होम /न्यूज /व्यवसाय /

Petrol Diesel Prices Update: जानें उत्‍पाद शुल्‍क में भारी कटौती के बाद कितने घट जाएंगे पेट्रोल-डीजल के दाम

Petrol Diesel Prices Update: जानें उत्‍पाद शुल्‍क में भारी कटौती के बाद कितने घट जाएंगे पेट्रोल-डीजल के दाम

एक्‍साइज ड्यूटी में रिकॉर्ड कटौती के बाद पेट्रोल और डीजल के खुदरा मूल्‍य में भारी कटौती हो सकती है.

एक्‍साइज ड्यूटी में रिकॉर्ड कटौती के बाद पेट्रोल और डीजल के खुदरा मूल्‍य में भारी कटौती हो सकती है.

Petrol Diesel Prices Update: मोदी सरकार (Modi Government) ने दिवाली की पूर्व संध्‍या पर ऐलान किया है कि 4 नंवबर 2021 की सबुह से पेट्रोल पर 5 रुपये और डीजल पर 10 रुपये उत्‍पाद शुल्‍क कटौती (Excise Duty Cut) लागू हो जाएगी. आइए जानते हैं कि इससे पेट्रोल और डीजल के खुदरा मूल्‍य (Petrol Diesel Price Update) कितने कम होंगे.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने दिवाली (Diwali 2021) की पूर्व संध्‍या पर देश को बड़ी खुशखबरी दी है. दरअसल, मोदी सरकार (Modi Government) ने ऐलान किया है कल यानी 4 नवंबर 2021 से पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क (Excise Duty) में रिकॉर्ड कटौती की जा रही है. वित्‍त मंत्रालय ने बताया कि पेट्रोल पर उत्‍पाद शुल्‍क में 5 रुपये और डीजल पर 10 रुपये की बड़ी राहत दी जा रही है. मंत्रालय ने कहा कि इससे खुदरा ग्राहकों को दोनों ईंधन की आसमान छूती कीमतों से बड़ी राहत मिलेगी.

    4 नंवबर को कितना होगा पेट्रोल-डीजल का मूल्‍य
    दिवाली यानी 4 नवंबर 2021 की सुबह 6 बजे उत्‍पाद शुल्‍क में कटौती लागू होने के बाद दिल्‍ली में पेट्रोल की कीमतें मौजूदा 110.04 रुपये से घटकर 105.04 रुपये प्रति लीटर हो जाएंगी. वहीं, डीजल के दाम मौजूदा 98.42 रुपये से घटकर 88.42 रुपये प्रति लीटर हो जाएंगे. वित्‍त मंत्रालय ने कहा कि केंद्र सरकार ने केंद्रीय उत्‍पाद शुल्‍क में रिकॉर्ड कटौती का अहम फैसला लिया है. अब पेट्रोल और डीजल की कीमतें इसी अनुपात में कम हो जाएंगी. वहीं, ऑयल इंडस्‍ट्री से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, अप्रैल-अक्‍टूबर 2021 के दौरान हुई खपत के आधार पर उत्‍पाद शुल्‍क में कटौती से सरकार को हर महीने 8,700 करोड़ रुपये की राजस्‍व हानि होगी. इस आधार पर सरकार को एक साल में 1 लाख करोड़ रुपये की राजस्‍व हानि पड़ेगा.

    इस कमी के बाद कितना रह जाएगा उत्‍पाद शुल्‍क
    केंद्र सरकार इस समय पेट्रोल पर 32.90 रुपये और डीजल पर 31.80 रुपये प्रति लीटर उत्‍पाद शुल्‍क वसूलती है. इस फैसले के बाद पेट्रोल पर उत्‍पाद शुल्‍क घटकर 27.90 रुपये और डीजल पर 21.80 रुपये रह जाएगा. साथ ही केंद्र ने राज्य सरकारों से भी पेट्रोल-डीजल पर वैट घटाने की अपील की है ताकि आम लोगों को महंगाई से राहत मिल सके.

    ये भी पढ़ें- टैक्‍सपेयर्स की मनी दिवाली, CBDT ने 91.30 लाख टैक्‍सपेयर्स को किया 1.12 लाख करोड़ रुपये का टैक्‍स रिफंड, चेक करें डिटेल्‍स

    किसानों-आम उपभोक्‍ताओं को बड़ी राहत की उम्‍मीद
    मोदी सरकार के मुताबिक, डीजल पर उत्‍पाद शुल्‍क घटने से किसानों को सबसे ज्यादा फायदा होगा. दरअसल, किसान रबी फसल की बुआई की तैयारी शरू करने वाले हैं. वहीं, डीजल के दाम घटने से तमाम सामनों की ढुलाई लागत घटेगी और आम उपभोक्‍ता को भी कुछ राहत मिलने की उम्‍मीद है. केंद्र सरकार ने माना है कि पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने से महंगाई बढ़ी है.

    ये भी पढ़ें- Muhurat Trading: दिवाली के दिन खास समय पर मिलेगा तगड़ी कमाई का मौका, जानें मोटे फायदे के लिए क्या करें?

    सरकार ने पेट्रोल डीजल पर क्‍यों घटाया उत्‍पाद शुल्‍क
    दुनियाभर में ईंधन आपूर्ति में कमी भी देखी जा रही है. इसके चलते कच्चे तेल के दामों में बढ़ोतरी आई है. मोदी सरकार के मुताबिक, सुनिश्चित किया गया है कि देश में पेट्रोल-डीजल जैसे ईंधन की कोई कमी ना हो और उसकी आपूर्ति बिना रुकावट बनी रहे. केंद्र ने कहा कि अर्थव्यवस्‍था में सुधार देखा जा रहा है और आर्थिक गतिविधियां तेज करने के लिए पेट्रोल व डीजल पर उत्‍पाद शुल्‍क घटाने का फैसला लिया है. इससे खपत को बढ़ाया जा सकेगा और महंगाई पर लगाम लगाई जा सकेगी.

    Tags: Diesel price, Excise duty, Finance ministry, Petrol diesel price, Petrol diesel prices, Petrol price

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर