Home /News /business /

Cryptocurrency के समर्थन में आए Paytm के मालिक विजय शेखर, बताया जीवन का हिस्सा

Cryptocurrency के समर्थन में आए Paytm के मालिक विजय शेखर, बताया जीवन का हिस्सा

विजय शेखर शर्मा ने क्रिप्टो के अस्तित्व के सवाल पर कहा कि क्रिप्टोकरेंसी का अस्तित्व समाप्त होने वाला नहीं है.

विजय शेखर शर्मा ने क्रिप्टो के अस्तित्व के सवाल पर कहा कि क्रिप्टोकरेंसी का अस्तित्व समाप्त होने वाला नहीं है.

फिनटेक कंपनी पेटीएम (Paytm) के संस्थापक विजय शेखर शर्मा (Vijay Shekhar Sharma) ने आईसीसी (Indian Chamber Of Commerce) के एक कार्यक्रम में कहा कि क्रिप्टोकरेंसी असल में क्रिप्टोग्राफी (Cryptography) पर आधारित है. क्रिप्टोग्राफी (Cryptography) इस डिजिटल करेंसी के सुरक्षा प्रदान करती है. उन्होंने कहा कि आगे वाले कुछ सालों में क्रिप्टोकरेंसी भी इंटरनेट की तरह लोगों के जीवन का एक हिस्सा बन जाएगी.

अधिक पढ़ें ...

    Cryptocurrency in India: क्रिप्टोकरेंसी के लेकर भारत में बहस छिड़ी हुई है. सरकार इस पर नेकल कसने की तैयारी में है. हालांकि ज्यादातर लोग इसे कानूनी दायरे से बाहर रखने की वकालत कर रहे हैं. इन तमाम अटकलों के बाद भी भारत में क्रिप्टो का बाजार लगातार बढ़ता ही जा रहा है. खासकर नौजवानों में इस डिजिटल करेंसी (Digital Currency) को लेकर खासा उत्साह देखने को मिल रही है.

    क्रिप्टोकरेंसी के समर्थन में डिजिटल पेमेंट ऐप (Digital Payment App) पेटीएम के संस्थापक विजय शेखर शर्मा (PayTM Founder Vijay Shekhar Sharma) भी आ गए हैं. विजय शेखर का कहना है कि अगले 5-7 सालों में क्रिप्टोकरेंसी हमारे जीवन का एक हिस्सा बन जाएगी.

    विजय शेखर शर्मा ने बताई वजह
    फिनटेक कंपनी पेटीएम (Paytm) के संस्थापक विजय शेखर शर्मा ने आईसीसी (Indian Chamber Of Commerce) के एक कार्यक्रम में कहा कि क्रिप्टोकरेंसी असल में क्रिप्टोग्राफी (Cryptography) पर आधारित है. क्रिप्टोग्राफी इस डिजिटल करेंसी के सुरक्षा प्रदान करती है. उन्होंने कहा कि आगे वाले कुछ सालों में क्रिप्टोकरेंसी भी इंटरनेट की तरह लोगों के जीवन का एक हिस्सा बन जाएगी.

    Cryptocurrency in India: क्रिप्टो को कानून के दायरे में लाने के खिलाफ हैं 54 फीसदी भारतीय

    नहीं खत्म होगा क्रिप्टो का अस्तित्व
    विजय शेखर शर्मा ने क्रिप्टो के अस्तित्व के सवाल पर कहा कि क्रिप्टोकरेंसी का अस्तित्व समाप्त होने वाला नहीं है. यह कहीं नहीं जाने वाली है, बल्कि धीरे-धीरे यह लोगों के जीवन का एक हिस्सा बन जाएगी.

    Cryptocurrency Price Today: Bitcoin और Dogecoin में उछाल

    उन्होंने कहा कि भारत सरकार अभी क्रिप्टो को लेकर संशय में है लेकिन आने वाले 5 सालों में यही करेंसी मेनस्ट्रीम टेक्नोलॉजी होगी.

    क्रिप्टोकरेंसी को कानून के दायरे में लाने के लिए भारत में विधेयक लाने की तैयारी चल रही है. भारतीय रिजर्व बैंक भी क्रिप्टो के गलत इस्तेमाल को लेकर आशंका जता चुका है.

    Paytm Share में भारी गिरावट के बाद भी इन कंपनियों ने बड़ी संख्‍या में खरीदे स्‍टॉक्‍स

    इस बारे में पेटीएम संस्थापक विजय शेखर शर्मा ने कहा कि इस डिजिटल मुद्रा के बारे में इस समय भ्रम की स्थिति है. भारत ही नहीं दुनिया की हर सरकार इसे लेकर संशयग्रस्त है. लेकिन अगले पांच वर्षों में यह मुख्यधारा की प्रौद्योगिकी बन जाएगी.

    life insurance पॉलिसी लेते समय इन बातों का रखें ध्यान, फायदे में रहेंगे

    प्रचलित मुद्रा के स्थान पर क्रिप्टो के इस्तेमाल के सवाल पर उन्होंने कहा कि नहीं, वर्तमान में प्रचलित मुद्रा का स्थान क्रिप्टो कभी नहीं ले सकती है.

    सरकार ला रही है क्रिप्टोकरेंसी बिल (Cryptocurrency Bill)
    29 नवंबर से संसद का शीतकालीन सत्र शुरू होने जा रही है. केंद्र सरकार संसद के शीतकालीन सत्र में क्रिप्टोकरेंसी एवं आधिकारिक डिजिटल मुद्रा विनियमन विधेयक 2021 (Cryptocurrency and Regulation of Official Digital Currency Bill, 2021) पेश करेगी. इस बिल के माध्यम से सरकार रिजर्व बैंक इंडिया के तहत एक आधिकारिक क्रिप्टोकरेंसी जारी करने के लिए आसान फ्रेमवर्क तैयार करने की योजना बना रही है. इसकी तकनीक और इस्तेमाल को लेकर भी तैयारी की जा रही है. साथ ही, इस बिल के तहत ऐसा प्रावधान लाया जाएगा, जिससे सारी निजी क्रिप्टोकरेंसी पर प्रतिबंध लग जाएगा.

    Tags: Cryptocurrency, Digital India, Paytm

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर