• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • Ruchi Soya के शेयर में उछाल, पाम ऑयल पर आयात शुल्‍क घटने से आई तेजी, आगे कैसा रहेगा स्‍टॉक का रुख

Ruchi Soya के शेयर में उछाल, पाम ऑयल पर आयात शुल्‍क घटने से आई तेजी, आगे कैसा रहेगा स्‍टॉक का रुख

पतंजलि ने 2019 में रुचि सोया का अधिग्रहण किया था.

पतंजलि ने 2019 में रुचि सोया का अधिग्रहण किया था.

देश की बड़ी खाद्य तेल उत्‍पादक कंपनियों में शामिल रुचि सोया (Ruchi Soya) का पतंजलि ने 2019 में अधिग्रहण किया था. आज इस कंपनी का स्‍टॉक 2.26 फीसदी उछाल (Stock Jumped) के साथ 1068 रुपये पर बंद हुआ है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्‍ली. पतंजलि (Patanjali) की सहयोगी कंपनी रुचि सोया के स्‍टॉक्‍स (Ruchi Soya Shares) ने आज यानी 13 सितंबर 2021 को शानदार प्रदर्शन किया. नेशनल स्‍टॉक एक्‍सचेंज (NSE) पर आज रुचि सोया का शेयर 2.26 फीसदी की बढ़त के साथ 1,068 रुपये पर बंद हुआ. दिन के कारोबार के दौरान इसमें 3 फीसदी से ज्‍यादा तक की तेजी दर्ज की गई. दरअसल, केंद्र सरकार ने पाम ऑयल (Palm Oil), सोया ऑयल (Soya Oil) और सनफ्लावर ऑयल (Sunflower Oil) पर आयात शुल्‍क (Import Duty) घटाने की घोषणा कर दी है. इससे रुचि सोया के स्टॉक्स में सोमवार को तेजी आई. देश की बड़ी खाद्य तेल कंपनियों में शुमार रुचि सोया को पतंजलि ने 2019 में करीब 4,350 करोड़ रुपये में खरीदा था.

    कहां तक जा सकता है रुचि सोया का स्‍टॉक
    रुचि सोया असम, त्रिपुरा समेत पूर्वोत्तर राज्यों में पाम ऑयल के उत्‍पादन के लिए प्लांटेशन शुरू करने की योजना पर काम कर रही है. रुचि सोया को हाल में पूंजी बाजार नियामक सेबी (SEBI) से 4,300 करोड़ रुपये के फॉलो-ऑन पब्लिक ऑफर (FPO) के लिए अनुमति मिली थी. विशेषज्ञों का कहना है कि यह स्टॉक बड़ी रैली के बाद सुस्त पड़ा है. वीकली चार्ट्स पर यह 1,000-1,150 रुपये की रेंज में है. अगर यह इस रेंज को तोड़ने में सफल होता है तो यह 1,350-1,400 रुपये के स्‍तर पर जा सकता है. पतंजलि ने इस कंपनी को इनसॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी कोड (IBC) प्रोसेस में खरीदा था. कंपनी का न्यूट्रेला ब्रांड सबसे ज्‍यादा लोकप्रिय है.

    ये भी पढ़ें- OLA देगी 10 हजार से ज्‍यादा महिलाओं को नौकरी, सिर्फ महिला कर्मी चलाएंगी दुनिया का सबसे बड़ा ई-स्‍कूटर प्‍लांट

    किस पर कितना घटाया गया है आयात शुल्‍क
    केंद्र सरकार ने कच्चे पाम ऑयल पर बेस इम्पोर्ट ड्यूटी 10 फीसदी से घटाकर 2.5 फीसदी कर दी है. इसके अलावा सोया ऑयल और सनफ्लावर ऑयल पर यह 7.5 फीसदी से घटकर 2.5 फीसदी हो गई है. पाम ऑयल, सोया ऑयल और सनफ्लावर ऑयल के रिफाइंड ग्रेड्स पर बेस इम्पोर्ट ड्यूटी को 37.5 फीसदी से घटाकर 32.5 फीसदी कर दिया गया है. बता दें कि देश में खाद्य तेल की मांग का दो-तिहाई से ज्‍यादा आयात के जरिये पूरा किया जाता है. पाम ऑयल का इंडोनेशिया व मलेशिया और सोया व सनफ्लावर ऑयल का अर्जेंटीना, यूक्रेन, ब्राजील तथा रूस से आयात किया जाता है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज