NPS में निवेश करना हुआ आसान, e-KYC की मिली मंजूरी

बुजुर्गों को मिलेगी ज्यादा पेशन

बुजुर्गों को मिलेगी ज्यादा पेशन

नेशनल पेंशन सिस्‍टम (National Pension System) और अटल पेंशन योजना (Atal Pension Yojana) एफपीआरडीए की दो प्रमुख स्‍कीमें हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 3, 2021, 3:42 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी (Pension Fund Regulatory and Development Authority) को राजस्व विभाग से नेशनल पेंशन स्‍कीम (National Pension System) और अटल पेंशन योजना (Atal Pension Yojana) के सब्‍सक्राइबर्स के लिए ई-केवाईसी सर्विसेज की मंजूरी मिल गई है. ई-केवाईसी से अकाउंट खोलने की प्रक्रिया और सरल हो जाएगी.

राजस्व विभाग से ई-केवाईसी की मंजूरी

पेंशन फंड रेगुलेटर पीएफआरडीए ने एक बयान में कहा कि ऑनलाइन ई-केवाईसी से अकाउंट खोलने की प्रक्रिया और सरल होगी क्योंकि यह सब्‍सक्राइबर्स के लिए डिजिटल तरीके से एनपीएस अपनाने में मददगार होगा. रेगुलेटर ने बताया कि उसे राजस्व विभाग से ई-केवाईसी की मंजूरी मिल गई है.

नेशनल पेंशन सिस्‍टम और अटल पेंशन योजना एफपीआरडीए की दो प्रमुख स्‍कीमें हैं. एनपीएस ऑर्गेनाइज्ड सेक्टर के लिए पेंशन स्कीम है जबकि अटल पेंशन योजना मुख्य रूप से अनऑर्गेनाइज्ड सेक्टर के कर्मचारियों के लिए है.
ये भी पढ़ें- दुनिया के दूसरे सबसे अमीर आदमी छोड़ेंगे अपना पद, एंडी जेसी लेंगे उनकी जगह

क्या है एनपीएस

गौरतलब है कि नेशनल पेंशन सिस्‍टम या एनपीएस (NPS) एक सरकारी रिटायरमेंट सेविंग स्कीम है, जिसे केंद्र सरकार ने साल 2004 में लॉन्च किया था. साल 2009 के बाद से इस स्कीम को प्राइवेट सेक्टर में काम करने वाले लोगों के लिए भी खोल दिया गया.



ये भी पढ़ें- फ्रैंकलिन टेंपलटन के यूनिटहोल्‍डर्स के लिए अच्‍छी खबर, सुप्रीम कोर्ट ने 20 दिन में पैसे वापस करने का दिया आदेश, जानें पूरा मामला

क्या है अटल पेंशन योजना

बता दें कि अटल पेंशन योजना लोगों के बीच बहुत कम समय में तेजी से पसंद की जाने लगी है. लॉन्च होने के 5 साल के भीतर इसके सब्सक्राइबर्स की संख्या करीब 2.4 करोड़ हो चुकी है. ये पेंशन योजना भारत के नागरिकों के लिए गारंटीड पेंशन योजना है. इसकी शुरुआत 9 मई, 2015 को की गई थी. इसमें सबसे ज्यादा 52.55 फीसदी सब्सक्राइबर्स 21 से 30 साल के बीच के हैं. इस योजना में आप जितनी कम उम्र में जुड़ेंगे, आपको फायदा उतना ही ज्यादा होगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज