अपना शहर चुनें

States

क्या पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से मिलेगी राहत? RBI गर्वनर शक्तिकांत दास ने दिया ये सुझाव

RBI Shaktianta Das
RBI Shaktianta Das

Petrol and diesel price hike: बढ़ती कीमतों पर भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) के गर्वनर शक्तिकांत दास (RBI Governor Shaktikanta Das) ने अपना सुझाव दिया. शक्तिकांत दास ने देश में पेट्रोल और डीजल पर लगने वाली इन-डायरेक्ट टैक्स (indirect taxes) को कम करने का सुझाव दिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 22, 2021, 6:43 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों (Petrol Diesel Price Hike)के चलते देशभर के लोगों में आक्रोश है. पिछले एक सप्ताह से भारत में ईंधन की कीमतों में तेजी देखी गई है. कई राज्यों में तो पेट्रोल 100 रुपये प्रति लीटर तक बिक रहा है. पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों ने आम जन को परेशान कर दिया है. बढ़ती कीमतों पर विपक्ष लगातार केन्द्र को टारगेट कर रहा है. तेल के दाम रिकॉर्ड स्तरों पर पहुंचने के बाद केंद्र सरकार एक्साइज ड्यूटी घटाने को लेकर दबाव में है. अब बढ़ती कीमतों पर भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India)के गर्वनर शक्तिकांत दास (RBI Governor Shaktikanta Das)ने अपना सुझाव दिया. शक्तिकांत दास ने देश में पेट्रोल और डीजल पर लगने वाली इन-डायरेक्ट टैक्स(indirect taxes)को कम करने का सुझाव दिया.

जानिए क्या कहा RBI गर्वनर ने?
सोमवार को एक MPC minutes में गर्वनर शक्तिकांत दास ने सुझाव देते हुए कहा कि दिसंबर महीने में कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स (फूड और फ्यूल छोड़कर) 5.5 फीसदी रहा. कच्चे तेल की कीमत में लगातार तेजी देखी गई है जिसके कारण पेट्रोल-डीजल के दाम लगातार बढ़ रहे हैं. कीमत में तेजी के कारण महंगाई दर पर असर हो रहा है. उन्होंने कहा कि कीमत में बढ़ोतरी के चलते ट्रांसपोर्टेशन महंगा हो रहा है जिसके कारण हर सेक्टर तक इसकी आंच पहुंच रही है. बता दें कि 20 फरवरी को पेट्रोल की कीमत में रिकॉर्ड 39 पैसे प्रति लीटर और डीजल में 37 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी की गई थी.बता दें कि वर्तमान में पेट्रोल की रिटेल कीमत में 60 प्रतिशत हिस्सा टैक्स का होता है, जबकि डीजल में 54 फीसदी हिस्सा टैक्स का होता है. इसमें केंद्र द्वारा वसूले जाने वाली एक्साइज ड्यूटी और राज्य द्वारा वसूले जाने वाला VAT शामिल है.

ये भी पढ़ें- Good News: इन राज्यों ने दी बड़ी राहत! 5रुपए/लीटर से ज्यादा सस्ता हुआ पेट्रोल, जानें आपका शहर है या नहीं?
इन राज्यों ने कम किया पेट्रोल-डीजल पर टैक्स


पश्चिम बंगाल, राजस्थान, असम और मेघालय में पेट्रोल-डीजल के रेट कम हुए हैं. सबसे पहले राजस्थान ने 29 जनवरी को पेट्रोल-डीजल पर लगने वाले VAT 38 प्रतिशत से घटाकर 36 प्रतिशत तक कर दिया था. पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर लगने वाले VAT में एक रुपये प्रति लीटर की कटौती करने का ऐलान किया है. बता दें कि यहां अप्रैल में विधानसभा चुनाव होने हैं. 12 फरवरी को असम की राज्य सरकार ने भी पिछले साल कोरोना संकट के दौरान लगाए जाने वाले 5 रुपये एडिश्नल टैक्स को हटा लिया. असम में भी चुनाव होने वाले हैं. वहीं, अगर पूर्वोत्तर राज्य मेघालय की बात की जाय तो यहां राज्य सरकार ने ग्राहकों को सबसे बड़ी देते हुए पेट्रोल पर 7.40 और डीजल पर 7.10 रुपये घटाने का फैसला किया है. इसमें पहले 2 रुपये प्रति लीटर की कटौती की गई, इसके बाद पेट्रोल पर वैट भी 31.62% से घटाकर 20% और डीजल पर 22.95% से घटाकर 12% कर दिया गया है. बता दें कि कोविड-19 महामारी (Coronavirus Pandemic) के मद्देनजर पिछले साल यह अतिरिक्त टैक्स लगाया गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज