कोरोना संकट के बीच गोल्‍ड ईटीएफ ने रचा इतिहास! सितंबर तिमाही में हुआ तगड़ा निवेश

कोरोना संकट के बीच लोगों ने गोल्‍ड को अपने निवेश पोर्टफोलिया में खास जगह दी.
कोरोना संकट के बीच लोगों ने गोल्‍ड को अपने निवेश पोर्टफोलिया में खास जगह दी.

एसोसिएशन ऑफ म्‍यूचुअल फंड्स इन इंडिया (AMFI) के आंकड़ों के मुताबिक, पिछले साल सितंबर में गोल्‍ड ईटीएफ (Gold ETF) की टोटल एसेट्स अंडर मैनेजमेंट (Total AUM) 5,613 करोड़ रुपये थीं, जो इस साल 30 सितंबर तक बढ़कर 13,590 करोड़ रुपये हो गई हैं. सितंबर 2020 तिमाही में लोगों ने गोल्‍ड ईटीएफ में 2,426 करोड़ रुपये का तगड़ा निवेश किया, जो पिछले साल की सितंबर तिमाही के मुकाबले 14 गुना ज्‍यादा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 31, 2020, 5:00 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस (Coronavirus Crisis) और अमेरिकी चुनावों (US Elections) के कारण अनिश्चितता से भरे आर्थिक माहौल में लोग जोखिम लेने से कतरा रहे हैं. ज्‍यादातर लोग निवेश के सुरक्षित विकल्‍पों की ओर रुख कर रहे हैं. इसी कड़ी में सितंबर तिमाही के दौरान निवेशकों ने गोल्‍ड ईटीएफ (Gold ETF) में 2,426 करोड़ रुपये का शुद्ध निवेश (Net Inflow) किया है. एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (AMFI) के आंकड़ों के मुताबिक, निवेशकों ने सितंबर 2019 तिमाही के दौरान गोल्‍ड ईटीएफ में 172 करोड़ रुपये लगाए थे.

पोर्टफोलिया का अहम हिस्‍सा बन गया है गोल्‍ड ईटीएफ
गोल्‍ड ईटीएफ में इस साल अब तक 5,957 करोड़ रुपये का निवेश आ चुका है. एएमएफआई के आंकड़ों के मुताबिक, 30 सितंबर 2020 को खत्‍म हुई तिमाही में निवेशकों ने गोल्‍ड ईटीएफ में कुल 2,426 करोड़ रुपये का निवेश किया. इस साल गोल्‍ड निवेशकों के पोर्टफोलियो में सबसे अहम हिस्‍सा रहा है. गोल्‍ड ने लोगों को मुश्किल हालात में भी लोगों को अच्‍छा रिटर्न दिया है. इसी साल नहीं गोल्‍ड ने 2019 में भी निवेशकों को शानदार रिटर्न दिया था. इसलिए लोग गोल्‍ड को सबसे सुरक्षित निवेश विकल्‍प मान रहे हैं.

ये भी पढ़ें- कल से बदल जाएंगे आपकी जिंदगी से जुड़े ये नियम, आम आदमी की जेब पर पड़ेगा सीधा असर
गोल्‍ड ईटीएफ सबसे तगड़ा निवेश फरवरी 2020 में हुआ


इस साल गोल्‍ड ईटीएफ में सबसे बड़ा निवेश फरवरी में दर्ज किया गया. निवेशकों ने फरवरी 2020 के दौरान गोल्‍ड ईटीएफ में 1,483 करोड़ रुपये लगाए. इससे पहले जनवरी में निवेशकों ने गोल्‍ड ईटीएफ में 2020 करोड़ रुपये का शुद्ध निवेश किया. वहीं, मार्च के दौरान लोगों ने मुनाफावसूली की और 195 करोड़ रुपये वापस खींच लिए. कोरोना वायरस संकट के बीच अप्रैल के दौरान गोल्‍ड ईटीएफ में 731 करोड़ रुपये का निवेश हुआ. फिर मई में 815 करोड़ रुपये, जून में 494 करोड़, जुलाई में 921 करोड़, अगस्त में 908 करोड़ और सितंबर में 597 करोड़ रुपये का निवेश हुआ.

ये भी पढ़ें- ITR की डेडलाइन की डेडलाइन 31 दिसंबर तक बढ़ी, नोटिफिकेशन जारी

पिछले साल के मुकाबले इस साल हुआ 14 गुना निवेश
सितंबर 2020 के आखिर तक गोल्‍ड ईटीएफ की टोटल एसेट्स अंडर मैनेजमेंट 13950 करोड़ रुपये हो गई हैं, जो सितंबर 2019 के अंत तक 5,613 करोड़ रुपये की थीं. पेपर गोल्ड में निवेश करने का सबसे अच्छा तरीका गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स खरीदना है. ईटीएफ में निवेश करने पर बिक्री की लागत शामिल नहीं होती. इसलिए इसे काफी कॉस्ट इफेक्टिव माना जाता है. ईटीएफ में निवेश करने के लिए लोगों को ऑनलाइन स्टॉकब्रोकर और डीमैट खाते से ट्रेडिंग अकाउंट की जरूरत होती है. अकाउंट बनने के बाद गोल्ड ईटीएफ में निवेश के लिए प्रोडक्‍ट का चुनाव करने के बाद ब्रोकर के ट्रेडिंग पोर्टल से ऑर्डर करना होता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज