Home /News /business /

क्या इस वजह से सोनिया धवन को फंसाया जा रहा है? Paytm ब्लैकमेलिंग मामले में नया मोड़

क्या इस वजह से सोनिया धवन को फंसाया जा रहा है? Paytm ब्लैकमेलिंग मामले में नया मोड़

जांच अधिकारी एसएसपी डॉ. अजयपाल शर्मा ने बताया कि दस साल पहले सोनिया ने पेटीएम में नौकरी शुरू की थी. उस वक्त सोनिया ने कंपनी में दस करोड़ की हिस्सेदारी मांगी थी. इस वजह से सोनिया खुद की कंपनी को आगे बढ़ाने में अहम भूमिका मानती है. देवेंद्र और सोनिया ने दस साल पहले एक साथ इस कंपनी में नौकरी शुरु की थी. देवेंद्र का कंपनी में कोई प्रमोशन नहीं हुआ, जबकि सोनिया प्रमोशन पाकर शेखर की पर्सनल सेक्रेटरी बन गई थी. (फोटो साभार: फेसबुक)

जांच अधिकारी एसएसपी डॉ. अजयपाल शर्मा ने बताया कि दस साल पहले सोनिया ने पेटीएम में नौकरी शुरू की थी. उस वक्त सोनिया ने कंपनी में दस करोड़ की हिस्सेदारी मांगी थी. इस वजह से सोनिया खुद की कंपनी को आगे बढ़ाने में अहम भूमिका मानती है. देवेंद्र और सोनिया ने दस साल पहले एक साथ इस कंपनी में नौकरी शुरु की थी. देवेंद्र का कंपनी में कोई प्रमोशन नहीं हुआ, जबकि सोनिया प्रमोशन पाकर शेखर की पर्सनल सेक्रेटरी बन गई थी. (फोटो साभार: फेसबुक)

सोनिया धवन के वकील के दावे से केस में नया मोड़ आ गया है. कंपनी की वाइस प्रेसिडेंट रही सोनिया के वकील प्रशांत त्रिपाठी ने दावा किया है कि सोनिया को भी धमकी भरे फोन कॉल आए थे.

    पेटीएम संस्थापक विजय शेखर शर्मा से 20 करोड़ रुपये की रंगदारी मांगने के मामले में गिरफ्तारी हुई सोनिया धवन के वकील के दावे से केस में नया मोड़ आ गया है. कंपनी की वाइस प्रेसिडेंट रही सोनिया के वकील प्रशांत त्रिपाठी ने दावा किया है कि सोनिया को भी धमकी भरे फोन कॉल आए थे. पेटीएम के मालिकों ने उनसे कंपनी में अपना हिस्सा बेचने का दबाव बनाया. इसकी शिकायत कुछ दिन पहले कोतवाली सेक्टर 39 पुलिस से की गई थी, लेकिन पुलिस ने उस दौरान कोई कार्रवाई नहीं की थी.

    सोनिया की हिस्सेदारी- वन97 कॉम्युनिकेशंस में सोनिया को स्टॉक ऑप्शन प्लान (ESOPs) के तहत 0.04 फीसदी शेयर मिले थे. वहीं, पेटीएम ई-कॉमर्स  में 0.02 फीसदी हिस्सा है. इसकी मौजूदा कीमत करीब 3.2 करोड़ रुपये बताई जा रही है.(ये भी पढ़ें-Paytm पर 100 रुपये से करें शुरू बैंकों से ज्यादा मुनाफा देने वाली ये स्कीम, ये है प्रोसेस)

    सोनिया धवन (तस्वीर- फेसबुक पेज)


     वकील का कहना है कि यह घटना करीब 15 दिन पहले की है. कॉल करने वाले ने सोनिया धवन को बताया था कि उसे किसी ने कागज पर उसका मोबाइल नंबर लिख कर दिया था. उसने धमकी दी थी कि  अगर 5 करोड़ रुपये नहीं दिए तो पति रूपक जैन और बेटे की हत्या कर दी जाएगी. उस दौरान सोनिया ने पुलिस से शिकायत की थी और आरोपित को पकड़कर कार्रवाई की मांग की थी. (ये भी पढ़ें-एक महीने पहले ही Paytm में वाइस प्रेसिडेंट बनी थीं सोनिया, फिर अचानक क्या हुआ?)



    वकील का कहना है कि सोनिया कंपनी की पुरानी कर्मचारी रही है. उसका कंपनी में शेयर भी है. उनका कहना है कि कंपनी में अच्छी परफॉरमेंस के कारण ही उन्हें एक माह पहले ही वाइस प्रेसिडेंट के पद पर प्रमोशन दिया गया था.

    सोनिया धवन ने अपनी काबिलियत से कंपनी को काफी फायदा पहुंचाया. उन पर जो आरोप लगे हैं, वह गलत है. उन्होंने कंपनी का कोई गोपनीय डाटा नहीं चोरी किया है. उन्हें साजिश के तहत फंसाया गया है.

    एसएसपी डॉ अजय पाल शर्मा का कहना है कि रंगदारी मांगने की कोई शिकायत सोनिया धवन की तरफ से पहले पुलिस को नहीं मिली है. अगर उनकी तरफ से कोई शिकायत दी गई है तो उसकी कॉपी प्रस्तुत करें.



    क्या है मामला-पेटीएम के फाउंडर विजय शेखर शर्मा और उनके भाई अजय शेखर को ब्लैकमेल करने का मामला सामने आया है. आरोप है कि सेक्रेटरी सोनिया धवन ने डेटा चोरी कर उसे सार्वजनिक करने की धमकी दी. इसके एवज में 20 करोड़ रुपए की मांग रखी. पुलिस ने सोनिया समेत 3 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. एक आरोपी फरार बताया जा रहा है. अजय शेखर के मुताबिक, 20 सितंबर को पहली बार थाईलैंड के वर्चुअल नंबर से डेटा लीक करने के लिए धमकी भरा फोन आया था दूसरे दिन उसी नंबर से विजय के पास भी फोन आया.

    ऐसे हुआ खुलासा-अजय शेखर ने बताया कि ब्लैकमेल करने वाले कोलकाता के आरोपी रोहित चोमल को पैसे देने के बाद नोएडा पुलिस को जानकारी दी गई. पड़ताल में पता चला कि सोनिया, रूपक और कंपनी का एडमिन देवेंद्र तीनों मिलकर रोहित के साथ इस साजिश में शामिल हैं. इसलिए सेक्टर-20 थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई.

    Tags: Business news in hindi, Paytm, Paytm founder, Paytm’s Vijay Shekhar Sharma

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर