Paytm ने फिर शुरू की कैशबैक स्‍कीम, इसी वजह से Google ने हफ्तेभर पहले लगाया था BAN, क्‍या फिर होगी कार्रवाई?

पेमेंट ऐप Paytm ने एक बार फिर आईपीएल से जुड़ी कैशबैक स्‍कीम शुरू कर दी है.
पेमेंट ऐप Paytm ने एक बार फिर आईपीएल से जुड़ी कैशबैक स्‍कीम शुरू कर दी है.

गूगल इंडिया (Google India) ने ऑनलाइन पेमेंट ऐप पेटीएम (Paytm) को नियमों के उल्‍लंघन का आरोप लगाते हुए प्‍ले स्‍टोर (Play Store) से हटा दिया था. इसके बाद दोनों के बीच आरोप-प्रत्‍यारोप का दौर चलता रहा. गूगल ने आरोप लगाया कि पेटीएम ने ऐप डेवलपर्स के लिए तय गैम्‍बलिंग गाइडलाइंस (Gambling Guidelines) का उल्‍लंघन किया है. अब पेटीएम ने फिर आईपीएल से जुड़ी कैशबैक स्‍कीम शुरू कर दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 28, 2020, 9:31 PM IST
  • Share this:
बेंगलुरु. गूगल प्‍ले स्‍टोर (Google Play Store) से अस्‍थायी तौर पर हटाए जाने के एक हफ्ते बाद ही पेमेंट ऐप पेटीएम (Paytm) ने इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) से जुड़ी कैशबैक स्‍कीम (Cashback Scheme) दोबारा शुरू कर दी है. पेटीएम ने आरोप लगाया था कि कैशबैक स्‍कीम के कारण उसे एंड्रॉयड प्‍ले स्‍टोर से हटाया गया था. हालांकि, गूगल ने पेटीएम को प्‍ले स्‍टोर से हटाते समय आरोप लगाया था कि पेमेंट ऐप ने गैम्‍बलिंग को लेकर ऐप डेवलपर्स के लिए उसके दिशानिर्देशों (Gambling Guidelines) का उल्‍लंघन किया है.

पेटीएम क्रिकेट लीग में किए कुछ बदलाव, अनुभव पहले जैसा ही
पेटीएम ने कैशबैक स्‍कीम को दोबारा शुरू करते हुए कहा है कि हमने स्‍कीम में कुछ बदलाव कर दिए हैं ताकि हमारा क्रिकेट सेलिब्रेशन जारी रखा जा सके. हालांकि, यूजर्स के लिए 'पेटीएम क्रिकेट लीग' (Paytm Cricket League) का अनुभव पहले जैसा ही रहेगा. यूजर्स को हर लेनदेन (Transaction) पर सरप्राइज प्‍लेयर स्‍टीकर्स (Player Stickers) मिलते रहेंगे, जिसके आधार पर उन्‍हें कैशबैक मिलता रहेगा. बता दें कि गूगल ने 18 सितंबर को प्‍ले स्टोर से पेटीएम ऐप को हटाते हुए कहा था कि वह किसी भी गैंबलिंग (जुआ खेलने वाले) ऐप का समर्थन नहीं करता है. जुए से जुड़ी उसकी नीतियों का उल्लंघन करने के कारण पेटीएम पर यह कार्रवाई की गई है.

ये भी पढ़ें- ई-चालान को लेकर सरकार ने बदले नियम! सड़क पर रोककर चेक नहीं किए जाएंगे डॉक्‍युमेंट्स, जानें नए Rules
गूगल ने कहा था, हम ऑनलाइन कैसिनो की नहीं देते अनुमति


गूगल के बैन के बाद One97 Communication Ltd. का यूपीआई ऐप पेटीएम प्‍ले स्‍टोर पर सर्च करने पर नहीं दिख रहा था. हालांकि, पहले से Android स्मार्टफोन्स में इंस्टॉल्ड ऐप काम कर रहा था. गूगल ने अपने ब्लॉग में लिखा था कि हम ऑनलाइन कैसिनो की अनुमति नहीं देते हैं. हम किसी भी ऐसे ऐप का समर्थन नहीं करते हैं जो किसी उपभोक्ता को किसी दूसरी वेबसाइट पर ले जाता हो. अगर कोई ऐप किसी ऐसी वेबसाइट पर कस्टमर को ले जाता है, जहां नकद पुरस्कार जीतने के लिए किसी टूर्नामेंट में भाग ले सकते हैं. गूगल किसी भी ऐप को ऐसा करने की अनुमति नहीं देता है और ऐसा करना गूगल नीतियों का उल्लंघन है.

ये भी पढ़ें- अमेजन समय से पहले शुरू कर रहा है Prime Day Event, 13 और 14 अक्‍टूबर को मिलेगी बंपर छूट



पेटीएम ने गूगल पर ऐसी ही स्‍कीम चलाने का लगाया थ आरोप
पेटीएम ने पलटवार करते हुए दावा किया कि भारत में वैध होने के बाद भी गूगल ने उसे कैशबैक की पेशकश हटाने के लिए मजबूर किया है. पेटीएम ने आरोप लगाया कि गूगल की भुगतान सेवा 'गूगल पे' (Google Pay) खुद क्रिकेट पर आधारित ऐसी ही पेशकश कर रही है. इस पर गूगल ने कहा कि सिर्फ कैशबैक (Cashback) और वाउचर गूगल प्ले की सट्टेबाजी से जुड़ी नीतियों (Betting Policy) का उल्लंघन नहीं हैं. साथ ही कहा कि अगर पेटीएम नीतियों का आगे भी उल्लंघन करेगा तो गूगल प्ले डेवलपर अकाउंट को सस्‍पेंड किया जा सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज