1 जून से इन राज्यों में महंगा हो जाएगा पेट्रोल और डीज़ल! जानिए क्यों?

1 जून से इन राज्यों में महंगा हो जाएगा पेट्रोल और डीज़ल! जानिए क्यों?
Petrol-Diesel की कीमत

1 जून से मिजोरम, जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) और हिमाचल सरकार (Himachal) भी पेट्रोल पर वैट लगा रही है, जिसके बाद यहां रहने वाले लोगों को भी पेट्रोल-डीजल (Petrol-Diesel) खरीदने के लिए ज्यादा रुपए खर्च करने होंगे.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
जम्मू. जम्मू-कश्मीर में पेट्रोल पर टैक्स (Petrol Price Hike) दो रुपये प्रति लीटर बढ़ा दिया है. वहीं डीजल पर कर में एक रुपये लीटर (Petrol Price Today) की वृद्धि की गई है. न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, टैक्स की नई दरें एक जून से लागू होंगी.  जम्मू-कश्मीर के अलावा पंजाब, हरियाणा और दिल्ली ने पिछले सप्ताह इसी तरह का कदम उठाया था. हिमाचल प्रदेश ने भी एक जून से डीजल और पेट्रोल पर दरों में बढ़ोतरी की घोषणा की है.

जम्मू में मौजूदा पेट्रोल 70.04 पैसे और डीजल 62.08 पैसे बिक रहा है. बता दें नए रेट्स लागू होने के बाद वाहन चालकों को पेट्रोल और डीजल के लिए अपनी जेब थोड़ी ढीली करनी पड़ेगी.

लाइव मिंट की खबर के मुताबिक, अगले महीने से सरकारी ऑयल मार्केटिंग कंपनियां (Oil Marketing Companies) पेट्रोल-डीजल (Petrol Diesel Price) का भाव प्रतिदिन रिवाइज करने की तैयारी में हैं. मीडिया रिपोर्ट्स में आधिकारिक सूत्रों के ​हवाले से कहा गया है कि तेल मार्केटिंग करने वाली सरकारी कंपनियां खुदरा ईंधन को लेकर पिछले सप्ताह एक बैठक की थीं.



ये भी पढ़ें-अब लॉकडाउन में 5 रुपये प्रति लीटर तक महंगा हो सकता है पेट्रोल-डीजल,जानिए क्यों



इस बैठक में मौजूदा हालात का जायजा लेते हुए लॉकडाउन के बाद के लिए रोडमैप तैयार किया गया. इसमें लॉकडाउन के बाद पेट्रोल-डीजल के भाव को पहले की तरह प्रतिदिन रिवाइज करने पर भी चर्चा हुई है. IOC की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक, दिल्ली में शुक्रवार को एक लीटर पेट्रोल के दाम 71.26 रुपये है. वहीं, डीज़ल की कीमतें 69.39 रुपये प्रति लीटर है.

तेल कंपनियों के लिए पेट्रोल-डीजल की खरीद मूल्य और बिक्री मूल्य का अंतर करीब 4 से 5 रुपये प्रति लीटर तक पहुंच चुका है. ऐसे में इस बीच अगर वैश्विक बाजार में कच्चे तेल का भाव​ स्थिर रहता है तो इन तेल कंपनियों को इस गैप को खत्म करन के लिए करीब दो सप्ताह तक पेट्रोल-डीजल के भाव में प्रति दिन 40 से 50 पैसे प्रति लीटर का इजाफा करना होगा.

हालांकि, सरकारी सूत्रों का कहना है कि पेट्रो-डीजल की खुदरा बिक्री को लेकर इन कंपनियों को एक तय लिमिट के बाद कीमतों में इजाफा करने की अनुमति नहीं दी जाएगी.

इसका मतलब यह भी हो सकता है कि पेट्रोल-डीजल के भाव में 20 से 40 पैसे प्रति दिन का इजाफा होगा. संभव है कि यह कटौती इससे भी कम हो. लेकिन, उन्हें इस बात की छूट मिल सकती है कि इस अंतर को पूरा करने तक वो कीमतें धीमे-धीमे बढ़ाती रहें.

ध्यान देने वाली बात यह भी है कि प्रतिदिन तेल के भाव में यह इजाफा वैश्विक बाजार में कच्चे तेल के भाव पर भी निर्भर करेगा.

मौजूदा ट्रेंड के आधार पर देखें तो पिछले महीने की तुलना में क्रूड का भाव अब तक 50 फीसदी तक बढ़ चुका है.

पिछले महीने ब्रेंट क्रूड ऑयल (Brent Crude Oil) का भाव जहां 20 डॉलर प्रति बैरल था, वो अब बढ़कर 30 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच चुका है. लेकिन, लॉकडाउन की वजह से डिमांड पर असर पड़ना संभावित है.
First published: May 30, 2020, 10:30 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading