Home /News /business /

Wedding Expenses: शादी के भारी खर्च से परेशान हैं? लागत कम करने के लिए करें ये उपाय

Wedding Expenses: शादी के भारी खर्च से परेशान हैं? लागत कम करने के लिए करें ये उपाय

शादी के सफल आयोजन के लिए आपके पास एक मजबूत बजट होना चाहिए और खर्चों को सीमा के भीतर रखना चाहिए.

शादी के सफल आयोजन के लिए आपके पास एक मजबूत बजट होना चाहिए और खर्चों को सीमा के भीतर रखना चाहिए.

शादी के सफल आयोजन के लिए आपके पास एक मजबूत बजट होना चाहिए और खर्चों को सीमा के भीतर रखना चाहिए. यह अहम है कि आप अपनी शादी की हर मद के लिए अनुमानित खर्चों को बांट कर अपना पैसा होशियारी से खर्च करें.

    Best Wedding Planning: लगभग दो साल की खामोशी के बाद इस बार फिर से सड़कें बैंड-बाजा और बारातियों से गुलजार हैं. मंडप सजे हुए हैं, शहनाईयां बज रही हैं और सजे-धजे लोग बैंड-बाजे के आगे मस्त होकर डांस कर रहे हैं. जेब से करारे नोटों की गड्डियां निकालकर हवा में उछाल रहे हैं. मैले-कुचेले कपड़े पहने बच्चे उन नोटों को उठाने में आपस में लड़-झगड़ रहे हैं.

    शादी में जाना और वहां दावत उड़ाना किसे अच्छा नहीं लगता. लेकिन इस पूरे इंतजाम के पीछे किसी आदमी की जीवन भर की कमाई चली जाती है, बहुत से लोग कर्ज में दब जाते हैं. खासकर लड़की की शादी के मामले में. हालांकि आजकल लड़का हो या लड़की दोनों की शादी में खर्चा लगभग बराबर ही बैठता है.

    लेकिन कोरोना महामारी ने लोगों को शादी के बजट में भी कटौती करने पर मजबूर कर दिया है. पहले जहां शादियों में 500 या 1000 से ज्यादा लोगों की भीड़ जुटती थी, कोरोनाकाल में वह सिमट कर 50 से भी कम हो गई. बहुत सी साधारण तरीके से ब्याह-शादी संपन्न हुए. सबसे अच्छी बात ये है कि लोगों को शादी-ब्याह का यह साधारण तरीका रास भी आ रहा है.

    शादी के खर्च में 40 फीसदी की कमी
    वेडिंग प्लानर बताते हैं कि माता-पिता अपने बच्चों की शादी के लिए पहले की तुलना में अब कम बजट में योजना बना रहे हैं. शादी के कुल खर्च में 40 फीसदी की कमी आई है. शादी के बजट पर बड़ी कैंची चली है. मेहमानों की लिस्ट कम हुई है. हाईप्रोफाइल शादियों की रौनक भी कम हुई है.

    Investment Tips: 1,000 रुपये के निवेश से भी बना सकते हैं बड़ी पूंजी, जानें कहां करें इन्वेस्ट

    जानकार इसे एक अच्छा संकेत मान कर चल रहे हैं. क्योंकि भारत में घर बनाना और शादी करना, दो ऐसे मौके हैं जहां एक आम आदमी की कमर टूटती ही है. अगर शादी में होने वाले अनावश्यक खर्चों पर कटौती होने लग जाए तो निश्चित ही मध्यम वर्ग पर आर्थिक बोझ कम पड़ेगा.

    अब सवाल आता है कि ब्याह-शादी के ऐसे कौन से खर्चे हैं जिन पर कंट्रोल किया जा सकता है और शादी की रौनक भी कम ना हो. क्वालिटी से समझौता किए बिना, शादियों की लागत को कम करने में आपकी मदद करने के लिए यहां कुछ उपाय दिए गए हैं-

    शादी का बजट तैयार करें (Draft wedding budget)
    शादी के सफल आयोजन के लिए आपके पास एक मजबूत बजट होना चाहिए और खर्चों को सीमा के भीतर रखना चाहिए. यह अहम है कि आप अपनी शादी की हर मद के लिए अनुमानित खर्चों को बांट कर अपना पैसा होशियारी से खर्च करें.

    बेटी की शादी करनी हो या फिर बनाना है रिटायरमेंट प्लान, SIP Formula में है हर समाधान

    शादी की लागत को दो मदों में बांटें-अनिवार्य और सहायक. अनिवार्य लागतों में आयोजन स्थल, सजावट, भोजन और पेय पदार्थ, फोटोग्राफी और शामिल हैं. सहायक लागतों में संगीत, मनोरंजन, बैंड-बाजा, बारात शामिल हैं, जो पूरी तरह से अनिवार्य पहलुओं पर निर्भर करेगा और इनमें बदलाव किया जा सकता है.

    आयोजन स्थल का चुनाव (book your venue)
    जितनी जल्दी आप शादी के आयोजन स्थल को बुक कर दें. कोशिश करें कि यह आपके निवास से बहुत ज्यादा दूरी पर नहीं होना चाहिए. अपनी आवश्यकता को पहचानें. तय करें कि आप किसी होटल, हॉल या खुले मैदान में शादी समारोह की मेजबानी करना पसंद करेंगे या नहीं. आपको अपनी खोज उसी के अनुसार शुरू करनी चाहिए और कम से कम तीन से चार महीने पहले स्थल बुक कर लेना चाहिए. एक ऐसा स्थान बुक करें जिसमें सभी विवाह कार्यक्रमों की मेजबानी के लिए पर्याप्त विकल्प हों और देखें कि आपको मेहमानों को कार्यक्रम स्थल से बाहर नहीं ले जाना है. यह मेहमानों की अतिरिक्त परिवहन लागत को बचाएगा,

    वेडिंग प्लानर कहते हैं कि एक ऐसा स्थान जहां आपको खानपान और सजावट की इन-हाउस सेवाएं लेने की आवश्यकता होती है, वह महंगा होगा. आप एक खुले मैदान की बुकिंग पर विचार कर सकते हैं, क्योंकि आपको उचित कीमत पर अपनी पसंद के विक्रेताओं को काम पर रखने की स्वतंत्रता होगी.

    भारतीय या स्थानीय व्यंजन चुनें
    आप मेहमानों के खाने-पीने की चीजों पर काफी बचत कर सकते हैं. देखें कि क्या आपका परिवार और मेहमान भारतीय व्यंजन पसंद करते हैं या विशेष रूप से क्षेत्रीय व्यंजन पसंद करते हैं. औसतन अंतरराष्ट्रीय व्यंजनों का शुल्क प्रति प्लेट 2,200 रुपये है, जबकि भारतीय व्यंजनों की कीमत 1,800 रुपये प्रति प्लेट से शुरू होती है.

    Investment Tips: करोड़पति बनने के अचूक 4 मंत्र, इन्हें अपनाने से बन सकते हैं अमीर

    स्थानीय सज्जाकार
    पारंपरिक और स्थानीय सज्जाकारों के बीच बहुत बड़ा अंतर है. कोई भी आसानी से स्थानीय विक्रेताओं को चुन सकता है क्योंकि इससे लागत में लगभग 50 प्रतिशत की कटौती होती है. आप लागत को कम करने के लिए ताजे फूलों के बजाय कृत्रिम फूलों और रंगीन कपड़ों का उपयोग कर सकते हैं.

    शादी के परिधान
    शादी के कपड़े महंगे होते हैं और ज्यादातर सिर्फ एक बार ही पहने जाते हैं. वेडिंग आउटफिट मार्केट में सभी के लिए कुछ न कुछ है, इसलिए बेहतर है कि पहले अपना बजट जानें और उसके अनुसार कपड़ों का चयन करें. खर्च और परिश्रम, दोनों में कटौती करने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप कपड़े किराए पर लें या लोकल डिजाइनरों की सेवा लें.

    निमंत्रण कार्ड और फोटोग्राफी (wedding invitation)
    COVID-19 महामारी ने सब कुछ डिजिटल कर दिया है. आप एक क्रिएटिव वीडियो के साथ व्हाट्सऐप या ई-मेल के माध्यम से शादी का निमंत्रण भेज सकते हैं. इसके अलावा, आप मेहमानों तक पहुंचने सभी कार्यक्रम विवरणों के साथ एक शादी की वेबसाइट स्थापित कर सकते हैं. यह एक किफायती तरीका है.

    फोटोग्राफर और वीडियोग्राफर शादी में सबसे महत्वपूर्ण लोग होते हैं. जैसे, वे शादी के जोड़े और परिवार की यादों को संजोते हैं. एक नवोदित फोटोग्राफर को काम पर रखने पर भी विचार कर सकते हैं.

    Tags: Personal finance, Wedding Ceremony

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर