• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • बड़ा झटका: दो हफ्ते में 8 रुपये तक बढ़ जाएंगी पेट्रोल-डीजल की कीमतें!

बड़ा झटका: दो हफ्ते में 8 रुपये तक बढ़ जाएंगी पेट्रोल-डीजल की कीमतें!

बड़ा झटका! पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से अभी नहीं मिलेगी राहत.

बड़ा झटका! पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से अभी नहीं मिलेगी राहत.

तेल कंपनियों (Oil Companies) ने सरकार की ओर से एक्‍साइज ड्यूटी बढ़ाए जाने के बाद भी पेट्रोल-डीजल की खुदरा कीमतों (Petrol-Diesel Price) में कोई बढ़ोतरी नहीं की थी. अब वे हर दिन कीमतें बढ़ाकर इससे हुए नुकसान की भरपाई करना चाहेंगी.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. पेट्रोल और डीजल की कीमतों (Petrol-Diesel Price) में बढ़ोतरी का सिलसिला जारी है. तेल कंपनियों की ओर से इन दोनों ईंधन के दामों में सोमवार को लगातार 9वें दिन तेजी दर्ज की गई है. दिल्ली में सोमवार को पेट्रोल का भाव बढ़कर 76.26 रुपए प्रति लीटर हो गया, जो रविवार को 75.78 रुपए प्रति लीटर था. वहीं, डीजल का दाम 74.62 रुपए प्रति लीटर पर पहुंच गया. रविवार को यह 74.03 रुपए प्रति लीटर था. अगर आप सोच रहे हैं कि अगले एक-दो दिन में तेल की कीमतों में गिरावट आएगी तो हम आपको बता दें कि फिलहाल अगले दो हफ्ते इसकी कोई उम्‍मीद नहीं हैं.

    83 दिन तेल कंपनियों ने नहीं बढ़ाई थीं कीमतें
    बाजार के जानकारों का मानना है कि पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कम से कम दो हफ्ते तक हर दिन बढ़ोतरी होगी. दरअसल, तेल कंपनियों की योजना है कि पेट्रोल-डीजल की खुदरा कीमतों में 8 रुपये तक की वृद्धि करके लॉकडाउन के दौरान हुए अपने नुकसान की भरपाई कर ली जाए. तेल कंपनियों ने 16 मार्च के बाद कोरोना संकट के दौरान 83 दिन तक पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कोई वृद्धि नहीं की थी. लॉकडाउन के दौरान इनकी कीमतों में हुई बढ़ोतरी राज्‍यों की ओर से बढ़ाए गए वैल्‍यू ऐडेड टैक्‍स (VAT) के कारण दर्ज की गई थी. वहीं, सरकार ने उत्‍पाद शुल्‍क में 3 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि कर दी थी.

    ये भी पढ़ें-Petrol-Diesel Price: दिल्ली में 76.26 रु/लीटर पहुंचा पेट्रोल का भाव, लगातार 9वें दिन बढ़ी कीमतें

    9 दिन में 5 रुपये प्रति लीटर बढ़े पेट्रोल के दाम
    तेल कंपनियों ने 7 जून से पेट्रोल-डीजल की कीमतों में वृद्धि करना शुरू किया. इसके बाद के 9 दिन में अब तक पेट्रोल की कीमतों में 5 रुपये, जबकि डीजल के दाम में 5.23 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी दर्ज की जा चुकी है. हालांकि, उम्‍मीद की जा रही है कि अगले दो हफ्तों में बढ़ोतरी के साथ ही 60 पैसे प्रति लीटर की राहत भी दी जा सकती है. तेल मंत्रालय के के मुताबिक, मई में तेल की कुल खपत 1.465 करोड़ टन रही, जो अप्रैल के मुकाबले 47.4 फीसदी ज्यादा है.

    ये भी पढ़ें- अगर आपके पास दो या ज्‍यादा घर हैं तो इन फॉर्म से दाखिल नहीं कर सकते ITR

    अब नुकसान की भरपाई करेंगी तेल कंपनियां
    बाजार के जानकारों का कहना है कि मार्च में सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर एक्साइड ड्यूटी में 3 रुपये प्रति लीटर का इजाफा कर दिया था. इसके बाद भी तेल कंपनियों ने कीमतों में टैक्स नहीं बढ़ाया. इसीलिए अब वो पेट्रोल पर रोजाना दाम बढ़ा रही हैं. इसके अलावा लॉकडाउन में ढील के बाद अचानक पेट्रोल और डीजल की डिमांड बढ़ी है. रुपये में गिरावट से भी तेल कंपनियों की चिंता बढ़ी है. लॉकडाउन के बीच तेल कंपनियों को नुकसान उठाना पड़ा था. अब वे इसकी भरपाई करना चाहेंगी.

    ये भी पढ़ें-लॉकडाउन खुलने के बाद इस रूट पर चल रही हैं सबसे ज्यादा फ्लाइट्स, हर दिन करीब 802 उड़ानें पहुंचा रही हैं लोगों को घर

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज