही बरतने वाले हवाई जहाज पर एक करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा, जो कि अभी तक 10 लाख रुपये था. यह जुर्माना सभी क्षेत्रों के हवाई उड़ान पर लागू होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 15, 2020, 1:25 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राज्यसभा (Rajya Sabha) ने हवाई जहाज संशोधन बिल 2020 (The Aircraft (Amendment) Bill, 2020) को मंजूरी दे दी है. यह बिल साल 1934 के कानून की जगह लेगा. अब हवाई उड़ान के दौरान लापरवाही बरतने वाले हवाई जहाज पर एक करोड़ रुपये जुर्माना लगाया जाएगा, जो कि अभी तक 10 लाख रुपये था. यह जुर्माना सभी क्षेत्रों के हवाई उड़ान पर लागू होगा. देश के सिविल एविएशन सेक्टर की तीन रेग्यूलेटरी बॉडी डायरेक्ट्रेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन, ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन सिक्योरिटी एंड एयरक्राफ्ट एक्सीडेंट इन्वेस्टिगेशन ब्यूरो को ज्यादा प्रभावशाली बनाने में मदद करेगा.

हवाई उड़ानों की सुरक्षा और सिक्योरिटी होगी और बेहतर - यह संशोधन एविएशन सेक्टर में रेगुलेशन को और ज्यादा प्रभावशाली बनाएगा. इसके अलावा इस नियम के आने से यह संशोधन इंटरनेशनल सिविल एविएशन ऑर्गेनाइजेशन (आईसीएओ) के प्रावधानों को भी पूरा करने का काम करेगा. इससे देश की हवाई उड़ानों की सेफ्टी और सिक्योरिटी को बढ़ाने में मदद मिलेगी.

साथ ही देश के सिविल एविएशन सेक्टर की तीन रेग्यूलेटरी बॉडी डायरेक्ट्रेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन, ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन सिक्योरिटी एंड एयरक्राफ्ट एक्सीडंट इन्वेस्टिगेशन ब्यूरो को ज्यादा प्रभावशाली बनाने में मदद करेगा. इससे देश की हवाई उड़ानों की सेफ्टी और सिक्योरिटी को बढ़ाने में मदद मिलेगी.



पिछले हफ्ते DGCA ने जारी किया नया निर्देश- DGCA ने अपने नए निर्देश में कहा, “शेड्यूल फ्लाइट्स में उड़ान भरते और उतरते समय बोनाफाइड यात्री (फ्लाइट में रहते समय) विमान के अंदर से वीडियो फोटोग्राफी कर सकते हैं. हालांकि, इस अनुमति में किसी भी ऐसे रिकॉर्डिंग उपकरण की मनाही है, जिससे हवाई सुरक्षा को खतरा हो और नियमों का उल्लंघन होता हो. साथ ही ये उड़ान के संचालन के दौरान अराजकता या व्यवधान पैदा करता हो या चालक दल की तरफ से स्पष्ट रूप से प्रतिबंध किया गया हो. उपरोक्त दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करने वाले व्यक्तियों के खिलाफ कार्रवाई शुरू की जा सकती है.”
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज