ईमानदार टैक्सपेयर्स को VIP बनाएगी सरकार, फ्री में देगी ये सुविधाएं

अगर आप अपना टैक्स ईमानदारी से भरते हैं, तो आप सरकार के मेहमान बन सकते हैं. सिर्फ मेहमान ही नहीं, बल्क‍ि सरकार आपको कई अन्य सुविधाएं भी देगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 10, 2018, 6:54 PM IST
  • Share this:
अगर आप अपना टैक्स ईमानदारी से भरते हैं, तो आप सरकार के मेहमान बन सकते हैं. सिर्फ मेहमान ही नहीं, बल्क‍ि सरकार आपको कई अन्य सुविधाएं भी दी देगी. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के सूत्रों के मुताबिक इस मामले में सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्स (CBDT) के अंतर्गत एक कमेटी का गठन किया है, जो इस मामले में अपनी रिपोर्ट देगी. सरकार के इस कदम का उद्देश्य टैक्सपेयर और सरकार के बीच विश्वास बढ़ाना है.

सरकार ने कालाधन निकालने के लिए कई तरह के कदम उठाए हैं. इसमें बेनामी कानून बनाया गया. अब सरकार को लगता है कि ईमानदार टैक्सपेयर्स को ईनाम देना चाहिए. इससे ज्यादा से ज्यादा लोग टैक्स भरेंगे. CBDT की कमेटी रिवॉर्ड प्रोग्राम पर काम करेगी. इसके तहत ज्यादा टैक्स भरना चुनने की शर्त नहीं होगी. समय पर टैक्स भरने वाले, जिन पर पेनल्टी नहीं लगी है और छापा नहीं पड़ा है ऐसे लोगों को चुना जाएगा.

ये भी पढ़ें: 300 रुपये रोज़ कमाने वाले को भी नहीं मिलेगा 5 लाख रुपये का मुफ्त इंश्योरेंस, अपना स्टेटस ऐसे करें पता



इस तरह से जापान, फिलीपिंस और दक्षिण कोरिया जैसे देशों में टैक्स भरने वालों का सम्मान किया जाता है. जापान में इस तरह के टैक्सपेयर का वहां के राजा के साथ फोटो खिंचवाया जाता है. दक्षिण कोरिया में ईमानदार टैक्सपेयर्स को एयरपोर्ट पर VIP कमरे और फ्री पार्किंग की सुविधा मिलती है.
रिपोर्ट के मुताबिक इस प्रोग्राम के तहत आपको राज्य के गवर्नर के साथ चाय पीने का मौका मिलेगा. यही नहीं, आपको एयरपोर्ट पर प्रायोरिटी चेक की सुविधा मिलेगी. इससे आपका समय बचेगा. इसके अलावा टोल प्लाजा पर ईमानदार टैक्सपेयर्स की खातिर एक अलग टोल लेन लगी होगी. जहां से गुजर कर आप अपना समय बचा सकते हैं. इसके अलावा आपको एयरपोर्ट लाउंज एक्सेस भी मिलेगी.

ये भी पढ़ें: पेट्रोल-डीजल के बाद, अब एयर फ्यूल के दाम में कटौती कर सकती है सरकार

आप अपना पासपोर्ट बनवाते हैं, तो आापको दूसरों के मुकाबले पहले पासपोर्ट मिलेगा. इस इंसेंट‍िव प्रोग्राम के तहत मिलने वाली सुविधाओं में से ये कुछ हैं. यह लिस्ट लंबी हो सकती है. रिपोर्ट की मानें तो मॉडल टैक्सपेयर्स की जो परिभाषा तय की जाएगी, वह उसने कितनी रकम टैक्स में भरी, इससे नहीं होगी. बल्कि आप हमेशा टैक्स टाइम पर भरते हैं या नहीं. आप पर जुर्माना तो नहीं लगा है. आपके ख‍िलाफ सर्च और सर्वे की कार्रवाई तो नहीं की गई है. इन सब चीजों की जांच करने के बाद ही आपको फायदा दिया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज