Home /News /business /

Personal Finance: पहली बार लेने जा रहे पर्सनल लोन तो इन बातों का रखें ख्याल, नहीं तो हो सकता है बड़ा नुकसान

Personal Finance: पहली बार लेने जा रहे पर्सनल लोन तो इन बातों का रखें ख्याल, नहीं तो हो सकता है बड़ा नुकसान

पहली बार पर्सनल लोन ले रहे हैं तो विभिन्न बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों के ब्याज दरों की तुलना जरूर करें.

पहली बार पर्सनल लोन ले रहे हैं तो विभिन्न बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों के ब्याज दरों की तुलना जरूर करें.

Personal Finance First Time Personal Loan : पर्सनल लोन लेना आसान होता है क्योंकि इसमें गोल्ड और होम लोन की तरह कोलेटेरल जमा नहीं करना पड़ता है. पर्सनल लोन उतनी ही रकम का लें, जिसका आप आसानी से भुगतान कर सकें.

नई दिल्ली. पर्सनल लोन (Personal Loan) की ब्याज दरों (Interest Rates) में हाल ही में कुछ बैंकों (Banks) और वित्तीय संस्थानों (Financial Institutions) ने बदलाव किया है. पर्सनल लोन लेना आसान होता है क्योंकि इसमें गोल्ड (Gold) और होम लोन (Home Loan) की तरह कोई कोलेटेरल या सिक्योरिटी जमा नहीं करनी पड़ती है. अन्य लोन की तुलना में इसका इस्तेमाल किसी भी उद्देश्य के लिए कर सकते हैं. इसकी जरूरत घर के रेनोवेशन के लिए पड़ सकती है या फिर अचानक इलाज खर्च के लिए.

वित्तीय संकट में उस समय यह बेहतर विकल्प बन जाता है, जब आपके पास न तो कोलेटेरल और न ही गिरवी रखने के लिए कोई वस्तु. बैंक और अन्य उधारदाता हमेशा पर्सनल लोन देने में दिलचस्पी रखते हैं. उधार चुकाने की क्षमता के आधार पर बैंक प्री-अप्रूव्ड लोन भी देते हैं, जो आकर्षक नजर आता है. हालांकि, केवल इसी आधार पर ज्यादा पर्सनल लोन न लें. उतना ही कर्ज लें, जितने का भुगतान आप आसानी से कर सकें.

ये भी पढ़ें- चीन को दो साल से जारी तनाव के बीच ढील देने की तैयारी में भारत, इस नियम में बदलाव कर सकती है सरकार

ब्याज दर और अन्य शुल्क की तुलना करें
अगर आप पहली बार पर्सनल लोन ले रहे हैं तो उससे पहले विभिन्न बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों के ब्याज दरों की तुलना जरूर करें. लोन अवधि, प्रोसेसिंग शुल्क, प्री-पेमेंट शुल्क, प्री-क्लोजर शुल्क आदि की भी तुलना जरूर कर लें. उस बैंक या वित्तीय संस्थान से पर्सलन लोन लें, जो बिना किसी जुर्माना के ईएमआई (EMI) के पुनर्भुगतान (Repayment) और लोन प्री-क्लोजर की आजादी देता हो.

ये भी पढ़ें- Budget 2022 : आम उपभोक्ताओं को झटका देगी सरकार! महंगे हो सकते हैं स्मार्टफोन समेत ये आइटम्स, जानें पूरी डिटेल्स

न्यूनतम ब्याज दर चुनें
अन्य लोन के मुकाबले पर्सनल लोन की दर ज्यादा होती है क्योंकि इस पर जोखिम (Risk) ज्यादा रहता है. वर्तमान में पर्सनल लोन की दर 9 फीसदी से 24 फीसदी है. ब्याज दर जितनी ज्यादा होगी, आपको उतनी ही अधिक ईएमआई चुकानी होगा. इसलिए जांच-पड़ताल के बाद उसी बैंक या वित्तीय संस्थान से पर्सनल लोन लेना चाहिए, जिसकी ब्याज दर सबसे कम हो.

भुगतान अवधि का रखें ध्यान
ब्याज दर और अन्य शुल्क के अलावा भुगतान अवधि (Payment Period) का भी ध्यान रखना चाहिए. अगर आप कर्ज भुगतान की अवधि लंबी रखते हैं तो इस स्थिति में ईएमआई भले ही कम होगी, लेकिन ब्याज ज्यादा होगा. इसके उलट, अगर भुगतान अवधि कम रखते हैं तो ईएमआई ज्यादा होगी, लेकिन ब्याज कम होगा.

पर्सनल लोन लेने की कुछ शर्तें
आमतौर पर 21 से 65 साल के लोग पर्सनल लोन ले सकते हैं. इसके लिए न्यूनतम मासिक आय 15,000 से 30,000 रुपये के बीच होनी चाहिए. उधारकर्ता का न्यूनतम काम का अनुभव मौजूदा नौकरी में एक साल या कुल मिलाकर दो साल होना चाहिए. क्रेडिट स्कोर अच्छा होने पर सस्ता और आसानी से कर्ज मिल जाएगा. नौकरीपेशा और सेल्फ इंप्लायी (Self Employed) करने वाले लोगों के लिए ब्याज दर अलग होती है.

Tags: Auto and personal loan, Business news in hindi, Loan, Personal finance

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर