देश में पेट्रोल 100 रुपए के पार, जानें पड़ोसी देशों में कैसा है तेल का हाल...?


देश में पेट्रोल 100 रुपए के पार

देश में पेट्रोल 100 रुपए के पार

भारत में पेट्रोल-डीजल की कीमतों ने रिकॉर्ड तोड़ दिया है. दिल्ली में पेट्रोल का भाव जहां 90 रुपए के करीब है. वहीं, राजस्थान के श्रीगंगानगर में पेट्रोल का रेट देश में सबसे अधिक 100.13 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया है, जबकि डीजल के लिए यहां पर आपको 92.13 रुपये प्रति लीटर चुकाने होंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 17, 2021, 12:48 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली: भारत में पेट्रोल-डीजल की कीमतों ने रिकॉर्ड तोड़ दिया है. दिल्ली में पेट्रोल का भाव जहां 90 रुपए के करीब है. वहीं, राजस्थान के श्रीगंगानगर में पेट्रोल का रेट देश में सबसे अधिक 100.13 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया है, जबकि डीजल के लिए यहां पर आपको 92.13 रुपये प्रति लीटर चुकाने होंगे. वहीं, हमारे पड़ोसी देशों में आधे रेट्स में पेट्रोल बिक रहा है. पाकिस्तान में पेट्रोल की बात करें तो यहां कीमत करीब 51 रुपए के आसपास है. वहीं, चीन में एक लीटर पेट्रोल का भाव 74.74 रुपए है.

आइए आपको बताते हैं भारत के 5 पड़ोंसी देशों में पेट्रोल का क्या भाव चल रहा है. इसके अलावा दुनिया के किन देशों में सबसे सस्ता पेट्रोल मिल रहा है.

यह भी पढ़ें: SBI दे रहा खास सुविधा, बिना डेबिट क्रेडिट कार्ड के Titan की घड़ी से करें सुरक्षित पेमेंट

भारत के 5 पड़ोसी देशों में पेट्रोल की कीमत
>> पाकिस्तान - 51.14 रुपए

>> श्रीलंका - 60.26 रुपए

>> बांग्लादेश - 76.41 रुपए



>> नेपाल - 68.98 रुपए

>> भूटान - 49.56 रुपए

दुनिया के इन 5 देशों में मिल रहा सबसे सस्ता पेट्रोल-

>> वेनेजुएला - 1.45 रुपए

>> ईरान - 4.50 रुपए

>> अंगोला - 17.82 रुपए

>> अल्जीरिया - 25.15 रुपए

>> कुबेत - 25.26 रुपए

अब तक किना महंगा हुआ ईंधन?

फरवरी में अब तक पेट्रोल-डीजल के रेट में 11 बार बढ़ोतरी हुई है. इस दौरान दिल्ली में पेट्रोल 3.24 रुपए और डीजल 3.47 रुपए महंगा हुआ है. इससे पहले जनवरी में रेट 10 बार बढ़े थे. इस दौरान पेट्रोल की कीमत में 2.59 रुपए और डीजल में 2.61 रुपए की बढ़ोतरी हुई थी. आपको बता दें 1 जनवरी को पेट्रोल का भाव 83.71 रुपये था, आज 89.54 रुपये प्रति लीटर है.

3 डिजिट पहुंचने पर हो सकती है मुसीबत

आपको बता दें पेट्रोल की कीमतें अगर 3 डिजिट में पहुंचती हैं तो यह सभी के लिए चिंता का विषय हो सकता है क्योंकि अभी पेट्रोल पंपों की ज्‍यादातर डिस्‍पेंसिंग यूनिटें दो अंकों के बाद दो दशमल अंकों तक के लिए कैलिब्रेट हैं. यानी ये 99.99 रुपये तक का मूल्‍य दिखा सकती हैं. इसका मतलब हुआ कि अगर पेट्रोल की कीमत 100.00 रुपये का आंकड़ा छूती है तो डिस्‍पेंसिंग यूनिटें 0.00 रुपये दिखाना शुरू कर देंगी.

यह भी पढ़ें: गुजरात के इन खूबसूरत लोकेशन पर घूमने का शानदार मौका, 5 हजार से भी कम आएगा खर्च, जानें पैकेज की डिटेल्स...

क्यों बढ़ रहे पेट्रोल-डीज़ल के दाम

भारत में पेट्रोल-डीज़ल का खुदरा भाव वैश्विक बाजार में कच्चे तेल के भाव से लिंक है. इसका मतलब है कि अगर वैश्विक बाजार में कच्चे तेल का भाव कम होता है तो भारत में पेट्रोल-डीज़ल सस्ता होगा. अगर कच्चे तेल का भाव बढ़ता है तो पेट्रोल-डीज़ल के लिए ज्यादा खर्च करना होगा, लेकिन हर बार ऐसा होता नहीं है. जब वैश्विक बाजार में कच्चे तेल का भाव चढ़ता है तो ग्राहकों पर इसका बोझ डाला जाता है, ले​किन जब कच्चे तेल का भाव कम होता है, उस वक्त सरकार अपनी रेवेन्यू बढ़ाने के लिए ग्राहकों पर टैक्स का बोझ डाल देती है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज