लाइव टीवी

बैंकिंग सेवओं को लेकर सबसे अधिक इस बात की शिकायत करते हैं लोग, जानिए क्या है RBI का नियम

News18Hindi
Updated: January 13, 2020, 9:12 PM IST
बैंकिंग सेवओं को लेकर सबसे अधिक इस बात की शिकायत करते हैं लोग, जानिए क्या है RBI का नियम
बैंकिंग सेवाएं

एक रिपोर्ट से पता चलता है कि भारत में लोग बैंकिंग सेवाओं को लेकर खुश नहीं हैं. लोगों को बैं​क से जुड़ी कई सेवाओं को लेकर शिकायतें हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 13, 2020, 9:12 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. बीते एक साल के दौरान बैंकिंग सेवाओं से जुड़ी शिकायतों में जबरदस्त वृद्धि हुई है. पिछले साल अप्रैल से नवंबर के बीच उपभोक्ताओं की शिकायतों में 40 फीसदी से अधिक का इजाफा हुआ. इनमें बिना इजाजत के विभिन्न सेवाओं के नाम पर पैसा काट लेना, कटौती के बाद भी ऋण पर ब्याज न घटाना, क्रेडिट कार्ड के साथ बिना इजाजत इंश्योरेंस पॉलिसी भेज देना, एटीएम से पैसा नहीं निकलने के बावजूद खाते से राशि कट जाना जैसी शिकायतें सबसे ज्यादा रहीं. अधिकांश शिकायतें बैंकों द्वारा विभिन्न सेवाओं के लिए शुल्क को लेकर हैं.

क्या कहता है सरकारी आंकड़ा
उपभोक्ता मंत्रालय के एकीकृत शिकायत निवारण तंत्र (इनग्राम) पर बैंक सेवाओं को लेकर शिकायतों में वृद्धि हुई है. मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, पिछले साल अप्रैल में बैंकिंग सेवाओं को लेकर 5,577 शिकायत मिली थीं. अक्तूबर में यह आंकड़ा 7100 जबकि नवंबर में बढ़कर 7600 को पार कर गया.

यह भी पढ़ें: अब लोन लेना और भी होगा आसान, मोबाइल पेमेंट हिस्ट्री से भी बन जाएगा काम

​फीस निर्धारण की​ जिम्मेदारी बैंक के पास
मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि बैंक खाताधारकों की शिकायतों को संबंधित बैंकों को भेज दिया जाता है. इसके बाद शिकायतों के निवारण का बैंकों से फॉलोअप भी लिया जाता है. हालांकि, कई खाताधारकों का मानना है कि बैंक शिकायतों को गंभीरता से नहीं लेते, क्योंकि रिजर्व बैंक ने सेवाओं के लिए फीस तय करने की जिम्मेदारी बैंकों को दे रखी है.

आरबीआई को शिकायत के लिए पोर्टल बनाना चाहिए. इससे उपभोक्ता भी शिकायत पर होने वाली कार्रवाई पर नजर रख सकेंगे. 

यह भी पढ़ें:  मोदी सरकार का मलेशिया समेत 4 देशों को बड़ा झटका, 5 साल तक चुकाएंगे कीमत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 13, 2020, 9:11 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर